कर्नाटक के CM येडियुरप्पा बोले- बाढ़ राहत के लिए जो देगा 10 करोड़, उसके नाम पर रखा जाएगा गांव का नाम

येडियुरप्पा (B S Yediyurappa) ने इससे पहले भी विवादित बयान दिया था. उन्होंने अधिकारियों के साथ एक बैठक में कहा था कि उनके पास नोट छापने की कोई मशीन नहीं है.

News18Hindi
Updated: August 16, 2019, 2:59 PM IST
कर्नाटक के CM येडियुरप्पा बोले- बाढ़ राहत के लिए जो देगा 10 करोड़, उसके नाम पर रखा जाएगा गांव का नाम
बीएस येडियुरप्पा (फ़ाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: August 16, 2019, 2:59 PM IST
कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा (B S Yediyurappa) ने बाढ़ राहत के नाम पर एक विवादित बयान दिया है. उन्होंने कहा कि जो भी राहत कोष में 10 करोड़ की मदद करेगा, उसके नाम पर उसके गांव का नाम रख दिया जाएगा. अंग्रेज़ी अखबार इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक येडियुरप्पा ने बुधवार को ये प्रस्ताव उद्योगपतियों और कॉरपोर्टे जगत के लोगों के साथ बैठक में कही.

येडियुरप्पा ने कहा, ''बाढ़ से प्रभावित गांव में जो भी लोग 10 करोड़ रुपये से ज्यादा दान करेंगे उनके नाम पर गांव का नाम रख दिया जाएगा. जिन गांव को इससे फायदा होगा उसके लिए ये माना जाएगा कि उसे दान देने वाले ने गोद ले लिया है.''

जेडीएस ने बताया तुगलकी फरमान
जेडीएस ने येडियुरप्पा के बयान को तुगलकी फरमान करार दिया है. जेडीएस की तरफ से जारी बयान में कहा गया, ''उनके इस तरह के ऑफर से सरकार उस गांव की पहचान को खत्म कर देगी. पहले ही बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में लोगों ने सब कुछ खो दिया है. कर्नाटक को मत बेचिए.'

कर्नाटक में बाढ़ से भारी तबाही


'नोट छापने की मशीन'
येडियुरप्पा ने इससे पहले भी विवादित बयान दिया था. उन्होंने अधिकारियों के साथ एक बैठक में कहा था कि उनके पास नोट छापने की कोई मशीन नहीं है. कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने उनके इस बयान की आलोचना करते हुए कहा था कि सरकार के पास एमएलए को फंड देने के लिए पैसे हैं लेकिन बाढ़ से प्रभावित लोगों के लिए नहीं.
Loading...

बता दें कि कर्नाटक में भारी बारिश के चलते 17 ज़िले बाढ़ से प्रभावित हैं. अब तक बाढ़ के चलते यहां 61 लोगों की मौत हो गई  है.

ये भी पढ़ें: कार हादसे के बाद हिरासत में लिया गया BJP सांसद का बेटा

बाढ़ के चलते 5 जिलों में स्कूल बंद, राहत के लिए बुलाई गई सेना

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 16, 2019, 1:15 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...