लाइव टीवी

लोकसभा चुनावों में बीजेपी की जीत से टूट जाएगी कर्नाटक में जेडीएस-कांग्रेस की सरकार!

News18Hindi
Updated: May 23, 2019, 2:29 PM IST
लोकसभा चुनावों में बीजेपी की जीत से टूट जाएगी कर्नाटक में जेडीएस-कांग्रेस की सरकार!
लोकसभा चुनावों और खासकर कर्नाटक में बीजेपी की भारी सफलता ने राज्य की जेडीएस-कांग्रेस गठबंधन सरकार की मुश्किलें बढ़ा दी हैं.

लोकसभा चुनावों और खासकर कर्नाटक में बीजेपी की भारी सफलता ने राज्य की जेडीएस-कांग्रेस गठबंधन सरकार की मुश्किलें बढ़ा दी हैं.

  • Share this:
लोकसभा चुनावों और खासकर कर्नाटक में बीजेपी की भारी सफलता ने राज्य की जेडीएस-कांग्रेस गठबंधन सरकार की मुश्किलें बढ़ा दी हैं. एग्जिट पोल के बाद कुमारस्वामी सरकार में जो दरारें देखी गईं वो और अधिक बढ़ सकती हैं. पूर्व प्रधानमंत्री देवगौड़ा और उनके पोते निखिल कुमारस्वामी के पीछे चलने से ये सवाल उठने लगे हैं.

गठबंधन पर ही सवाल उठाते हुए सात बार के विधायक और पूर्व मंत्री आर रोशन बेग ने पार्टी पर हमला बोलते हुए कर्नाटक कांग्रेस अध्यक्ष दिनेश गुंडू राव को फ्लॉप शो कहा. इसके साथ ही उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया को घमंडी नेता कहा. कांग्रेस के लोकप्रिय मुस्लिम चेहरे के तौर पर उभरे बेग ने कहा था कि सभी एग्जिट पोल हकीकत के करीब हैं.

 मुसलमानों को बीजेपी भी स्वीकार्य

न्यूज़18 से बातचीत में उन्होंने कहा कि मुसलमानों को कांग्रेस के अलावा दूसरे विकल्पों की तरफ भी देखना चाहिए और वर्तमान परिदृश्य में बीजेपी भी स्वीकार्य है. बेग ने कहा कि मुसलमान कांग्रेस का वोट बैंक नहीं हैं और पार्टी को उन्हें हल्के में नहीं लेना चाहिए. उन्होंने आगे जोड़ा की अगर स्थिति की मांग हो तो उन्हें बीजेपी को समर्थन देने से भी गुरेज नहीं करना चाहिए.



बेग के खुलेआम विद्रोह करने से नाराज़ पार्टी ने उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए एक हफ्ते में जवाब मांगा है. न्यूज़ 18 से बात करते हुए जेडीएस के प्रवक्ता तनवीर अहमद ने कहा, 'अगर नतीजे के दिन आंकड़े हमारे पक्ष में नहीं आते हैं तो कर्नाटक में गठबंधन मुश्किल में होगा.' कांग्रेस नेता ब्रिजेश कलप्पा ने भी कहा कि लोकसभा चुनावों के नतीजों का असर कर्नाटक की गठबंधन सरकार पर पड़ना तय है.

बेग के विद्रोह का भी फायदा बीजेपी को

लोकसभा चुनाव के नतीजों में बीजेपी कर्नाटक में अच्छा प्रदर्शन करती दिख रही है. ऐसे में पार्टी ने अभी से एक साल पुराने एचडी कुमारस्वामी के नेतृत्व वाली सरकार को गिराने की कवायद शुरू कर दी है. बेग के खुलकर विरोध करने का भी सीधा फायदा बीजेपी को ही होता दिख रहा है जिससे उसके पाले में खुशी की लहर है.

उपचुनाव में बीजेपी को दो सीटों की उम्मीद

उपचुनावों में बीजेपी दो और विधानसभा सीटें जीतने की उम्मीद कर रही है, जिनके वोटों की गिनती गुरुवार को लोकसभा चुनावों की गिनती के साथ ही हो रही है. कुंडागोल और चिंचोली विधानसभा सीटों पर नए विधायक चुनने के लिए 19 मई को मतदान हुए थे. कुंडागोल से कांग्रेस विधायक और मंत्री रहे सीएस शिवाली का निधन हो गया था जबकि चिंचोली से कांग्रेस के विधायक रहे डॉक्टर उमेश जाधव पार्टी छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गए थे. अब वो इन लोकसभा चुनावों में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एम मल्लिकार्जुन खड़गे के खिलाफ गुलबर्ग लोकसभा सीट से मैदान में हैं.

अगर बीजेपी दोनों सीटों पर जीत हासिल कर लेती है तो विधानसभा में उसकी संख्या 106 हो जाएगी. दो निर्दलीय उम्मीदवार भी उनका समर्थन कर रहे हैं. 224 सदस्यों वाले विधानसभा में बहुमत के लिए 113 सीटों की ज़रूरत है.

सरकार बचाना मुश्किल

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के किसी भी कीमत पर सरकार बचाने के आदेश के बावजूद राज्य इकाई ये समझ चुकी है कि ऐसा करना बेहद कठिन होगा. एक वरिष्ठ कांग्रेस विधायक ने न्यूज़18 से कहा कि जेडीएस के साथ हाथ मिलाने से उन्हें काफी घाटा पहुंचा है और पुराने मैसूरू क्षेत्र में इससे बीजेपी काफी मज़बूत हुई है जहां पिछले चुनाव तक उसका कुछ खास वजूद नहीं था.

उधर मीडिया से बात करते हुए केपीसीसी अध्यक्ष दिनेश गुंडू राव ने उम्मीद जताई थी कि लोकसभा चुनावों में गठबंधन अच्छा प्रदर्शन करेगा और सरकार पूरी तरह सुरक्षित है.

(अपने WhatsApp पर पाएं लोकसभा चुनाव के लाइव अपडेट्स)

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 23, 2019, 2:29 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर