कर्नाटक में कोरोना के 9579 नए मरीज और 52 मौतें, येदियुरप्पा ने दिए लॉकडाउन के संकेत

नई दिल्ली के एक शवदाह गृह में कोरोना से मरे एक व्यक्ति के अंतिम संस्कार की तैयारी करते उनके परिजन. (Reuters/19 Nov 2020)

नई दिल्ली के एक शवदाह गृह में कोरोना से मरे एक व्यक्ति के अंतिम संस्कार की तैयारी करते उनके परिजन. (Reuters/19 Nov 2020)

Karnataka Coronavirus Update: स्वास्थ्य विभाग ने एक बुलेटिन में कहा कि राज्य में अब तक कुल 10,74,869 कोविड-19 मामलों की पुष्टि हुई है, जिनमें से 12,941 मरीजों की मौत हो चुकी है.

  • Share this:

बेंगलुरु. कर्नाटक में कोविड-19 के 9,579 नए मामले आए और 52 मौतें हुईं. इन नए मामलों से राज्य में संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 10.74 लाख हो गए और मृतकों की संख्या 12,941 हो गई. स्वास्थ्य विभाग ने सोमवार को यह जानकारी दी. राज्य में सामने आए नए मामलों में से, 6,387 अकेले बेंगलुरु शहर से आए हैं. राज्य में दिन भर में 2,767 रोगियों को ठीक होने के बाद अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई.



स्वास्थ्य विभाग ने एक बुलेटिन में कहा कि राज्य में अब तक कुल 10,74,869 कोविड-19 मामलों की पुष्टि हुई है, जिनमें से 12,941 मरीजों की मौत हो चुकी है और 9,85,924 लोग ठीक हो चुके हैं. राज्य में अब 75,985 मरीजों का इलाज चल रहा है, जिनमें से, 75,515 रोगियों की हालत स्थिर है और कोविड अस्पतालों के पृथक वार्डों में हैं, जबकि 470 गहन देखभाल इकाइयों में हैं. कर्नाटक में अब तक कुल 2,28,06,423 नमूनों की जांच की गई है. सोमवार को 1,16,165 जांच की गईं.



Youtube Video


दूसरी ओर, कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने सोमवार को कहा कि अगर जरूरत पड़ती है तो लॉकडाउन लगाया जा सकता है. येदियुरप्पा ने बीदर में संवाददाताओं से कहा, ''लोगों को सोचना होगा, खुद अपनी भलाई की खातिर. वे सावधानी नहीं बरतते हैं तो हमें कठोर उपाय करने होंगे. अगर जरूरत पड़ी तो हम लॉकडाउन लागू करेंगे.'' राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के सवाल पर प्रतिक्रिया देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी राज्य सरकार द्वारा किए गए उपायों को लेकर उनसे चर्चा की थी. उन्होंने कहा, ''मैंने प्रधानमंत्री से कहा कि हमने ऐसे जिलों में रात्रिकालीन कर्फ्यू लागू किया है जहां संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं.''


येदियुरप्पा ने जोर दिया कि लोगों को मास्क अवश्य पहनना चाहिए और सामाजिक दूरी के नियमों का पालन करने के साथ ही सैनिटाइजर का उपयोग करना चाहिए. उन्होंने कहा, ''लोगों को स्वयं भी सावधानी बरतनी चाहिए. अगर वे सहयोग नहीं करते हैं तो हम सख्त उपाय करेंगे. मैं चाहता हूं कि जनता हमारे साथ सहयोग करे.''





इस बीच, स्वास्थ्य मंत्री डॉ. के सुधाकर ने बेंगलुरु में कहा कि सरकार लॉकडाउन लागू करने की इच्छुक नहीं है और लोगों से सहयोग की अपेक्षा रखती है. उन्होंने कहा कि यदि लोग सहयोग करें तो कोरोना वायरस की दूसरी लहर को हराया जा सकता है. उल्लेखनीय है कि तकनीकी परामर्श समिति की ओर से लॉकडाउन की सिफारिश किए जाने की खबरों के बाद इसे लेकर अटकलें तेज हो गई हैं.


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज