अपना शहर चुनें

States

कर्नाटक: महाराष्ट्र-केरल से आने वालों की एंट्री पर रोक, कोविड नेगेटिव रिपोर्ट जरूरी

स्वास्थ्य मंत्री सुधाकर ने कहा राज्य में ब्रिटेन में मिले स्ट्रेन के अलावा कोई भी वैरिएंट नहीं है. (फोटो: ANI/Twitter)
स्वास्थ्य मंत्री सुधाकर ने कहा राज्य में ब्रिटेन में मिले स्ट्रेन के अलावा कोई भी वैरिएंट नहीं है. (फोटो: ANI/Twitter)

Covid-19 in India: महाराष्ट्र और केरल में लगातार मामलों में इजाफा हो रहा है. कोविड-19 (Covid-19) के बिगड़ते हालातों को देखते हुए कर्नाटक सरकार ने दोनों राज्यों के लोगों की बगैर नेगेटिव RT-PCR सर्टिफिकेट के एंट्री बंद कर दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 20, 2021, 7:44 PM IST
  • Share this:
बेंगलुरु. महाराष्ट्र और केरल में लगातार बढ़ रहे मामलों को देखते हुए कर्नाटक (Karnataka) सरकार भी चौकस हो गई है. स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर डीके सुधाकर ने दोनों राज्यों से आने वाले लोगों के लिए RT-PCR टेस्ट अनिवार्य कर दिया है. सरकार ने इसके संबंध में सर्कुलर भी जारी कर दिए हैं. वहीं, उन्होंने जानकारी दी है कि कर्नाटक में दक्षिण अफ्रीकी या ब्राजील के स्ट्रेन (New Virus Strain) का कोई मरीज नहीं मिला है.

शनिवार को स्वास्थ्य मंत्री सुधाकर ने कहा, 'केरल में 4-5 हजार और महाराष्ट्र में 5-6 हजार औसतन मरीज रोज मिल रहे हैं. हम इनके साथ अपनी सीमाएं साझा करते हैं. इसके चलते हमने सर्कुलर जारी कर दिए हैं.' उन्होंने कहा, 'जब तक हम इन राज्यों से आने वाले लोगों के पास नेगेटिव RT-PCR सर्टिफिकेट नहीं देख लेते, तब तक उन्हें कर्नाटक में प्रवेश करने नहीं दिया जाएगा.'

वहीं, उन्होंने बताया है कि राज्य में ब्रिटेन में मिले स्ट्रेन के अलावा कोई भी वैरिएंट नहीं है. उन्होंने कहा, 'हमें अभी तक कोई दक्षिण अफ्रीकी या ब्राजील का कोविड-19 स्ट्रेन नहीं मिला है.' उन्होंने बताया, 'हमें अब तक ब्रिटेन का स्ट्रेन ही मिला है, जो यूके से बेंगलुरू आए हैं.' उन्होंने जानकारी दी है कि हम इसे समाज में फैलने नहीं दे सकते हैं. महाराष्ट्र में मुंबई के हाल बिगड़ते जा रहे हैं. यहां अधिकारियों ने चेतावनी दी है कि अगले 15 दिन शहर के लिए काफी अहम होंगे.



यह भी पढ़ें: मुंबई में कोरोना के 2749 नए केस, 1305 इमारतें सील; पाबंदियों में 71 हजार परिवार
covid19india.org के आंकड़े बताते हैं कि कर्नाटक में अब तक कोरोना वायरस के 9 लाख 47 हजार 246 मामले सामने आ चुके हैं. जिनमें से 12 हजार 287 मरीजों की मौत हो चुकी है. राज्य में फिलहाल एक्टिव मरीजों की संख्या 5 हजार 882 है. अच्छी खबर है कि 9 लाख 29 हजार 58 मरीज स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं.

वेबसाइट के अनुसार, राज्य में 1.8 करोड़ जांचें हो चुकी हैं. देश में अब तक कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 1 करोड़ 9 लाख 77 हजार 367 पर पहुंच गया है. वहीं, बीती 16 जनवरी से वैक्सीन प्रोग्राम शुरू हो गया है. वेबसाइट के अनुसार, 1 करोड़, 7 लाख 15 हजार 204 वैक्सीन डोज दिए जा चुके हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज