क्या भारत में राज्यों के अपने झंडे हो सकते हैं?

अपने राज्य के झंडों का झगड़ा

News18Hindi
Updated: July 20, 2017, 8:19 AM IST
क्या भारत में राज्यों के अपने झंडे हो सकते हैं?
कर्नाटक का नीले और लाल रंग का एक झंडा है जिसे अनाधिकारिक तौर पर इस्तेमाल किया जाता है. (Photo- getty)
News18Hindi
Updated: July 20, 2017, 8:19 AM IST
कर्नाटक सरकार ने अपने राज्य के लिए अलग झंडा बनाने की कवायद शुरू कर दी है. सरकार की इस कवायद पर प्रदेश और देश में एक बहस छिड़ गई है कि क्या प्रदेश या राज्य के अलग झंडा होना चाहिए.
क्या है मामला
कर्नाटक में एस. सिद्धारमैया के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार ने राज्य के लिए अलग झंडे की मांग उठाई है और वह अपनी मांग पर अडिग है. राज्य सरकार ने नए सिरे से झंडा डिजाइन करने और इसके संवैधानिक पहलुओं की पड़ताल के लिए नौ सदस्यों की एक कमेटी बनाई है. केंद्र सरकार ने संविधान का हवाला देकर उनकी मांग ठुकरा दी है.

इस मांग के पीछे तर्क

अलग झंडे की वकालत कर रहे लोगों ने मुख्य रूप से तीन तर्क सामने रखे हैं. पहला, जब जम्मू और कश्मीर में अलग झंडा हो सकता है तो देश के दूसरे राज्य ऐसा क्यों नहीं कर सकते. दूसरा, देश के संविधान में राज्यों के लिए अलग झंडे की मनाही नहीं है. तीसरा, अमेरिका समेत दुनिया के कई देशों में राज्यों के अपने-अपने झंडे हैं और इससे उनकी अखंडता को कोई खतरा नहीं पैदा हुआ है.

कानून क्या कहता है?

भारतीय संविधान में राज्यों के लिए अलग झंडे की मनाही नहीं है लेकिन राज्यों के झंडे राष्ट्रीय ध्वज के सामने कम ऊंचाई पर फहराए जाएंगे.

क्या किसी अन्य राज्य के अपने झंडे हैं?
देश में जम्मू—कश्मीर ऐसा राज्य है जहां अपना झंडा है. नागालैंड ने संविधान की 371 धारा के तहत अपने राज्य का झंडा हासिल करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है.

अलग झंडे के पक्ष और विपक्ष में प्रमुख तर्क
अलग झंडे के आलोचक इसे भारतीय की एकता के लिए नुकसानदायक मांगते हैं.वह 'एक देश, दो वि‍धान, दो प्रधान, दो नि‍शान नहीं चलेंगे.' के नारे पर अपना भरोसा जताते हैं. यह नारा जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने 1952 में दिया था.
अलग झंडे के पक्ष में प्रमुख तर्क यह दिया जा रहा है कि इससे भारतीय संघवाद मजबूत होगा. इसके अलावा कई राज्यों अपने राज्य चिह्न और ऐन्थम रहे हैं.



कर्नाटक के इतिहास के झरोखे में
कर्नाटक के पास अनौपचारिक तौर पर 1960 के दशक से झंडा है. 2012 में भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने इस झंडे को कानूनी मान्यता दे दी थी. लेकिन एक कानूनी लड़ाई में सरकार को अपने कदम वापस खींचने पड़े.

क्या अन्य देशों में ऐसा कोई प्रावधान है?
अमेरिका और जमर्नी के राज्यों के पास अपने झंडे रखने का अधिकार है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर