कर्नाटक: लॉकडाउन में MNREGA को अनुमति, गरीबों को मिलेगा तीन वक्त का मुफ्त भोजन

कर्नाटकर सरकार ने बीते मंगलवार को घोषणा की है कि राज्य में 24 मई तक लॉकडाउन के दौरान 'इंदिरा कैन्टीन' में मुफ्त भोजन मिलेगा. (फाइल फोटो)

कर्नाटकर सरकार ने बीते मंगलवार को घोषणा की है कि राज्य में 24 मई तक लॉकडाउन के दौरान 'इंदिरा कैन्टीन' में मुफ्त भोजन मिलेगा. (फाइल फोटो)

Coronavirus in Karnataka: मुख्य सचिव (राजस्व) एन मंजुनाथ प्रसाद ने कहा 'MNREGA के तहत एक शर्त पर काम किया जा सकेगा कि एक लोकेशन पर 40 से ज्यादा कर्मी काम नहीं करेंगे. इस दौरान कोविड संबंधी व्यवहार का पालन भी किया जाएगा.'

  • Share this:

बेंगलुरु. कर्नाटक में लॉकडाउन (Lockdown) के बीच भी मनरेगा का काम जारी रहेगा. राज्य में तमाम पाबंदियों के बीच कर्मी काम कर सकेंगे. सरकार ने बुधवार को नई छूट का ऐलान किया है. इसके अलावा सरकार ने गरीबों के लिए मुफ्त भोजन की भी व्यवस्था की है. राज्य में बीते शुक्रवार को कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए दो हफ्तों के लॉकडाउन की घोषणा की गई थी.

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, राज्य के मुख्य सचिव (राजस्व) एन मंजुनाथ प्रसाद ने कहा, 'MNREGA के तहत एक शर्त पर काम किया जा सकेगा कि एक लोकेशन पर 40 से ज्यादा कर्मी काम नहीं करेंगे. इस दौरान कोविड संबंधी व्यवहार का पालन भी किया जाएगा.' एक ओर जहां महाराष्ट्र, दिल्ली जैसे प्रभावित राज्यों में हालात सुधरते नजर आ रहे हैं. वहीं, कर्नाटक में कोविड स्थिति लगातार बिगड़ रही है.

कोरोना की बेकाबू रफ्तार, अब कर्नाटक में लगाया गया 10 से 24 मई तक पूर्ण लॉकडाउन

जरूरतमंदों को तीन वक्त का मुफ्त भोजन
कर्नाटक सरकार ने बीते मंगलवार को घोषणा की है कि राज्य में 24 मई तक लॉकडाउन के दौरान 'इंदिरा कैंटीन' में मुफ्त भोजन मिलेगा. जरूरतमंदों को दिन में तीन बार भोजन कराया जाएगा. मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा ने कहा, 'पाबंदियों के साथ आई मुश्किलों को आसान करने के लिए, गरीबों, प्रवासियों और जरूरतमंद कर्मियों को बेंगलुरु और पूरे राज्य में 24 मई तक इंदिरा कैंटीन में मुफ्त तीन बार भोजन कराया जाएगा.'


राज्य में क्या हैं कोविड-19 के हाल



www.covid19india.org के आंकड़े बताते हैं कि राज्य में अब तक 20 लाख 53 हजार 191 मरीज मिल चुके हैं. इनमें से 20 हजार 368 मरीजों की मौत हो चुकी है. हालांकि, देश में एक्टिव केस की संख्या 5 लाख 92 हजार 182 है. यह आंकड़ा देश में सबसे ज्यादा है. अब तक 14 लाख 40 हजार 621 मरीज स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं. बीते बुधवार को राज्य में 39 हजार 998 मरीज मिले हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज