हड़ताल पर जाएगा कर्नाटक परिवहन निगम का स्टाफ, येदियुरप्पा सरकार ने दी चेतावनी

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा. (पीटीआई फाइल फोटो)

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा. (पीटीआई फाइल फोटो)

Karnataka Bus Strike: अधिकारी ने कहा कि कर्मचारियों की नौ मांगे हैं और उनमें से आठ को पूरा कर दिया गया है और इसे लागू कर दिया गया है.

  • Share this:

बेंगलुरु. कर्नाटक पथ परिवहन निगम (KSRTC) के कर्मचारियों के वेतन संबंधी मांगों को लेकर सात अप्रैल से हड़ताल पर जाने की तैयारियों के बीच राज्य सरकार ने मंगलवार को इसके खिलाफ कठोर कार्रवाई करने की चेतावनी दी और उनके साथ किसी भी बातचीत से इनकार किया. एक अधिकारी ने यह जानकारी दी.

सरकार ने कहा कि कोविड-19 के कारण उत्पन्न आर्थिक कठिनाइयों के बीच कर्मचारियों की अधिकतर मांगों को पूरा कर दिया गया है. सरकार ने यह स्पष्ट किया कि छठे वेतन आयोग की सिफारिशों को लागू करने की मांग को पूरा नहीं किया जा सकता है.

अधिकारियों ने बताया कि सरकार ने हड़ताल की स्थिति में लोगों को किसी प्रकार की कठिनाई नहीं हो, इसके लिए निजी परिचालकों की सेवा लेने जैसे वैकल्पिक प्रबंध किये गये हैं. मुख्य सचिव पी रवि कुमार ने बताया, ‘‘परिवहन कर्मियों ने कल से हड़ताल पर जाने का आह्वान किया है, मुख्यमंत्री ने इस संबंध में चर्चा की. कोविड-19 की स्थिति को ध्यान में रखते हुए हम लोग कर्मचारियों से हड़ताल पर नहीं जाने का आग्रह कर रहे हैं.’’ उन्होंने कहा कि कर्मचारियों की नौ मांगे हैं और उनमें से आठ को पूरा कर दिया गया है और इसे लागू कर दिया गया है.

Youtube Video

मुख्यमंत्री के साथ बैठक के बाद संवाददाताओं को संबोधित करते हुये मुख्य सचिव ने कहा कि छठे वेतन आयोग की रिपोर्ट को लागू करने की उनकी मांग को स्वीकार नहीं किया जा सकता है. यह परिवहन कर्मियों को नहीं दिया जा सकता है. गौरतलब है कि कर्नाटक प्रदेश परिवहन विभाग के विभिन्न कर्मचारी संगठनों ने अपनी मांगों के समर्थन में कर्नाटक राज्य पथ परिवहन कर्मचारी लीग के तत्वावधान में सात अप्रैल से हड़ताल पर जाने का निर्णय किया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज