सीबीआई ने आईएमए पोंजी घोटाले की जांच अपने हाथ में ली, करीब 2000 करोड़ रुपये की कि धोखाधड़ी

आई मॉनेटरी एडवाइजरी (आईएमए) पोंजी घोटाला मामले में आरोपी मंसूर खान को आज विशेष जांच दल (special investigation team) को सौंप दिया गया.

News18Hindi
Updated: September 2, 2019, 4:02 PM IST
सीबीआई ने आईएमए पोंजी घोटाले की जांच अपने हाथ में ली, करीब 2000 करोड़ रुपये की कि धोखाधड़ी
आईएमए पोंजी घोटाला
News18Hindi
Updated: September 2, 2019, 4:02 PM IST
कर्नाटक (Karnataka) स्थित ‘आई-मॉनेटरी एडवाइजरी’ (I-Monetary Advisory) और इस समूह की कंपनियों द्वारा चलाई जाने वाली करोड़ों रुपए की पोंजी योजना से संबंधित मामले की जांच सीबीआई (CBI) ने अपने हाथ में ले ली है.  इस कम्पनी ने निवेश के इस्लामिक तरीकों का इस्तेमाल करके उच्च रिटर्न का वादा कर कथित तौर पर लाखों लोगों को चूना लगाया. आई मॉनेटरी एडवाइजरी (आईएमए) पोंजी घोटाला मामले में आरोपी मंसूर खान को आज विशेष जांच दल (special investigation team) को सौंप दिया गया है. मंसूर खान 16 अगस्त तक एसआईटी की हिरासत में रहेगा.

सीबीआई के अधिकारियों ने बताया कि एजेंसी ने कम्पनी और उसके कथित मुख्य षड्यंत्रकारी एवं प्रबंध निदेशक मंसूर खान के अलावा 24 अन्य और आईएमए की चार सहयोगी कंपनियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है.

साल 2006 में बिजनेस ग्रैजुएट मंसूर खान ने आई मॉनेटरी एडवाइजरी (IMA) के नाम से एक बिजनेस की शुरुआत की थी. उसने निवेशकों को बताया कि यह संस्था बुलियन में निवेश करेगी और निवेशकों को 7 से 8 फीसदी का रिटर्न मिलेगा.

उच्च रिटर्न का वादा कर मंसूर खान ने एक लाख से अधिक निवेशकों विशेषकर मुस्लिमों को कथित तौर पर ठगा. उसे 19 जुलाई को देर रात दिल्ली एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया गया था. वह करीब 2000 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी कर दुबई भाग गया था. अधिकारियों ने बताया कि कर्नाटक सरकार के अनुरोध पर सीबीआई ने जांच अपने हाथ में ली है.

मामला तब प्रकाश में आया जब खान एक वीडियो संदेश जारी करके दुबई भाग गया. उसने कहा कि वह राज्य और केंद्र सरकार में भ्रष्टाचार की वजह से आत्महत्या कर रहा है. आरोपी और आईएमए ज्वैलर्स के संस्थापक मंसूर खान को 19 जुलाई को दिल्ली पुलिस ने दुबई से आने के बाद नई दिल्ली हवाई अड्डे पर गिरफ्तार किया था.

खान को 21 जुलाई को नयी दिल्ली आने पर प्रवर्तन निदेशालय ने गिरफ्तार किया. वह फिलहाल न्यायिक हिरासत में है.

ये भी पढ़ें : INX मीडिया केस: चिदंबरम अभी नहीं भेजे जाएंगे तिहाड़ जेल- SC

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 2, 2019, 4:02 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...