कोरोना वायरस के डर से कर ली आत्महत्या, परिवारवालों को सुसाइड नोट में लिखा-तुम सब टेस्ट करा लेना

एफ-ब्लाक में रहने वाली 35 वर्षीय भगवती बिष्ट ने शनिवार सुबह 4 बजे के करीब अपनी सोसाइटी की 17वीं मंजिल से छलांग लगाकर आत्महत्या कर ली है. (सांकेतिक तस्वीर)

कर्नाटक (Karnataka) के उडुपी के रहने वाले इस शख्स ने घर के बाहर पेड़ पर फांसी लगाई. इस बीच पुलिस ने कहा है कि वो उन लोगों की लिस्ट में नहीं था जिसे घर में रहने को कहा गया था

  • Share this:
    उडुपी. कोरोना वायरस (Coronavirus) को लेकर दुनिया भर में कोहराम मचा है. भारत में भी इस वायरस से मौत की संख्या लगातार बढ़ रही है. इस बीच कर्नाटक (Karnataka) से दिल दहलाने वाली खबर आई है. 57 साल के शख्स ने फांसी लगाकर इसलिए आत्महत्या कर ली, क्योंकि उन्हें शक था कि वो कोरोना वायरस का शिकार हो गए हैं.

    फांसी लगाने से पहले शख्स ने एक सुसाइ़ड नोट भी छोड़ा है. इसमें लिखा है कि वो कोरोना वायरस से संक्रमित हैं और इसलिए आत्महत्या कर रहे हैं. साथ ही उसने अपने परिवार के सदस्यों को कहा कि वो जरूर अपना टेस्ट करा लें.

    कर्नाटक के उडुपी के रहने वाले इस शख्स ने घर के बाहर पेड़ पर फांसी लगाई. इस बीच पुलिस ने कहा है कि वो उन लोगों की लिस्ट में नहीं था, जिसे घर में रहने को कहा गया था. इसके अलावा उनमें कोरोना वायरस के लक्षण भी नहीं थे. परिवार में उनकी पत्नी और दो बच्चे हैं. फिलहाल कोरोना वायरस को लेकर बॉडी की जांच चल रही है. साथ ही पोस्टमॉर्म भी किया जाएगा.

    इस बीच भारत में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 15 हो गई है. जबकि 600 से ज्यादा लोग संक्रमित हो गए हैं. इस बीच महाराष्ट्र में मृतकों का आंकड़ा 4 पहुंच गया है. गुरुवार को एक महिला की रिपोर्ट आई जिसकी मौत 24 मार्च को हुई. वह कोरोना से पीड़ित थीं. महाराष्ट्र में कोविड-19 से संक्रमित दो नए मामलों की पुष्टि हुई. राज्य में कुल 124 लोग संक्रमित

    ये भी पढ़ें:

    बाज़ार में इस रेट पर बिकेगा आटा, दाल-चावल और सब्जियां, यहां देखें लिस्‍ट

    स्पेन की डिप्टी पीएम भी कोरोना पॉजिटिव, लाशों के साथ रहने के लिए लोग मजबूर