• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • केरल से कर्नाटक आने वाले यात्रियों के लिए सात दिन का क्वारंटीन जरूरी, सरकार ने जारी किया आदेश

केरल से कर्नाटक आने वाले यात्रियों के लिए सात दिन का क्वारंटीन जरूरी, सरकार ने जारी किया आदेश

मुख्यमंत्री ने कहा कि कहा कि पाबंदियों पर फैसला संबंधित जिले में संक्रमण दर के आधार पर लिया जाएगा. (File Pic)

मुख्यमंत्री ने कहा कि कहा कि पाबंदियों पर फैसला संबंधित जिले में संक्रमण दर के आधार पर लिया जाएगा. (File Pic)

मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई (Basavaraj Bommai) की अध्यक्षता में हुई बैठक के बाद यह फैसला लिया. नई गाइडलाइन के मुताबिक केरल (Kerala) से कर्नाटक (Karnataka) पहुंचने वाले हर एक यात्री को सात दिन तक घर पर क्वारंटीन रहना होगा. यह नियम उन पर भी लागू होगा जिन लोगों ने कोविड का टीका लगवाया है

  • Share this:

    नई दिल्ली: देश के अधिकतर राज्यों में कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामलों में गिरावट जारी है लेकिन कुछ राज्यों में तेजी से बढ़ते मामले पूरे देश के लिए चिंता का सबब बने हुए हैं. केरल (Kerala Corona Update) में तेजी से सामने आ रहे कोरोना मामलों के बाद अब कर्नाटक (Karnataka Corona Guideline) सरकार ने केरल से आने वाले यात्रियों के लिए सात दिन का क्वारंटीन जरूरी कर दिया है. कर्नाटक सरकार ने सोमवार को इस सबंध में आदेश भी पारित कर दिया.

    मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई (Basavaraj Bommai) की अध्यक्षता में हुई बैठक के बाद यह फैसला लिया. नई गाइडलाइन के मुताबिक केरल से कर्नाटक पहुंचने वाले हर एक यात्री को सात दिन तक घर पर क्वारंटीन रहना होगा. यह नियम उन पर भी लागू होगा जिन लोगों ने कोविड का टीका लगवाया है या फिर जिनका आरटीपीसीआर परीक्षण नेगेटिव आया है.

    नाइट कर्फ्यू में दी गई ढील

    इस बैठक के बाद राज्य के कुछ जिलों में कोरोना कर्फ्यू में भी ढील देने का फैसला लिया गया. कोडागु, हासन, दक्षिण कन्नड़ और उडुपी जिलों के अलावा अन्य जिलों में रात के कर्फ्यू में ढील दी गई है. सीएम ने कहा कि दूसरे जिलों में पाबंदियों में छूट का फैसला वहां कोरोना संक्रमण की दर के आधार पर लिया जाएगा.

    400 महमानों के साथ शादी में दी गई छूट

    राज्य में शादियों और अन्य समारोह में महमानों की अधिकतम संख्या 400 रखने के निर्देश दिए गए, जबकि वहीं शादी परिसर और लॉज को अधिकतम संख्या के 50 प्रतिशत लोगों के साथ कार्यक्रम आयोजित कराने की छूट दी गई है. मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को चिक्कमगलुरु, हसन, मैसूर, शिवमोग्गा, कोलार और कलबुर्गी जिलों में कुछ प्रतिबंधों में ढील देने पर विचार करने का निर्देश दिया.

    राज्य सरकार ने कहा कि केरल में तेजी से बढ़ते संक्रमण को देखते हुए ऐहतिया के तौर पर यह फैसला लिया गया है. इसके साथ ही सरकार ने केरल से जुड़े जिलों में किसी भी तरह की छूट नहीं दी है. केरल के साथ लगे जिलों में आवाजारी पर भी पहले की तरह ही प्रतिबंध जारी रहेगा. बता दें कि केरल में रोजाना 30 हजार के करीब मामले सामने आ रहे हैं. रविवार को 29,836 नए कोविड -19 मामले दर्ज किए.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज