कर्नाटक में कुमारस्वामी सरकार पर संकट गहराया, इस्तीफा लेकर स्पीकर के पास पहुंचे 11 विधायक

आठों विधायकों का इस्तीफा विधानसभा स्पीकर के पास भेजा गया है, हालांकि खबर है कि स्पीकर विधानसभा में मौजूद नहीं हैं.

News18Hindi
Updated: July 6, 2019, 4:39 PM IST
कर्नाटक में कुमारस्वामी सरकार पर संकट गहराया, इस्तीफा लेकर स्पीकर के पास पहुंचे 11 विधायक
कर्नाटक सरकार पर संकट के बादल, आठ और विधायकों ने दिया इस्तीफा
News18Hindi
Updated: July 6, 2019, 4:39 PM IST
कर्नाटक में कुमारस्वामी सरकार पर संकट गहरा गया है. बताया जाता है कि कांग्रेस और जेडीएस के 14 विधायक विधानसभा स्पीकर के पास इस्तीफा देने पहुंचे थे. कर्नाटक में गहराए राजनीतिक संकट को देखते हुए कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल कर्नाटक के लिए रवाना हो गए है. हालांकि तीन विधायकों को कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार अपने साथ वापस ले गए ऐसे में कुल 11 विधायक ही बचे जो फिलहाल इस्तीफा देने पर अड़े हुए हैं. इसमें से  8 कांग्रेस और तीन जेडीएस विधायक हैं.

उपमुख्‍यमंत्री जी. परमेश्‍वर और राज्‍य के मंत्री डीके शिवकुमार ने कांग्रेस के विधायकों और निगम सदस्‍यों की आपात बैठक बुला ली है. कहा जा रहा है कि कांग्रेस अलाकमान ने डीके शिकुमार को विधायकों को मनाने की ज़िम्मेदारी दी है. शिव कुमार ने विधानसभा पहुंच कर तीन एमएलए को मना भी लिया है. इस बीच वो बार-बार इन खबरों का खंडन कर रहे हैं कि किसी भी विधायक ने इस्तीफा नहीं दिया है.

कांग्रेस और जेडीएस के 11  विधायकों के इस्तीफे के बाद कर्नाटक में राजनीतिक संकट गहरा गया है. कर्नाटक में सरकार बने अभी एक साल भी पूरे नहीं हुए हैं और सरकार पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं.


Loading...

कांग्रेस के विजयनगर विधायक आनंद सिंह और गोकके विधायक राजेश जरकीहोली ने अपनी विधानसभा की सदस्यता से पहले ही इस्तीफा दे दिया था. कर्नाटक में नए राजनीतिक समीकरण के बाद अगर कांग्रेस और जेडीएस के पास दो निर्दलीय विधायकों का समर्थन मिल जाता है उनके गठबंधन के पास 105 विधायक संख्या हो जाएगी. सदन में भाजपा की भी मौजूदा ताकत 105 है.

ये 14 विधायक इस्तीफा देने के लिए पहुंचे
शनिवार को 11 विधायक विधानसभा स्पीकर से मिलने पहुंचे. इन 14 विधायकों में तीन जेडीएस के विधायक है जबकि 11 कांग्रेस के विधायक हैं. रमेश मेश जरखोली, रामलिंगा रेड्डी, महेश कुमटल्ली, शिवराम हेब्बार, बीसी पाटिल, मुनिरत्ना, एसटी सोमशेखर, बृजपति बसवराज, सौम्या रेड्डी, प्रताप गौड़ा पाटिल कांग्रेस से हैं और नारायण गौड़ा, गोपालैया और विश्वनाथ. कांग्रेस विधायक आनंद सिंह ने सोमवार को अपना इस्तीफा दे दिया था.

Congress, Karnataka, Karnataka Assembly, HD Kumaraswamy, Rahul Gandhi

224 सीटों वाले कर्नाटक विधानसभा में सत्ता हासिल करने का जादुई आंकड़ा 113 है. दूसरी ओर मुख्य विपक्षी भाजपा के पास 105 विधायक हैं, बहुजन समाज पार्टी (बसपा) का एक विधायक और एक स्वतंत्र विधायक है. नए इस्तीफों के बाद कुमार स्वामी सरकार के पास सत्ता में बने रहने के उतने विधायक नहीं बचे हैं, जितनी उन्हें जरूरत है.

इसे भी पढ़ें :- कर्नाटक: 2 कांग्रेस विधायकों ने दिया इस्तीफा, सरकार बनाने की ताक में बीजेपी!

कांग्रेस विधायकों के इस्तीफे पर प्रतिक्रिया देते हुए राज्य के भाजपा प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि इस्तीफे सत्तारूढ़ गठबंधन में बड़े पैमाने पर बेचैनी को दर्शाते हैं. उन्होंने कहा कि सरकार गिरने के बाद ही हम आगे की रणनीति पर कोई कदम उठाएंगे. चुनाव का कोई सवाल ही नहीं है. हम 105 सदस्यों के साथ एक मजबूत पार्टी हैं. अगर आने वाले समय में कुछ और विधायकों का इस्तीफा होता है तो हम सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे.

Congress, Karnataka, Karnataka Assembly, HD Kumaraswamy, Rahul Gandhi

इसे भी पढ़ें :- कर्नाटक सरकार पर संकट, सिर्फ एक विधायक के बल पर चल रही कुमार स्वामी सरकार

सरकार बनाने की संभावनाएं तलाशूंगाः येदियुरप्पा
कर्नाटक बीजेपी के मुखिया बीएस येदियुरप्पा ने कांग्रेस एमएलए के इस्तीफे के बाद कहा कि अगर आपसी कलह के चक्कर में जनता दल (सेक्यूलर) की सरकार गिर जाती है तो वो अपनी सरकार बनाने के मौके तलाशेंगे. हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि उनकी पार्टी मध्याव‌धि चुनाव की पक्षधर नहीं है. अगर सरकार बनने की स्थिति बनती है तो एक बार फिर कर्नाटक में स्‍थायी सरकार बनाने का रुख करेंगे.
First published: July 6, 2019, 4:15 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...