अपना शहर चुनें

States

कर्नाटक: ज्योतिषी ने कारोबारी को लगाया 91 करोड़ रुपए का चूना, BJP सांसद को बना चुका है शिकार

रवि ने बताया कि उन्होंने 6.50 करोड़ रुपए आरटीजीएस के जरिए दिए थे और 25-25 करोड़ रुपए के तीन चेक दिए थे. इसके बाद 10 करोड़ रुपए का एक और चेक दिया गया था. इसके बाद ज्योतिषी ने उसे नजरअंदाज करना शुरू कर दिया.
(सांकेतिक तस्वीर)
रवि ने बताया कि उन्होंने 6.50 करोड़ रुपए आरटीजीएस के जरिए दिए थे और 25-25 करोड़ रुपए के तीन चेक दिए थे. इसके बाद 10 करोड़ रुपए का एक और चेक दिया गया था. इसके बाद ज्योतिषी ने उसे नजरअंदाज करना शुरू कर दिया. (सांकेतिक तस्वीर)

Karnataka astrologer: बेंगलुरू पुलिस ने आरोपी ज्योतिषी को गिरफ्तार किया था. इसके बाद धोखाधड़ी से जुड़े कई मामलों का खुलासा हुआ है. उसने बीजेपी नेताओं समेत एक जज को भी अपना शिकार बनाया है. हालांकि, इस मामले में यह अब तक का बड़ा खुलासा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 18, 2021, 12:40 PM IST
  • Share this:
बेंगलुरू. नेताओं और न्यायाधीश को करोड़ों का चूना लगाने वाले ज्योतिषी (Astrologer) के मामले में नया खुलासा हुआ है. ताजा जानकारी के अनुसार, आरोपी ने एक रियल ऐस्टेट कारोबारी के 91 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी (Cheating of 91 Crore Rupees) की है. खास बात है कि बेंगलुरू पुलिस ने घोटालों के आरोप में गिरफ्तार किया था. उसके खिलाफ फिलहाल 14 मुकदमें दर्ज हैं. जिनमें से यह मामला अब तक का सबसे बड़ा माना जा रहा है.

क्या था मामला
बेंगलुरू पुलिस (Bengaluru Police) की तरफ से दाखिल की गई शिकायत के अनुसार, मैसूर के कारोबारी गुरुराज रवि (Gururaj Ravi) ने ज्योतिषी युवराज स्वामी (Yuvaraj Swami) पर धोखाधड़ी के आरोप लगाए हैं. रवि ने कहा कि स्वामी ने उसे 150 करोड़ रुपए की कीमत की एक विवादित प्रॉपर्टी मिलकर खरीदने की बात कही. यह प्रॉपर्टी बेंगलुरू एयरपोर्ट के नजदीक थी. कारोबारी ने बताया कि इस डील के तहत ज्योतिषी ने उससे 85 करोड़ रुपए ले लिए, लेकिन डील पूरी नहीं की.


यह भी पढ़ें: कोरोना का डर, कर्नाटक ने केरल और विदेश से लौटने वाले यात्रियों के लिए जारी किए नए नियम



रवि ने बताया कि उन्होंने 6.50 करोड़ रुपए आरटीजीएस के जरिए दिए थे और 25-25 करोड़ रुपए के तीन चेक दिए थे. इसके बाद 10 करोड़ रुपए का एक और चेक दिया गया था. इसके बाद ज्योतिषी ने उसे नजरअंदाज करना शुरू कर दिया. उन्होंने बताया कि यह लेन-देन 2018 से 2020 के बीच हुआ है. आरोपी ज्योतिषी के नाम और भी कड़े घोटाले के मामले दर्ज हैं.

52 वर्षीय युवराज स्वामी उर्फ सेवालाल पर रिटायर्ड जज बीएस इंद्रकला के साथ 8.27 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी के आरोप हैं. इतना ही नहीं उसने भारतीय जनता पार्टी के एक राज्यसभा सांसद को भी अपना शिकार बनाया है. खास बात है कि स्वामी केंद्र और राज्य सरकार में बड़े स्तर पर संपर्क होने के दावे करता था. इन दावों की मदद से उसने करीब 30 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी को अंजाम दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज