होम /न्यूज /राष्ट्र /सीमा विवाद को लेकर विरोध-प्रदर्शन जारी, कर्नाटक ने महाराष्ट्र के लिए बस सेवाएं रोकीं

सीमा विवाद को लेकर विरोध-प्रदर्शन जारी, कर्नाटक ने महाराष्ट्र के लिए बस सेवाएं रोकीं

महाराष्ट्र और कर्नाटक के बीच बेलगावी को लेकर सीमा विवाद के चलते प्रदर्शनकारियों ने कुछ बसों में तोड़फोड़ की और कालिख पोत दी. (ANI फोटो)

महाराष्ट्र और कर्नाटक के बीच बेलगावी को लेकर सीमा विवाद के चलते प्रदर्शनकारियों ने कुछ बसों में तोड़फोड़ की और कालिख पोत दी. (ANI फोटो)

Maharashtra-Karnataka Border Dispute: महाराष्ट्र और कर्नाटक के बीच बेलगावी को लेकर सीमा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा ह ...अधिक पढ़ें

बेलगावी (कर्नाटक). महाराष्ट्र और कर्नाटक के बीच बेलगावी को लेकर सीमा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है.  महाराष्ट्र जहां बेलगावी का अपने क्षेत्र में विलय की मांग कर रहा है, जबकि कर्नाटक ने इस पर अपना अधिकार दोहराया है. इसे लेकर दोनों राज्यों में प्रदर्शनों का दौर भी जारी है. इस तनाव के चलते उत्तर पश्चिम कर्नाटक सड़क परिवहन निगम ने बेलगावी जिले की सीमा से लगते क्षेत्रों में कुछ बसों में तोड़फोड़ और कालिख पोते जाने की खबरें आने के बाद बुधवार को महाराष्ट्र के लिए अपनी सेवाएं रोक कर दी हैं.

उत्तरपश्चिम कर्नाटक सड़क परिवहन निगम के एक अधिकारी ने कहा, ‘हम तनाव के कारण अपनी बसें केवल निपानी (बेलगावी जिले में) तक चला रहे हैं. सुबह से तनाव बना हुआ है.’ उन्होंने बताया कि महाराष्ट्र से रानेबेन्नूर आ रही कर्नाटक राज्य सड़क परिवहन निगम की बस को भी क्षतिग्रस्त किया गया है. उन्होंने कहा, ‘बस के शीशे तोड़े गए. इस घटना के अलावा कुछ बसों को विरूपित भी किया गया.’

ये भी पढ़ें- जानें एक छात्र की पिटाई से कैसे दोबारा उठ खड़ा हुआ कर्नाटक-महाराष्ट्र का 60 साल पुराना झगड़ा

इस बीच, कर्नाटक रक्षा वेदिके ने बसों में तोड़फोड़ और कालिख पोते जाने के बाद सीमावर्ती क्षेत्रों में प्रदर्शन किया. संगठन के कार्यकर्ताओं ने कहा कि अगर बसों को निशाना बनाया गया तो वह भी ऐसा ही जवाब देंगे.

सीमावर्ती क्षेत्र में तनाव फिर से शुरू होने के मद्देनजर दोनों राज्यों की पुलिस ने सुरक्षा मजबूत कर दी. बसों में अतिरिक्त सुरक्षा उपलब्ध कराई गई. बेलगावी में प्रदर्शन महाराष्ट्र के साथ जारी सीमा विवाद के बीच राज्य के दो मंत्रियों के मंगलवार को प्रस्तावित दौरे के मद्देनजर हुआ था.

दरअसल, शंभूराज देसाई और चंद्रकांत पाटिल, महाराष्ट्र समर्थक संगठन द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए मंगलवार को शहर का दौरा करने की योजना बना रहे थे. दोनों मंत्रियों को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने बेलगावी से संबंधित सीमा विवाद मामले की पैरवी कर रही कानूनी टीम के साथ समन्वय के लिए नियुक्त किया है.

कन्नड़ समर्थक प्रदर्शनकारियों के विरोध के कारण, दोनों मंत्रियों ने अपनी यात्रा स्थगित कर दी. महाराष्ट्र इस आधार पर बेलगावी के विलय की मांग कर रहा है कि जिले में मराठी भाषियों की पर्याप्त आबादी है. हालांकि, कर्नाटक सरकार महाराष्ट्र के इन दावों को खारिज करती रही है. पड़ोसी राज्य ने उच्चतम न्यायालय का भी रुख किया है.

Tags: Border Dispute, Karnataka News, Maharashtra News

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें