करतारपुर कॉरिडोर: भारत ने पाकिस्तान से कहा- हर दिन पांच हजार श्रद्धालुओं को दर्शन का मिले मौका

करतारपुर कॉरिडोर को लेकर भारत और पाकिस्तान के अधिकारियों के बीच हुई बैठक में जीरो प्वाइंट पर संपर्क और यात्रा करने वाले श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ाने जैसे अहम मुद्दों पर चर्चा की गई.

News18Hindi
Updated: July 14, 2019, 3:45 PM IST
करतारपुर कॉरिडोर: भारत ने पाकिस्तान से कहा- हर दिन पांच हजार श्रद्धालुओं को दर्शन का मिले मौका
करतारपुर कॉरिडोर को लेकर भारत और पाकिस्तान के अधिकारियों के बीच हुई बैठक में जीरो प्वाइंट पर संपर्क और यात्रा करने वाले श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ाने जैसे अहम मुद्दों पर चर्चा की गई.
News18Hindi
Updated: July 14, 2019, 3:45 PM IST
भारत-पाकिस्तान के बीच बन रहे करतारपुर कॉरिडोर को लेकर रविवार को दोनों देशों के बीच अटारी-वाघा पर द्विपक्षीय वार्ता हुई. इस बैठक में जीरो प्वाइंट पर संपर्क और यात्रा करने वाले श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ाने जैसे अहम मुद्दों पर चर्चा की गई. बताया जाता है कि भारत ने करतारपुर कॉरिडोर के चलते भारत की सुरक्षा से जुड़ी चिंताओं का भी मुद्दा उठाया. गौरतलब है कि भारत इससे पहले करतारपुर कॉरिडोर परियोजना के लिए पाकिस्तान की ओर से नियुक्त की गई कमेटी में एक प्रमुख खालिस्तानी अलगाववादी की मौजूदगी पर चिंता जता चुका है.

करतारपुर कॉरिडोर से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करने के लिए भारत और पाकिस्तान के बीच रविवार को बैठक हुई. बैठक में करतारपुर कॉरिडोर से जुड़े अहम मुद्दों पर चर्चा की गई. इस मौके पर भारत ने पाकिस्तान से कहा कि हर रोज पांच हजार श्रद्धालुओं को करतारपुर जाने की इजाजत दी जानी चाहिए. इसके अलावा यात्रियों की आवाजाही के लिए जरूरी दस्तावेज पर भी बात की गई.



kartarpur corridor, punjab, India pakistan

 

दोनों देशों के बीच हुई बैठक में एक बार फिर वही महिला दिखाई दीं जो विंग कमांडर अभिनंदन की रिहाई के दौरान उन्हें बाघा बॉर्डर तक छोड़ने आई थीं. दरअसल ये महिला पाकिस्तान के विदेश कार्यालय में निदेशक डॉ फरिहा बुगती हैं. डॉक्टर बुगती एक एफएसपी (भारत के आईएफएस के बराबर) अधिकारी हैं और पाकिस्तान में भारत के विदेश मंत्रालय के समकक्ष काम करती हैं.

भारत की ओर से 60 फीसदी काम हुआ पूरा
करतारपुर कॉरिडोर पर जो पैसेंजर टर्मिनल बन रहा है. वहां 500 गाड़ियों की पार्किंग की व्यवस्था रहेगी. इस अत्याधुनिक टर्मिनल में एयरपोर्ट की तरह तमाम आधुनिक सुविधाएं होंगी. माना जा रहा है कि त्योहार के दिन भीड़ ज्यादा रहेगी. त्योहार में यात्रियों की संख्या 5000 तक पहुंच सकती है. ऐसे में उनके लिए खास लाउंज बनाया जा रहा है. भारत सरकार की ओर से कॉरिडोर को बनाने के लिए 30 इंजीनियर और 200 से ज्यादा मजदूर लगाए गए हैं. प्री फेब्रिकेटेड स्टील स्ट्रक्चर से पैसेंजर टर्मिनल तैयार किया रहा है. एनएचएआई रोड तैयार करने में जुटा है. भारत की तरफ से 60 फीसदी से ज्यादा काम पूरा हो चुका है.
Loading...

kartarpur corridor, punjab, India pakistan

करतारपुर कॉरिडोर की सड़क होगी 4 लेन
कॉरिडोर की सड़क 4 लेन की होगी, जिसमें सर्विस लेन भी होगी. सड़क के साथ ही पैसेंजर टर्मिनल पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जा रहे हैं. दोनों जगह पंजाबी संस्कृति की झलक दिखाने के लिए देश-विदेश से विशेषज्ञों की सहायता ली जा रही है. भारत के दूरदराज इलाकों से टर्मिनल तक लोगों को आसानी से पहुंचाने के लिए खास बसें चलाई जाएंगी. ये कारीडोर 4.7 किमी लंबा है.

पाक की ओर से पुल का काम अभी अधूरा
कॉरिडोर के बीच 320 मीटर का फ्लड एरिया है, जिस पर भारत की ओर से पुल बनाया जाएगा. दोनों देशों के बीच हुए समझौते के मुताबिक भारत को 70 मीटर का पुल बनाना है, जबकि पाकिस्तान को 250 मीटर का पुल बनाना है. भारत सरकार ने अपनी ओर से पुल बनाने का काम शुरू कर दिया है. वहीं, पाकिस्तान की ओर से पुल के बजाय मिट्टी से रास्ता बनाने की बात की जा रही है. आज की बैठक में इस मसले पर भी बात हो सकती है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...