करतारपुर: भारत ने पाक से कहा- ऐसे ढांचे ना बनाओ जिससे बाढ़ का खतरा मंडराए

मौसम की सभी संभावनाओं को देखते हुए भारत पहले से ही एक पुल का निर्माण करा रहा है. भारत ने कहा है कि पाकिस्‍तान इस पुल के अपने हिस्‍से का निर्माण जल्‍द कराए.

News18Hindi
Updated: July 9, 2019, 8:44 PM IST
करतारपुर: भारत ने पाक से कहा- ऐसे ढांचे ना बनाओ जिससे बाढ़ का खतरा मंडराए
भारत ने संभावित बाढ़ के संबंध में पाकिस्‍तान की ओर से एक बांध की सड़क के निर्माण का मुद्दा मजबूती से उठाया है. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)
News18Hindi
Updated: July 9, 2019, 8:44 PM IST
भारत और पाकिस्‍तान के बीच बाघा में जल्‍द करतारपुर कॉरिडोर को लेकर बैठक होने वाली है. इसमें करतारपुर गलियारे की रूपरेखा को अंतिम रूप देने के लिए मसौदा समझौते पर चर्चा होनी है. इस बीच न्‍यूज एजेंसी एएनआई सूत्रों के मुताबिक, भारत ने संभावित बाढ़ के संबंध में पाकिस्‍तान की ओर से एक बांध की सड़क के निर्माण का मुद्दा मजबूती से उठाया है.

मौसम की सभी संभावनाओं को देखते हुए भारत पहले से ही एक पुल का निर्माण करा रहा है. भारत ने कहा है कि पाकिस्‍तान इस पुल के अपने हिस्‍से का निर्माण जल्‍द कराए. इसके साथ ही भारत ने कहा कि पाक करतारपुर कॉरिडोर पर ऐसा कोई भी निर्माण न करे, जिससे भारत में बाढ़ का खतरा मंडराने लगे.

भारत ने कहा कि पाकिस्‍तान ऐसे ढांचे न बनाएं जिससे भारत में बाढ़ का खतरा मंडराए और यहां पर जान-माल का नुकसान हो.



करतारपुर कॉरिडोर पर इस दिन बातचीत करेंगे भारत-पाक

करतारपुर कॉरिडोर को लेकर भारत-पाकिस्तान के बीच होने वाली बातचीत की तारीख तय हो गई है. भारत की ओर से भेजे गए प्रस्ताव में से पाकिस्तान ने बातचीत के लिए 14 जुलाई की तारीख पर सहमति जताई है. पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के मुताबिक पाकिस्तान ने भारत को बताया कि करतारपुर कॉरिडोर और संबंधित तकनीकी मुद्दों के तौर-तरीकों को अंतिम रूप देने के लिए समझौते पर चर्चा के लिए दूसरी बैठक 14 जुलाई 2019 को वाघा में होगी.

तीन दौर की हो चुकी है बातचीत
Loading...

भारत ने कुछ दिन पहले इस संबंध में पाकिस्तान को चिट्ठी लिखकर 11 से 14 जुलाई के बीच वाघा बॉर्डर पर बातचीत की पेशकश की थी. बता दें करतारपुर कॉरिडोर को लेकर अब तक भारत पाकिस्तान के बीच तीन दौर की बातचीत हो चुकी है.

इस कॉरिडोर को लेकर चौथे चरण की वार्ता में भारतीय तीर्थयात्रियों को करतारपुर गुरुद्वारे तक मिलने वाली सुरक्षा और उनके रूट को लेकर बातचीत की जाएगी. इसके अलावा तीर्थयात्रियों को दी जाने वाली सुविधाओं पर भी बात होगी.



भारत की तरफ से 45 फीसदी काम पूरा

करतारपुर कॉरिडोर को लेकर भारत ने दावा किया है कि अब तक 45 फीसदी काम पूरा किया जा चुका है. लेकिन, समझौते के मुताबिक पाकिस्‍तान की ओर से तय समय के अनुसार काम नहीं किया जा रहा है. खबर है कि पाकिस्तान की ओर से इस प्रोजेक्‍ट को लटकाने की कोशिश की जा रही है. भारत सरकार की इस प्रोजेक्ट को 30 सितंबर तक पूरा करने की योजना है.

ये भी पढ़ें: खर्चा बचाने में जुटे इमरान, अमेरिकी दौरे पर नहीं लेंगे होटल

भारत चाहता है कि करतारपुर कॉरिडोर के लिए पाकिस्तान अपने हिस्से में ऑलवेदर रोड बनाए जिससे श्रद्धालुओं को कोई परेशानी न हो लेकिन पाकिस्‍तान केवल सीजनल रोड बना रहा है. भारत ने इस संबंध में पाकिस्तान के सामने ऐतराज भी जाहिर किया है. ऑलवेदर रोड पर बन रहे ब्रिज को भारत तय डेडलाइन के तहत पूरा कर रहा है. लेकिन पाकिस्‍तान अपनी हिस्‍से के ब्रिज को बनाने के लिए तैयार नहीं है.

ये भी पढ़ें: भारत ने कहा- झूठी है कश्मीर पर UN मानवाधिकार की रिपोर्ट
First published: July 9, 2019, 8:44 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...