लाइव टीवी

करतारपुर कॉरिडोर: अब भी 20 अमेरिकी डॉलर का शुल्क लगाने पर अड़ा पाकिस्तान

News18Hindi
Updated: October 17, 2019, 9:30 PM IST
करतारपुर कॉरिडोर: अब भी 20 अमेरिकी डॉलर का शुल्क लगाने पर अड़ा पाकिस्तान
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने प्रेस वार्ता की.

करतारपुर (Kartarpur) साहिब सिखों के लिए सबसे पवित्र जगह है. करतारपुर साहिब सिखों के प्रथम गुरु, गुरुनानक देव जी का निवास स्‍थान था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 17, 2019, 9:30 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत (India) ने गुरुवार को एक बार फिर पाकिस्तान (Pakistan) से प्रति करतारपुर कॉरिडोर जाने वाले भारतीय तीर्थयात्री 20 अमेरिकी डॉलर का शुल्क नहीं लगाने की बात कही. उम्मीद जताई है कि दोनों देशों के बीच जल्द ही करतारपुर कॉरिडोर को चालू करने के समझौते पर हस्ताक्षर किए जाएंगे.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने एक प्रेस वार्ता में कहा कि भारत और पाकिस्तान दोनों सेवा शुल्क के मामले को छोड़कर गलियारे पर एक समझौते पर पहुंच गए हैं. उन्होंने कहा, 'पाकिस्तान के साथ कई दौर की चर्चा के बाद, हम सेवा शुल्क के मामले को छोड़कर अन्य सभी मुद्दों पर एक समझौते पर पहुंच गए हैं. पाकिस्तान सभी तीर्थयात्रियों पर USD 20 (लगभग रु. 1420) का शुल्क लगाने पर जोर दे रहा है.'

भारत ने शुल्क नहीं लगाने का आग्रह किया
कुमार ने कहा कि भारत ने पाकिस्तान से भक्तों के हितों में शुल्क नहीं लगाने का आग्रह किया है और इसलिए भी कि क्योंकि गलियारे का उद्घाटन लोगों के लिए एक पहल है. उन्होंने कहा कि, 'हमें उम्मीद है कि इस समझौते का समापन और शानदार आयोजन के लिए समय पर हस्ताक्षर किया जा सकता है.'

पाकिस्तान पंजाब के गुरदासपुर में डेरा बाबा नानक मंदिर के साथ पाकिस्तान के करतारपुर में ऐतिहासिक गुरुद्वारा दरबार साहिब को जोड़ने वाले गलियारे की परिचालन लागत को पूरा करने के लिए 20 डॉलर प्रति तीर्थयात्री की सेवा शुल्क लगाने पर जोर दे रहा है.

550 वीं जयंती के मौके पर इसे शुरू हो सकता है कॉरिडोर
शुरुआती योजना के अनुसार, दोनों देशों को नवंबर की पहली छमाही में समझौते पर हस्ताक्षर करना था ताकि गुरु नानक की 550 वीं जयंती के मौके पर इसे शुरू किया जा सके. प्रेस वार्ता में कुमार इस सवाल पर प्रतिक्रिया दे रहे थे कि क्या करतारपुर साहिब कॉरिडोर पर समझौते को पाकिस्तान के आग्रह के कारण अंतिम रूप नहीं दिया गया है जिसमें भक्तों से 20 अमेरिकी डॉलर का सेवा शुल्क लिया जाएगा जो धर्मस्थल की यात्रा करना चाहते हैं.
Loading...

पिछले साल नवंबर में एक बड़ी पहल में, भारत और पाकिस्तान दोनों ने गुरुद्वारा दरबार साहिब के ऐतिहासिक गुरुद्वारा दरबार साहिब को जोड़ने के लिए करतारपुर कॉरिडोर स्थापित करने पर सहमति जताई थी। करतारपुर साहिब डेरा बाबा नानक तीर्थ से लगभग चार किलोमीटर की दूरी पर रावी नदी के पार पाकिस्तान के नरोवाल जिले में स्थित है.

यह भी पढ़ें:  8 नवंबर को करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन करेंगे पीएम नरेंद्र मोदी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 17, 2019, 9:17 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...