सुप्रीम कोर्ट से कार्ति चिदंबरम को झटका, 10 करोड़ रुपये वापस लौटाने से किया इनकार

भाषा
Updated: September 6, 2019, 4:45 PM IST
सुप्रीम कोर्ट से कार्ति चिदंबरम को झटका, 10 करोड़ रुपये वापस लौटाने से किया इनकार
सुप्रीम कोर्ट से कार्ति चिदंबरम को 10 करोड़ रुपये वापस देने से इनकार कर दिया है

न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा कि कार्ति चिदंबरम (Karti Chidambaram) की रकम अभी और तीन महीने तक रजिस्ट्री में जमा रहेगी.

  • Share this:
नई दिल्ली. पूर्व केंद्रीय वित मंत्री पी चिदंबरम (P Chidambaram) और उनके बेटे कार्ति चिदंबरम (Karti Chidambaram) की मुश्किलें कम नहीं हो रही हैं. पिता के जेल जाने के बाद अब कार्ति चिदंबरम को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) से झटका लगा है. विदेश यात्रा के लिए रजिस्ट्री में जमा कराए गए 10 करोड़ रुपये सुप्रीम कोर्ट ने अभी वापस देने से मना कर दिया है.

न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा कि यह रकम अभी और तीन महीने तक रजिस्ट्री में जमा रहेगी. कार्ति चिदंबरम (Karti Chidambaram) के खिलाफ एयरसेल-मैक्सिस प्रकरण और धन शोधन के मामले में कार्रवाई चल रही है और उन्होंने सुप्रीम कोर्ट द्वारा उन्हें विदेश यात्रा की अनुमति देते समय लगाई गई शर्त के तहत यह राशि जमा कराई थी.

कार्ति बोले- कर्ज पर लिया पैसा
सुप्रीम ने मई के महीने में भी 10 करोड़ रुपये की यह राशि लौटाने से इनकार कर दिया था. पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के पुत्र कार्ति चिदंबरम ने इससे पहले कोर्ट में दावा किया था कि उन्होंने यह रकम कर्ज पर ली थी और वह इस पर ब्याज अदा कर रहे हैं.

SC ने 10 करोड़ रुपये जमा करने की रखी थी शर्त
चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की पीठ ने 7 मई को कार्ति को मई और जून महीने में ब्रिटेन, अमेरिका, फ्रांस, जर्मनी और स्पेन की यात्रा करने की अनुमति दी थी. इससे पहले, न्यायालय ने जनवरी में कार्ति को विदेश यात्रा की अनुमति देते वक्त निर्देश दिया था कि वह सुप्रीम कोर्ट के सेक्रेटरी जनरल के पास दस करोड़ रूपए जमा करायें.

पूर्व केंद्रीय वित मंत्री पी चिदंबरम और उनके बेटे कार्ति चिदंबरम
पूर्व केंद्रीय वित मंत्री पी चिदंबरम और उनके बेटे कार्ति चिदंबरम

Loading...

कोर्ट ने प्रवर्तन निदेशालय के अनुरोध पर कार्ति को यह लिखित आश्वासन देने का निर्देश दिया था कि विदेश से लौटने के बाद वह जांच में सहयोग करेंगे. साथ ही न्यायालय ने उन्हें चेतावनी दी थी कि यदि उन्होंने ऐसा नहीं किया तो उनके साथ सख्ती की जायेगी.

कार्ति के खिलाफ कई आपराधिक मामले
जांच एजेंसी ने कोर्स से यह भी कहा था कि पिछले छह महीने में कार्ति 51 दिन विदेश में थे. कार्ति के खिलाफ कई आपराधिक मामलों की प्रवर्तन निदेशालय और केन्द्रीय जांच ब्यूरो जांच कर रहा है. इनमें एक मामला आईएनएक्स मीडिया समूह को 305 करोड़ रूपए के विदेशी निवेश की अनुमति देने से संबंधित है. विदेशी निवेश संवर्द्धन बोर्ड ने 2007 में यह मंजूरी दी थी और उस समय कार्ति के पिता पी चिदंबरम वित्त मंत्री थी.

ये भी पढ़ें-

चिदंबरम से मिलने तिहाड़ पहुंचे कांग्रेस नेता, जेल प्रशासन से नहीं मिली अनुमति

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 6, 2019, 4:41 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...