लाइव टीवी

चिदंबरम को मिली जमानत तो कांग्रेस ने कहा- सच की हुई जीत, थरूर बोले- न्याय में देरी, अन्याय है

News18Hindi
Updated: December 4, 2019, 12:35 PM IST
चिदंबरम को मिली जमानत तो कांग्रेस ने कहा- सच की हुई जीत, थरूर बोले- न्याय में देरी, अन्याय है
सुप्रीम कोर्ट ने दो लाख रुपये के निजी मुचलके और इतनी ही राशि की दो जमानती पर पी.चिदंबरम को जमानत दी है.

सुप्रीम कोर्ट ने पी.चिदंबरम की जमानत याचिका खारिज करने के दिल्ली हाईकोर्ट के 15 नवंबर के आदेश को निरस्त कर दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 4, 2019, 12:35 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कांग्रेस (Congress) ने आईएनएक्स मीडिया  (Inx media case) मनी लॉन्ड्रिंग मामले में पार्टी के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम को जमानत देने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले का बुधवार को स्वागत करते हुए कहा कि सच की आखिरकार जीत हुई. हालांकि, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने कहा, ‘न्याय में देरी, अन्याय है. यह काफी पहले ही मिलना चाहिए था.’

जस्टिस आर. भानुमति की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय पीठ ने 74 वर्षीय पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री को जमानत दी. वह 105 दिन तक जेल में रहे. सीबीआई ने 21 अगस्त को आईएनएक्स मीडिया मनी लॉन्ड्रिंग मामले में उन्हें गिरफ्तार किया था. उसके बाद मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ही 16 अक्टूबर को उन्हें  प्रवर्तन निदेशालय ने गिरफ्तार किया था.

इस फैसले पर चिदंबरम के बेटे कार्ति ने भी ट्वीट किया. उन्होंने लिखा - 'फ्यू... आखिरकार 106 दिन बाद'



सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को अपना फैसला सुनाया
आईएनएक्स मीडिया मनी लॉन्ड्रिंग मामले में जेल में बंद पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम की जमानत याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को अपना फैसला सुनाया. चिदंबरम ने अपनी जमानत याचिका खारिज करने के दिल्ली हाईकोर्ट के 15 नवंबर के फैसले को शीर्ष अदालत में चुनौती दी थी.

आईएनएक्स मीडिया केस में सीबीआई ने पूर्व वित्तमंत्री पी. चिदंबरम को 21 अगस्त को गिरफ्तार किया था. पूछताछ के बाद उन्हें 6 सितंबर को तिहाड़ जेल भेज दिया गया था. एयरसेल मैक्सिस केस में उन्हें बेटे कार्ति के साथ जमानत मिल चुकी है. वहीं, आईएनएक्स केस में भी सुप्रीम कोर्ट ने आज चिदंबरम को जमानत दे दी.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 4, 2019, 12:16 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर