LIVE NOW

करुणानिधि का अंतिम पड़ाव: 'जिन्होंने कभी आराम नहीं किया वह चैन से सो गये'

करुणानिधि से जुड़े लेटेस्ट हिंदी न्यूज़ के लिए जुड़े रहिए News18 Hindi के साथ...

Hindi.news18.com | August 8, 2018, 7:34 PM IST
facebook Twitter Linkedin
Last Updated August 8, 2018

हाइलाइट्स

6:59 pm (IST)

करुणानिधि की पार्थिव देह सुनहरे कास्केट से लकड़ी के ताबूत में शिफ्ट की गई. इसके बाद उनके शव को मरीना बीच पर दफनाया गया. जिस जगह पर उनके शव को दफनाया गया है उसके पास ही करुणानिधि के राजनीतिक गुरु और डीएमके के संस्थापक अन्नादुराई की समाधी है. अंतिम संस्कार के दौरान कलैगनार के बेटे एमके स्टालिन, अलागिरी और बेटियां कनिमोझी और सेल्वी अपने आंसू नहीं रोक पाए. वहीं उनके समर्थकों ने भी उन्हें नम आंखों से विदाई दी.

6:54 pm (IST)

करुणानिधि के परिवार ने उन्हें अंतिम विदाई दी


6:54 pm (IST)

करुणानिधि के शव को अंतिम संस्कार के लिए तैयार किया जा रहा है. उनके बेटे एमके स्टालिन, अलागिरी और बेटी कनिमोझी अपने पिता के पास ही खड़े हैं.

6:52 pm (IST)

मरीना बीच पर अपने गुरु और डीएमके संस्थापक अन्नादुराई के पास दफन किए जा रहे हैं एम करुणानिधि.

6:49 pm (IST)

करुणानिधि की आखिरी झलक पाने के लिए पेड़ पर चढ़ा एक समर्थक. 


6:47 pm (IST)

करुणानिधि को अंतिम सलामी दे रहे हैं नौसेना के जवान


6:41 pm (IST)

सेना के जवानों ने करुणानिधि के शव से तिरंगे को उतारकर उनके बेटे एमके स्टालिन को सौंपा. तिरंगे को लेकर स्टालिन काफी देर तक अपने पिता के पैरों के पास खड़े रहे. स्टालिन के बाद अलागिरी, कनिमोझी और परिवार के अन्य सदस्य करुणानिधि को श्रद्धांजलि अर्पित कर रहे हैं.

6:31 pm (IST)

करुणानिधि के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए देशभर से कई नेता चेन्नई पहुंचे हैं. इनमें राहुल गांधी, गुलाम नबी आजाद, वीरप्पा मोइली, डेरेक ओ ब्रायन, चंद्रबाबू नायडू आदि शामिल हैं.

6:30 pm (IST)

मरीना बीच पर अलागिरी और अन्य डीएमके नेता


6:24 pm (IST)

कड़ी सुरक्षा के बीच डीएमके समर्थक कलईग्नार के लिए नारे लगा रहे हैं और अपनी श्रद्धांजलि अर्पित कर रहे हैं.

LOAD MORE
तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री और डीएमके प्रमुख एम करुणानिधि के पार्थिव शरीर को चेन्नई के मरीना बीच पर बुधवार शाम दफनाया गया. इससे पहले चेन्नई के राजाजी हॉल से मरीना बीच तक उनकी शवयात्रा निकाली गई जिसमें लाखों की तादाद में लोग शामिल हुए. बुधवार सुबह मद्रास हाईकोर्ट के कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश ने उनका अंतिम संस्कार मरीना बीच पर करने की इजाजत दे दी थी. हाईकोर्ट का यह फैसला सुनते ही राजाजी हॉल के बाहर जमे हजारों डीएमके समर्थकों में खुशी की लहर दौड़ पड़ी, वहीं करुणानिधि के बेटे और उनके सियासी वारिस स्टालिन की आंखों से आंसू छलक आएं. वहीं अपने नेता के अंतिम दर्शन के लिए राजाजी हॉल के बाहर पार्टी समर्थकों का भारी हुजूम लगा रहा, जो किसी भी तरह दर्शन को आतुर थे. इस दौरान पुलिस को भीड़ पर काबू के लिए लाठीचार्ज भी करना पड़ा, इस दौरान मची भगदड़ में कम से कम दो लोगों की मौत हो गई और 26 लोग घायल हुए है. उधर डीएमके के कार्यकारी अध्यक्ष एमके स्टालिन पार्टी कार्यकर्ताओं और समर्थकों से शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील की. स्टालिन ने इसके साथ कहा, 'पुलिस हमें सुरक्षा दे या नहीं, लेकिन मैं आपके पैर पकड़कर विनती और विनर्म निवेदन करता हूं कि शांति व्यवस्था बनाए रखते हुए धीरे-धीरे यहां से हट जाएं.'

दरअसल करुणानिधि की समाधि के डीएमके ने मरीना बीच पर जगह मांगी थी, लेकिन राज्‍य सरकार ने इससे इनकार कर दिया, जिसके बाद पार्टी ने मद्रास हाईकोर्ट में अपील की. उनकी याचिका पर हाईकोर्ट में सुबह आठ बजे से ही सुनवाई जारी है, जहां दोनों पक्ष अपनी-अपनी दलीलें रख रहे हैं. सरकारी वकील ने जहां प्रोटोकॉल और इतिहास का हवाला  दिया, वहीं डीएमके के वकीलों ने इसे लोगों की भावनाओं के जोड़कर पेश किया.

बता दें कि 94 वर्षीय करुणानिधि का मंगलवार शाम को निधन हो गया था. उनका पार्थिव शरीर राजाजी हॉल में रखा गया. राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री सहित तमाम नेताओं ने शोक जताते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी है. वहीं तमिलनाडु सरकार ने उनके निधन पर सात दिन, जबकि कर्नाटक सरकार ने एक दिन के राजकीय शोक की घोषणा की है.

करुणानिधि से जुड़े लेटेस्ट हिंदी न्यूज़ के लिए जुड़े रहिए News18 Hindi के साथ...

फोटो

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

चिंता के विचार आपकी ख़ुशी को बर्बाद कर सकते हैं। ऐसा न होने दें, क्योंकि इनमें अच्छी चीज़ों को ख़त्म करने की और समझदारी में निराशा का ज़हरीला बीज बोने की क्षमता होती है। ख़ुद को हमेशा अच्छा परिणाम पाने के लिए प्रोत्साहित करें और ख़राब हालात में भी कुछ-न-कुछ अच्छा देखने का गुण विकसित करें। ख़ास लोग ऐसी किसी भी योजना में रुपये लगाने के लिए तैयार होंगे, जिसमें संभावना नज़र आए और विशेष हो। भूमि से जुड़ा विवाद लड़ाई में बदल सकता है। मामले को सुलझाने के लिए अपने माता-पिता की मदद लें। उनकी सलाह से काम करें, तो आप निश्चित तौर पर मुश्किल का हल ढूंढने में क़ामयाब रहेंगे। किसी से अचानक हुई रुमानी मुलाक़ात आपका दिन बना देगी। काम के लिए समर्पित पेशेवर लोग रुपये-पैसे और करिअर के मोर्चे पर फ़ायदे में रहेंगे। सफ़र के लिए दिन ज़्यादा अच्छा नहीं है। जीवनसाथी के ख़राब व्यवहार का नकारात्मक असर आपके ऊपर पड़ सकता है। स्वयंसेवी कार्य या किसी की मदद करना आपकी मानसिक शांति के लिए अच्छे टॉनिक का काम कर सकता है। परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading