होम /न्यूज /राष्ट्र /कश्मीर के हालात पर गृह मंत्री अमित शाह की अहम बैठक, टारगेट किलिंग पर बड़ा फैसला संभव

कश्मीर के हालात पर गृह मंत्री अमित शाह की अहम बैठक, टारगेट किलिंग पर बड़ा फैसला संभव

जम्मू-कश्मीर के हालात को लेकर 15 दिनों के अंदर गृह मंत्री अमित शाह की ये दूसरी बड़ी बैठक है.ANI

जम्मू-कश्मीर के हालात को लेकर 15 दिनों के अंदर गृह मंत्री अमित शाह की ये दूसरी बड़ी बैठक है.ANI

गृह मंत्रालय में हो रही बैठक में जम्मू-कश्मीर के उप राज्यपाल मनोज सिन्हा, एनएसए अजीत डोभाल, सेना प्रमुख के अलावा पुलिस, ...अधिक पढ़ें

अमित पांडे

नई दिल्ली. कश्मीर में हिंदुओं पर आतंकी हमलों में हुई बढ़ोतरी और लोगों में फैले डर को देखते हुए केंद्रीय गृह मंत्री ने खुद मोर्चा संभाल लिया है. घाटी के सुरक्षा हालात को लेकर होम मिनिस्ट्री में अहम बैठक चल रही है. गृह मंत्रालय में हो रही इस बैठक में जम्मू-कश्मीर के उप राज्यपाल मनोज सिन्हा और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल भी शामिल हैं. सेना प्रमुख और जम्मू-कश्मीर के डीजीपी के अलावा अर्धसैनिक बलों और खुफिया एजेंसियों के टॉप अधिकारी भी इस बैठक में मौजूद हैं. घाटी में टारगेट किलिंग और आतंकी हमलों को लेकर बैठक में कोई बड़ा फैसला होने की संभावना है.

जम्मू-कश्मीर के हालात को लेकर पिछले 15 दिनों के अंदर गृह मंत्री अमित शाह की ये दूसरी बड़ी बैठक है. इससे पहले, गुरुवार को गृह मंत्री अमित शाह ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और कई शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक की थी. गृह मंत्री ने खुफिया एजेंसी रॉ के प्रमुख सामंत गोयल से भी दोपहर बाद करीब एक घंटे तक बातचीत की. बताया जा रहा है कि होम मिनिस्ट्री में हो रही बैठक में घाटी के सुरक्षा हालात के साथ-साथ विकास कार्यों की समीक्षा भी की जाएगी. अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा पर भी बात हो सकती है .

पिछले कुछ समय से कश्मीर घाटी में अल्पसंख्यक हिंदुओं को निशाना बनाने की घटनाएं काफी बढ़ गई हैं. पिछले एक महीने में ही टारगेटेड किलिंग की 8 घटनाएं सामने आई थीं. गुरुवार को भी आतंकवादियों ने एक हिंदू बैंक मैनेजर की हत्‍या कर दी. इलाक़ाई देहाती बैंक की अरेह शाखा में घुसकर आतंकवादी ने बैंक मैनेजर विजय कुमार को गोली मार दी. अस्पताल ले जाते समय उन्होंने दम तोड़ दिया. इससे कुछ ही घंटे बाद गुरुवार को बडगाम जिले में खांडा माग्रेपोरा इलाके में एक ईंट भट्ठे पर दो गैर कश्मीरियों को निशाना बनाकर फायरिंग की गई. इसमें बिहार के दिलखुश और पंजाब के गुरदासपुर निवासी गोरिया घायल हो गए. दिलखुश की मौत हो गई.

1 मई के बाद से तीन गैर-मुस्लिम सरकारी कर्मचारियों की निशाना बनाकर हत्या हो चुकी है. मंगलवार को सांबा निवासी महिला टीचर रजनी बाला पर आतंकियों ने स्कूल के अंदर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाकर हत्या कर दी थी. 12 मई को आतंकियों ने बडगाम जिले के चाडूरा तहसील कार्यालय में घुसकर कश्मीरी पंडित कर्मचारी राहुल भट की हत्या कर दी थी. इन घटनाओं के बाद कश्मीर से लेकर जम्मू तक जबर्दस्त विरोध प्रदर्शन हुए थे.

कश्‍मीर में बढ़ती टारगेट कि‍लिंग से हिंदू कर्मचारियों में डर का माहौल है. कई संगठनों ने शुक्रवार तक का अल्टीमेटम देते हुए सामूहिक पलायन की चेतावनी दे रखी है. हालांकि कश्‍मीर प्रशासन ने बुधवार को बड़ा फैसला लेते हुए कहा था कि सभी हिंदू कर्मचारियों को जिला मुख्‍यालय पर तैनाती दी जाएगी और उनकी सुरक्षा के इंतजाम किए जाएंगे.

Tags: Amit shah, Jammu kashmir, Kashmir Terror

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें