अमरनाथ यात्रियों को कश्मीर में कोई खतरा नहीं: जम्मू-कश्मीर अलगाववादी

जेआरएल में सैय्यद अली शाह गिलानी, मीरवाइज उमर फारूक और मोहम्मद यासीन मलिक शामिल हैं. अलगाववादियों ने एक बयान में कहा कि कश्मीरी लोगों ने कठिन से कठिन समय में भी आतिथ्य की परंपरा से समझौता नहीं किया.

News18Hindi
Updated: June 16, 2019, 10:12 PM IST
अमरनाथ यात्रियों को कश्मीर में कोई खतरा नहीं: जम्मू-कश्मीर अलगाववादी
अमरनाथ यात्रियों की सुरक्षा को लेकर सवालों के मद्देनजर अलगाववादियों ने कहा कि यात्रियों की सुरक्षा के लिए किसी तरह का खतरा नहीं है (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: June 16, 2019, 10:12 PM IST
कश्मीर के अलगाववादियों ने रविवार को कहा कि अमरनाथ तीर्थयात्रियों को घाटी में कोई खतरा नहीं है. उन्होंने राज्य में आनेवाले तीर्थयात्रियों और पर्यटकों से किसी भी ‘झूठे प्रचार’ पर ध्यान नहीं देने की अपील की.

अलगाववादियों ने कहा कि घाटी के लोग भाईचारे और सांप्रदायिक मेल-जोल को आगे बढ़ाना जारी रखेंगे. ज्वाइंट रेसिस्टेंस लीडरशिप (जेआरएल) के बैनर तले अलगाववादियों ने कहा कि कुछ मीडिया चैनल घाटी में अमरनाथ यात्रा और तीर्थयात्रियों को खतरा बताकर झूठा अभियान चला रहे हैं.

जेआरएल में सैय्यद अली शाह गिलानी, मीरवाइज उमर फारूक और मोहम्मद यासीन मलिक शामिल हैं. अलगाववादियों ने एक बयान में कहा कि कश्मीरी लोगों ने कठिन से कठिन समय में भी आतिथ्य की परंपरा से समझौता नहीं किया.

बयान में कहा गया है कि नई दिल्ली के स्टूडियो में बैठे कुछ मीडिया हाउस झूठा प्रचार कर रहे हैं। अमरनाथ यात्रियों को घाटी में कोई खतरा नहीं है.

ये भी पढ़ें: मसर्रत आलम ने मानी पाकिस्तान समर्थित टेरर फंडिंग की बात: NIA

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
First published: June 16, 2019, 10:12 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...