लाइव टीवी

70 दिन बाद घाटी में हुई मोबाइल फोन की ट्रिंग-ट्रिंग तो ऐसा था आम कश्‍मीरियों का हाल

News18Hindi
Updated: October 14, 2019, 3:54 PM IST
70 दिन बाद घाटी में हुई मोबाइल फोन की ट्रिंग-ट्रिंग तो ऐसा था आम कश्‍मीरियों का हाल
श्रीनगर के लाल चौक पर लोग मोबाइल नेटवर्क सुविधा शुरू होने पर एकदूसरे को ईद की तरह बधाई देते दिखाई दिए.

श्रीनगर (Sri Nagar) में करीब दो महीने बाद मोबाइल नेटवर्क (Mobile Network) फिर एक्टिव होने के बाद लाल चौक (Lal Chowk) पर एकदूसरे को बधाई देते लोग दिखाई दिए. पोस्‍टपेड कनेक्‍शन (Postpaid Connection) वाले लोग कॉल्‍स करने में व्‍यस्‍त दिखे, तो बाकी लोग उनके इर्दगिर्द खड़े हो गए. वहीं, कुछ लोग गाड़ी चलाते समय भी कॉल करते या रिसीव करते नजर आए. श्रीनगर ट्रैफिक पुलिस (Sri Nagar Traffic Police) के एक अधिकारी ने बताया कि जल्‍द ही राज्‍य में ऐसा करने पर चालान (Challan) काटने शुरू कर दिए जाएंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 14, 2019, 3:54 PM IST
  • Share this:
आकाश हसन

श्रीनगर. जम्‍मू-कश्‍मीर (Jammu-Kashmir) में करीब 70 दिन बाद पोस्‍टपेड मोबाइल नेटवर्क (Postpaid Mobile Network) सुविधा फिर शुरू होने पर मुजम्मिल अहमद शाह ने सबसे पहली कॉल अपनी दादी को की. कानून की पढ़ाई कर रहे शाह ने बताया कि वह शोपियां (Shopian) के गेहंद में रहने वाली अपनी दादी से कभी-कभी पड़ोसी के लैंडलाइन से बात कर लेता था. शाह ने बताया कि वह दोपहर के 12 बजने का इंतजार कर रहे थे. दरअसल, हमें बताया गया था कि आज पोस्‍टपेड मोबाइल नेटवर्क सुविधा फिर शुरू हो जाएगी. बता दें कि केंद्र सरकार ने जम्‍मू-कश्‍मीर से अनुच्‍छेद-370 (Article-370) हटाने के बाद मोबाइल फोन नेटवर्क पूरी तरह बंद करने के साथ ही कई तरह की पाबंदियां (Restrictions) लगा दी थीं, जिन्‍हें धीरे-धीरे हटाया जा रहा है.

मोबाइल फोन पर बात कर रहे लोगों को घेरे खड़े थे बाकी लोग
शाह ने कहा कि मुझे अपने माता-पिता की चिंता होती रहती है. पड़ोसी के लैंडलाइन से उतनी बात नहीं हो पाती है. मैंने अपने माता-पिता से कई बार बात की, लेकिन मुझे अपनी दादी की ज्‍यादा चिंता होती थी. वह लैंडलाइन (Landline) पर बात करने के लिए हर बार घर से दूर नहीं आ पाती थीं. अब उनसे बात करने के बाद मुझे काफी तसल्‍ली मिली है. कुछ ऐसा ही नजारा श्रीनगर (Sri Nagar) के लाल चौक (Lal Chowk) पर भी देखने को मिला. लोग मोबाइल नेटवर्क सुविधा शुरू होने पर एकदूसरे को ईद (Eid) की तरह बधाई दे रहे थे. जिन लोगों के पास पोस्‍टपेड कनेक्‍शन (Postpaid Connection) थे, वे अपने परिजनों या दोस्‍तों को कॉल्‍स कर रहे थे. जिनके पास पोस्‍टपेड कनेक्‍शन नहीं थे वे कॉल्‍स कर रहे लोगों को घेरे खड़े नजर आए.

फोन पर बात करते हुए गाड़ी चलाने वालों का कटेगा चालान
इस बीच कुछ लोग गाड़ी चलाते समय भी कॉल करते या रिसीव करते नजर आए. श्रीनगर ट्रैफिक पुलिस (Sri Nagar Traffic Police) के एक अधिकारी ने बताया कि जल्‍द ही जम्‍मू-कश्‍मीर में भी गाड़ी चलाते समय मोबाइल फोन पर बात करने पर चालान (Challan) काटने शुरू कर दिए जाएंगे. एक दुकानदार ने कहा, 'मोबाइल नेटवर्क सुविधा दोबारा शुरू होने पर हमें अहसास हुआ कि सामान्‍य जीवन (Normal Life) क्‍या होता है और इसे हमसे कैसे छीन लिया गया था. कश्‍मीर के बाहर जो लोगों के लिए सामान्‍य बात है, वो हमारे लिए बहुत बड़ा मसला था.'

कश्‍मीर घाटी में इंटरनेट और वेब सर्विस अभी भी रहेंगी बंद
Loading...

कुछ लोगों की कॉल्‍स नहीं लग पा रही थीं, तो वे अपने सर्विस प्रोवाइडर (Service Providers) को फोन कर रहे थे. इनमें से ज्‍यादातर लोगों को कस्‍टमर केयर सेंटर्स (CCC) से पता चला कि उन्‍होंने अपने बिल का भुगतान ही नहीं किया है. बहुत से लोग प्रोविजनल स्‍टोर की ओर दौड़ते हुए और कुछ वहां रिचार्ज कराते हुए नजर आए. हालांकि, दोपहर होने के कारण काफी दुकानें बंद भी थीं. बता दें कि घाटी में 84 लाख फोन कनेक्‍शंस हैं. जम्‍मू-कश्‍मीर प्रशासन ने शनिवार को घोषणा की थी कि करीब 40 लाख पोस्‍टपेड मोबाइल फोन सोमवार दोपहर से शुरू हो जाएंगे. हालांकि, मोबाइल इंटरनेट और वेब सर्विस अभी भी बंद रहेंगी.

ये भी पढ़ें:

हरियाणा पुलिस चुनाव में व्‍यस्‍त, किसान बेधड़क जला रहे हैं पराली
PAK से आतंकवाद को काउंटर करने के लिए NSA डोभाल ने बताया भारत का प्लान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 14, 2019, 3:38 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...