Home /News /nation /

कठुआ केस: बच्ची को खाली पेट खिलाया गया था भांग और नशीली दवाइयां, चार्जशीट में खुलासा

कठुआ केस: बच्ची को खाली पेट खिलाया गया था भांग और नशीली दवाइयां, चार्जशीट में खुलासा

614 पेज की चार्जशीट में 129 गवाहों को शामिल किया गया है, ताकि केस को मजबूत बनाया जा सके.

614 पेज की चार्जशीट में 129 गवाहों को शामिल किया गया है, ताकि केस को मजबूत बनाया जा सके.

सप्लीमेंटरी चार्जशीट में मंदिर के पुजारी सांझी राम को मुख्य आरोपी और साजिशकर्ता बनाया गया है. इसमें केस से जुड़े फॉरेंसिक लैब टेस्ट की रिपोर्ट्स और आरोपियो की कॉल डिटेल भी अटैच की गई हैं. कॉल डिटेल से साफ हो रहा है कि इस केस को लेकर आरोपी एक-दूसरे के संपर्क में थे.

अधिक पढ़ें ...
    जम्मू-कश्मीर के कठुआ में जनवरी में हुए नाबालिग बच्ची से रेप और हत्या के मामले मे क्राइम ब्रांच ने सप्लीमेंटरी चार्जशीट दायर कर दी है. पठानकोट जिला जज की अदालत में सोमवार को ये चार्जशीट दायर की गई. 614 पेज की चार्जशीट में 129 गवाहों को शामिल किया गया है, ताकि केस को मजबूत बनाया जा सके.

    कठुआ केस: बचाव पक्ष के वकील का दावा- बच्‍ची के बलात्कार व हत्या के पीछे ‘जिहादियों’ का हाथ

    सूत्रों के मुताबिक, सप्लीमेंटरी चार्जशीट में मंदिर के पुजारी सांझी राम को मुख्य आरोपी और साजिशकर्ता बनाया गया है. इसमें केस से जुड़े फॉरेंसिक लैब टेस्ट की रिपोर्ट्स और आरोपियो की कॉल डिटेल भी अटैच की गई हैं. कॉल डिटेल से साफ हो रहा है कि इस केस को लेकर आरोपी एक-दूसरे के संपर्क में थे.

    सांझी राम के बेटे शुभम, जिसने वारदात के वक्त कठुआ के बजाय सहारनपुर कॉलेज में होने का दावा किया था, उसकी भी कॉल डिटेल चार्जशीट में अटैच की गई है. अब इस पूरे केस कुल 351 गवाह होंगे, जिनमे कुछ मौके पर थे. इन सभी के बयान रिकॉर्ड किए गए हैं.

    कठुआ रेप केस: मुख्य आरोपियों ने SC में याचिका दायर कर की CBI जांच की मांग

    चार्जशीट में बताया गया है कि बच्ची को मुनार (लोकल भांग) खिलाई गई थी. कुछ नशीली दवाओं का ओवरडोज भी दिया गया था. बच्ची को पहले दिन खाली पेट एपिट्रिल दी गई. दूसरे दिन क्लोनाजेपम की पांच टेबलेट खिलाई गई, जो सामन्य तौर पर 10 गुणा ज्यादा स्ट्रॉन्ग डोज था. मेडिकल रिपोर्ट कहती है कि इस ओवरडोज की वजह से बच्ची को सांस लेने में परेशानी आई, जो कोमा और मौत की तरफ ले जाती है.


    सब इंस्पेक्टर की बैंक डिटेल और अकाउंट नंबर भी चार्जशीट में शामिल किया गया है. सांझी राम की ओर से इंस्पेक्टर के अकाउंट में रिश्वत जमा करने की बात कही गई थी, ताकि इस पूरे केस के दबाया जा सके.

    चार्जशीट में कहा गया है कि इस केस में सभी 8 आरोपियों की पूरी संलिप्तता थी. नाबालिग आरोपी को बालिग साबित करने संबंधी सभी दस्तावेज चार्जशीट में शामिल किए गए हैं. हालांकि, ये मामला अभी कोर्ट में है.

    वहीं, प्रोसिक्यूशन के वकील संतोख सिंह बसरा ने आरोप लगाया कि गवाहों की जानकारी पहले मिलने से धमकी दी गई थी. इस संबंध में शिकायत क्राइम बांच को दी गई है. उन्होंने यह भी कहा कि हम इस केस में सभी गवाहों को कोर्ट में पेश नहीं करेंगे. कुछ मुख्य गवाह ही पेश होंगे.


    बता दें कि कठुआ के रसाना गांव में रहने वाली खानाबदोश समुदाय की 8 साल की बच्ची 10 जनवरी को लापता हो गई थी. 17 जनवरी को उसकी लाश जगंल से बरामद हुई. बच्ची की गैंगरेप के बाद हत्या कर दी गई थी. जम्मू-कश्मीर पुलिस की क्राइम ब्रांच मामले की जांच कर रही है. पठानकोट कोर्ट रोजाना इस केस की सुनवाई कर रहा है.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर