SC ने दी अनुमति, कठुआ मामले में स्टेटस रिपोर्ट दाखिल कर सकती है जम्मू और कश्मीर सरकार

दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली एक पीठ मामले में प्रमुख आरोपी विशाल जंगोत्रा के तीन कालेज मित्रों की नयी याचिका पर सुनवाई कर रही थी. याचिका में आरोप लगाया गया है कि उन्हें जांच के दौरान कथित तौर पर धमकी दी गयी और प्रताड़ित किया गया.

भाषा
Updated: May 16, 2018, 9:51 PM IST
SC ने दी अनुमति, कठुआ मामले में स्टेटस रिपोर्ट दाखिल कर सकती है जम्मू और कश्मीर सरकार
फाइल फोटो
भाषा
Updated: May 16, 2018, 9:51 PM IST
सुप्रीम कोर्ट ने कठुआ में आठ साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म और हत्या के सनसनीखेज मामले में जम्मू कश्मीर सरकार को कल स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करने की आज अनुमति दे दी. इसके पहले राज्य ने आरोप लगाया कि एक आरोपी के तीन कालेज के दोस्तों ने जांच को गुमराह किया. चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली एक पीठ मामले में प्रमुख आरोपी विशाल जंगोत्रा के तीन कालेज मित्रों की नयी याचिका पर सुनवाई कर रही थी. याचिका में आरोप लगाया गया है कि उन्हें जांच के दौरान जम्मू कश्मीर पुलिस की अपराध शाखा द्वारा कथित तौर पर धमकी दी गयी और प्रताड़ित किया गया.

छात्रों साहिल शर्मा , सचिन शर्मा और नीरज शर्मा की ओर से पेश वकील रवि शर्मा ने कहा कि वे जम्मू क्षेत्र से आते हैं और उन्हें तथा उनके परिवारों को धमकी दी जा रही है. पीठ में जस्टिस ए एम खानविलकर और जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ भी शामिल थे. पीठ छात्रों की इस दलील से सहमत नहीं हुआ कि उनकी आगे की पूछताछ की वीडियोग्राफी करायी जाए.

पीठ ने कहा कि हमने विगत में कभी भी ऐसी प्रक्रिया की वीडियो रिकार्डिंग की अनुमति नहीं दी. पूछताछ के समय वकीलों की मौजूदगी की मांग वाली याचिका पर विचार किया जा सकता है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर