Home /News /nation /

kcr who took advantage on telangana name betrayed state and people says bjp lkm

तेलंगाना के नाम पर फायदा उठाने वाले केसीआर ने राज्य और जनता को धोखा दिया: भाजपा

हैदराबाद में बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में बीजेपी के नेता. Twitter

हैदराबाद में बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में बीजेपी के नेता. Twitter

BJP national executive: हैदराबाद में भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक का आज आखिरी दिन है. इस बैठक में भाजपा ने तेलंगाना सरकार पर जमकर प्रहार किया और कहा है कि बीजेपी यहां नेतृत्व करने के लिए तैयार है. बीजेपी ने कहा कि पिछले 8 साल में केसीआर की सरकार ने यहां की जनता को धोखा दिया है.

अधिक पढ़ें ...

हैदराबाद. तेलंगाना पर बीजेपी राष्ट्रीय कार्यकारिणी के दूसरे और अंतिम दिन प्रस्ताव पास किया गया. इस प्रस्ताव के ज़रिये बीजेपी ने केसीआर सरकार पर जमकर निशाना साधा. प्रस्ताव के पास करने के बाद केन्द्रीय मंत्री पीयूष गोयल, जी किशन रेड्डी और तेलंगाना प्रदेश अध्यक्ष बंडी संजय कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि बीजेपी की कार्यकारिणी की बैठक में टीआरएस सरकार के तहत कई महत्वपूर्ण सामाजिक आर्थिक सूचकांकों पर तेलंगाना के पतन की निंदा की. इस प्रस्ताव में हैदराबाद के विलय का ज़िक्र करते हुए कहा गया कि हैदराबाद को भारत में मिलाने के लिए संघर्ष हुआ था. तेलंगाना को एक अलग राज्य बनाने के लिए संघर्ष में बीजेपी ने समर्थन दिया था. बीजेपी बाबासाहेब अम्बेडकर ने कल्पना के तहत तेलंगाना को अपना समर्थन दिया था.

8 साल में तेलंगाना के लोग ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं
पीयूष गोयल ने कहा कि भाजपा द्वारा इस संघर्ष को राष्ट्रीय स्तर पर उठाए जाने के बाद ही इस मांग को भारी प्रोत्साहन मिला. वास्तव में स्वर्गीय सुषमा स्वराज जी को चिनम्मा कहा जाता था. उन्होंने इस पर संसद में कई रैलियां और भाषण दिए. जी किशन रेड्डी ने राव सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि पिछले 8 वर्षों में तेलंगाना के लोग खुद को ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं क्योंकि उनकी सभी आकांक्षाओं के साथ विश्वासघात किया गया है. यहां तक कि मुख्यमंत्री केसीआर कभी मुख्यमंत्री कार्यालय तक नहीं गये बल्कि केबिनेट तक की मीटिंग अपने निजी आवास पर ही करते हैं.

एक परिवार की सरकार है जो भ्रष्टाचार में लिप्त है
बंडी संजय कुमार ने कहा कि तेलंगाना के नाम पर फायदा उठाने वालों ने ही राज्य और जनता को धोखा दिया है. यहां के आम लोग बेहद परेशान हैं. 8 साल बाद भी हालात बेहद खराब हैं, कोई सुधार नहीं हुआ. परिवारवाद पर निशाना साधते हुए कहा कि यह एक परिवार की सरकार है जो भ्रष्टाचार में लिप्त है. एक परिवार के लिए हमने तेलंगाना का समर्थन नहीं किया था. बल्कि यह आम आदमी के उत्थान के लिए था. युवाओं, महिलाओं के लिए कोई प्रयास नहीं हुआ. घोषणाओं के अलावा कुछ नहीं किया गया. वायदे के मुताबिक़ टीआरएस सरकार 1 लाख रिक्त पदों को भरने में विफल रही है. वहीं विश्वविद्यालयों की हालत ख़राब हो चुकी है. शिक्षकों का नामांकन नहीं हो रहा है. स्कूलों के साथ साथ अस्पतालों की हालत भी दयनीय हो गई है.

कई जगहों पर 70 प्रतिशत पद खाली
उन्होंने कहा, हमें लगा कि कोविड के बाद चीजें बदल जाएंगी लेकिन कुछ जगहों पर 70% रिक्तियां हैं. लोगों को पलायन करने के लिए मजबूर किया जा रहा है क्योंकि उनके पास अपने परिवार को पीछे छोड़कर यहां नौकरी का कोई विकल्प नहीं है. तेलंगाना राज्य भारी कर्ज में डूब गया है. कर्ज बेतहाशा बढ़ गया है. हालात इतने बुरे हैं कि राज्य में पानी की किल्लत लगातार जारी है. कालेश्वरम परियोजना भ्रष्टाचार के बड़े आरोपों में घिरी हुई है, लागत में भारी वृद्धि की गई है. इसके साथ ही अन्य सिंचाई परियोजनाओं को भी नुकसान पहुंचा है. टीआरएस तीनों में विफल रही है.

सत्ता में बैठे लोग आपराधिक मामले में शामिल
बीजेपी नेताओं ने कहा कि तेलंगाना को परिवारवाद और भ्रष्टाचार से मुक्त कराने के लिए नये मुक्ति आंदोलन की जरूरत है. कानून व्यवस्था भी एक बहुत बड़ी समस्या है क्योंकि सत्ता में बैठे लोग आपराधिक मामलों में शामिल हैं, यहां तक कि नाबालिगों के खिलाफ भी बहुत सारे अपराध हो रहे हैं.  केसीआर के नेतृत्व में कानून-व्यवस्था नियंत्रण से बाहर हो गई है. केसीआर के भाई भतीजावद नियंत्रण से बाहर है. जिसका ख़ामियाज़ा राज्य की जनता को भुगतना पड़ रहा है. सन 1946-48 के बीच तेलंगाना के लोगों ने रजाकार के खिलाफ लड़ाई लड़ी और आज भी हम ऐसी ही स्थिति देख रहे हैं.

सरकार की स्टीयरिंग एमआईएम के हाथ में
बीजेपी ने बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि आज एमआईएम टीआरएस सरकार के स्टीयरिंग व्हील को नियंत्रित कर रही है, जिसका सबसे बड़ा सबूत है कि रोहिंग्याओं को राशन कार्ड का लाभ मिल रहा है. वहीं दूसरी तरफ़ तेलंगाना के लोगों की तकलीफ़ बढ़ती जा रही है. स्थानीय लोगों ने तेलंगाना के लिए जान भी दिया है. इस राज्य को नंबर वन स्टेट बना सकते थे लेकिन TRS की सरकार नाकाम रही है, सिर्फ भ्रष्टाचार बढ़ा है और इस सरकार को परिवार चला रहा है. केन्द्र सरकार से जो पैसा आया उसको सही से इस्तेमाल नहीं किया गया.

भाजपा तेलंगाना में डबल इंजन सरकार का नेतृत्व करने के लिए तैयार
2019 से TRS की स्थिति कमजोर हो रही है और हमारे चार सासंद जीत कर आये है और उसके बाद से लगातार हमारी जीत हो रही है. यहां की सरकार पर संकट के बादल दिखाई दे रहे है. डंबल इंजन की सरकार तेलंगाना को नेतृत्व  करने के लिए तैयार है. इस स्टेटमेंट को बीजेपी कार्यकारिणी मीटिंग में तेलंगाना बीजेपी नेता जी अरूणा ने रखा. इसके साथ ही बीजेपी नेतृत्व ने तय किया कि अब जिस भी राज्य में राष्ट्रीय कार्यकारिणी की मीटिंग आयोजित होगी, वहां की स्थितियों पर बीजेपी एक स्टेटमेंट जारी किया करेगी.

Tags: BJP, Hyderabad, Narendra modi

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर