अपना शहर चुनें

States

KCR की बेटी कविता बोलीं- GHMC के चुनाव ने हमें सिखाई विधानसभा चुनाव में भाजपा को रोकने की रणनीति

GHMC Results 2020: टीआरएस ने चुनाव परिणामों को उम्मीद के अनुरूप नहीं बताया है, लेकिन इसके कार्यकारी प्रमुख केटी राम राव ने कहा कि इसे लेकर निराश होने की कोई बात नहीं है.
GHMC Results 2020: टीआरएस ने चुनाव परिणामों को उम्मीद के अनुरूप नहीं बताया है, लेकिन इसके कार्यकारी प्रमुख केटी राम राव ने कहा कि इसे लेकर निराश होने की कोई बात नहीं है.

GHMC Results 2020: टीआरएस ने चुनाव परिणामों को उम्मीद के अनुरूप नहीं बताया है, लेकिन इसके कार्यकारी प्रमुख केटी राम राव ने कहा कि इसे लेकर निराश होने की कोई बात नहीं है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 5, 2020, 1:35 PM IST
  • Share this:
हैदराबाद. तेलंगाना में सत्ताधारी दल तेलंगाना राष्ट्र समिति (TRS) ग्रेटर हैदराबाद नगरपालिका चुनाव (GHMC) में सबसे बड़ी पार्टी के रूप बनकर उभरी, लेकिन भाजपा को हुए लाभ का मतलब है कि नए मेयर का चुनाव करने के लिए असदुद्दीन ओवैसी के एआईएमआईएम से उसे समर्थन की आवश्यकता होगी. हालांकि टीआरएस की वरिष्ठ नेता के. कविता ने बताया, 'इस पर अभी कुछ समय है. हम चर्चा करेंगे और उसके बाद निर्णय लेंगे.' मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव की बेटी के. कविता ने कहा कि मंगलवार के चुनाव के परिणामों ने 'आत्मनिरीक्षण' की ओर इशारा किया है. रिजल्ट्स पार्टी की उम्मीद से कम है. उन्होंने कहा कि टीआरएस बहुत कम मार्जिन से करीब एक दर्जन वार्ड हार गई.

कविता ने कहा, 'भाजपा ने नेताओं की लाइन लगा दी और मतदाताओं को भ्रमित किया. हर जगह आक्रामक होना भाजपा की रणनीति है. हम अब भाजपा की रणनीति को समझ रहे हैं. हम यह सुनिश्चित करेंगे कि साल 2023 के विधानसभा चुनाव में एक कदम आगे रहे.' उन्होंने कहा, 'हम कमजोर पार्टी नहीं हैं.  हम 60 लाख सदस्यों वाली संगठित पार्टी हैं. साल 2023 विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखकर हम अपनी लड़ाई जारी रखेंगे.'

NDTV के अनुसार कविता ने कहा 'हमने भाजपा को सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरने से रोकने में कामयाबी हासिल की है. बाकी देश टीआरएस से सीख सकता है. हैदराबाद ने भाजपा को रोकने का रास्ता दिखाया है.'



भाजपा ने हैदराबाद में बढ़ाई पैठ
भाजपा ने कड़े मुकाबले वाले ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (जीएचएमसी) चुनाव में बेहतरीन प्रदर्शन कर यहां अपनी पैठ बढ़ाते हुए राज्य में सत्तारूढ टीआरएस को लगभग भयभीत कर दिया है, जो नगर निकाय पर बमुश्किल अपना कब्जा बरकरार रख पाने में कामयाब रही.

भाजपा के बेहतरीन प्रदर्शन को जहां पार्टी के प्रदेश नेतृत्व ने ‘भगवा हमला’ करार दिया है, वहीं स्थानीय चुनावों के लिए प्रभारी नियुक्त किए गए भाजपा महासचिव भूपेंद्र यादव ने चुनाव में पार्टी के प्रदर्शन को 'नैतिक जीत' बताते हुए कहा कि भगवा पार्टी तेलंगाना में टीआरएस की 'एकमात्र विकल्प' के रूप में उभरी है.

जीएचएमसी चुनाव के तहत एक दिसंबर को मतदान हुआ था. निगम के 150 वार्डों में 146 के चुनाव परिणाम अंतिम समाचार मिलने तक आ चुके थे. इनमें तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) ने 55, जबकि भाजपा ने 48 सीटों पर जीत दर्ज की है. एआईएमआईएम ने 44 और कांग्रेस ने अब तक दो सीटों पर जीत हासिल की है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज