अपना शहर चुनें

States

सरकार का अर्द्धसैनिक बलों को निर्देश- संपर्कों का ब्यौरा रखें, भीड़भाड़ से बचें

गृह मंत्रालय ने अर्द्धसैनिक बलों के जवानों के लिए मास्क अनिवार्य बना दिया है (सांकेतिक फोटो)
गृह मंत्रालय ने अर्द्धसैनिक बलों के जवानों के लिए मास्क अनिवार्य बना दिया है (सांकेतिक फोटो)

यह 22-सूत्री दिशानिर्देश (22-point guidelines) शुक्रवार को जारी किए गए और इसमें गृह मंत्रालय (Home Ministry) ने अर्द्धसैनिक बलों (CAPF) के जवानों के लिए मास्क अनिवार्य बना दिया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. सरकार ने एक नए दिशानिर्देश में अर्द्धसैनिक बलों (Paramilitary forces) से कहा है कि वे रोजाना अपने संपर्कों का ब्यौरा रखें और हाजिरी तथा कैंटीन (Canteen) में भीड़भाड़ से बचें. सरकार ने कोविड-19 महामारी (Covid-19 Pandemic) से इन बलों के करीब 10 लाख कर्मियों की सुरक्षा के लिए नया दिशानिर्देश जारी किए हैं.

यह 22-सूत्री दिशानिर्देश (22-point guidelines) शुक्रवार को जारी किए गए और इसमें गृह मंत्रालय (Home Ministry) ने अर्द्धसैनिक बलों के जवानों के लिए मास्क अनिवार्य बना दिया है.

सामाजिक दूरी का सख्ती से पालन करें और हाथों की सफाई के लिए साबुन-सेनेटाइज़र रखें
निर्देशों में कहा गया है कि वे सामाजिक दूरी (Social Distancing) का सख्ती से पालन करें और हाथों की सफाई के लिए पास में छोटा सा साबुन या सेनेटाइज़र रखें. इसके अलावा अगर कोरोना वायरस से संक्रमण का कोई लक्षण दिखे तो खुद अपना इलाज नहीं करें.
अर्द्धसैनिक बलों को केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (CAPF) भी कहा जाता है.



रिकॉर्ड रखने को कहा गया कि वे किसके संपर्क में आए
निर्देशों में कहा गया है कि जवानों को रिकॉर्ड रखना चाहिए कि वे किसके संपर्क में आए और यह सुनिश्चित किया जाए कि उन्हें पौष्टिक भोजन (Nutritious food) और पीने के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी मिले. इसके साथ ही हर किसी को पर्याप्त नींद लेने की भी सलाह दी गयी है. दिशानिर्देश की प्रति पीटीआई भाषा के पास है.

सीएपीएफ (CAPF) में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल, सीमा सुरक्षा बल, केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (CISF), भारत-तिब्बत सीमा पुलिस और सशस्त्र सीमा बल शामिल हैं.

केंद्रीय गृह मंत्रालय के तहत आने वाले दो अन्य बलों राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (NSG) और असम राइफल्स को भी ऐसे ही निर्देश जारी किए गए हैं.

संपर्क में आए बिना जांच की शुरुआत के निर्देश
दिशानिर्देशों के अनुसार, एकीकृत चेक पोस्ट (ICP) और इसी तरह की अन्य ड्यूटी पर तैनात तैनात जवानों को अनिवार्य रूप से मास्क और दस्ताने पहनने चाहिए क्योंकि उनका काम लोगों की जांच करना भी होता है.

इसमें कहा गया है कि जहां तक संभव हो, संपर्क में आए बिना जांच (Testing) की शुरूआत की जानी चाहिए.

दुनियाभर में 10 लाख से ज्यादा लोग इससे संक्रमित, हजारों की मौत
दिशानिर्देशों में इन बलों के डॉक्टरों और पैरामेडिकल टीमों से कहा गया है कि वे कोरोना वायरस (Coronavirus) के संबंध में जवानों को जागरूक करें. इसके साथ ही उन्हें बताएं कि क्या करना है और क्या नहीं करना है.

इस बीमारी के कारण दुनिया भर में दस लाख से अधिक लोग संक्रमित (Infected) हुए हैं और हजारों लोगों की मौत हो गयी है.

यह भी पढ़ें: कोरोना मरीजों के इलाज के लिए बने 1,919 अस्‍पताल, मई तक 10 लाख जांच किट बनेंगी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज