Kerala Assembly Election 2021: आईयूएमएल कार्यकर्ता की हत्या के आरोपी का शव पेड़ से लटका मिला

 Keala: IUML कार्यकर्ता की हत्या के आरोपी की मौत

Keala: IUML कार्यकर्ता की हत्या के आरोपी की मौत

माकपा और आईयूएमएल के कार्यकर्ताओं बीच हुई झड़प में युवा लीग के एक कार्यकर्ता की हत्या का आरोपी वलयम में मृत अवस्था में पाया गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 10, 2021, 8:34 AM IST
  • Share this:
कन्नूर (केरल).केरल में चुनाव (Kerala Assembly Election 2021)के बाद कथित तौर पर माकपा और आईयूएमएल के कार्यकर्ताओं बीच हुई झड़प में युवा लीग के एक कार्यकर्ता की हत्या का आरोपी शुक्रवार को वलयम में एक सुनसान जगह पर मृत अवस्था में पाया गया. पुलिस ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि मृतक का नाम रतीश (36) है और वह पनूर का निवासी था.

पुलिस के एक अधिकारी ने कहा, 'कुछ स्थानीय लोगों ने पुलिस को बताया कि किसी अज्ञात व्यक्ति का शव पेड़ से लटका मिला है. हमने उसकी तस्वीर सब जगह वितरित की जिसके बाद पता चला कि मृतक आईयूएमएल कार्यकर्ता की हत्या के मामले में आरोपी था.' गौरतलब है कि युवा लीग के सदस्य मंसूर (22) की कुछ दिन पहले हत्या कर दी गई थी.

भड़क गई थी हिंसा

बता दें आईयूएमएल की युवा शाखा के एक सदस्य की मौत होने पर बुधवार रात हिंसा भड़क गई थी. इस दौरान वामदलों के कम से कम 10 कार्यालयों में तोड़फोड़ की गई, जिसके चलते पुलिस को लाठी चार्ज करना पड़ा था. चुनाव के बाद माकपा और आईयूएमएल के कार्यकर्ताओं के बीच मंगलवार को हुई झड़प में युवा लीग के 22 वर्षीय सदस्य मंसूर की मौत हो गई और उसके जनाजे के दौरान व्यापक स्तर पर हिंसा देखने को मिली.


जिलाधिकारी टी वी सुभाष ने इस मुद्दे पर बृहस्पतिवार को सर्वदलीय बैठक बुलाई थी. पार्टी के एक सूत्र ने बताया था कि कन्नूर जिले के पनूर में माकपा कार्यालयों पर हमला किया गया और उन्हें आग के हवाले कर दिया गया.कन्नूर पुलिस अधीक्षक इलांगो आर. ने कहा कि कोलवेल्लुर थाना अंतर्गत क्षेत्र में पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए लाठी चार्ज किया था.

राज्य में 74.02 प्रतिशत मतदान



बता दें केरल विधानसभा चुनाव के तहत मंगलवार को मतदान शांतिपूर्वक संपन्न हो गया था. राज्य में 74.02 प्रतिशत मतदान हुआ था. कुछ स्थानों पर फर्जी मतदान और झड़प की घटनाओं को छोड़ कर ज्यादातर जगहों पर मतदान की प्रक्रिया पूरी तरह से शांतिपूर्ण रही थी.

मुख्य निर्वाचन अधिकारी टीका राम मीणा ने कहा था कि 140 विधानसभा सीटों के लिए मतदान पूरी तरह से शांतिपूर्ण, स्वतंत्र और निष्पक्ष रहा. कुछ राजनीतिक दलों द्वारा फर्जी मतदान के आरोप लगाये जाने पर उन्होंने कहा था कि आयोग को अभी तक ऐसी कोई सूचना नहीं मिली है. (भाषा इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज