'मेट्रो मैन' ई श्रीधरन होंगे बीजेपी में शामिल, कहा- अचानक नहीं लिया यह फैसला

 ई. श्रीधरन ने  . फाइल फोटो

ई. श्रीधरन ने . फाइल फोटो

केरल में विधानसभा चुनाव के पहले मेट्रो मैन ई श्रीधरन ( E Sreedharan) भारतीय जनता पार्टी में शामिल होंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 18, 2021, 2:30 PM IST
  • Share this:
तिरुवनंतपुरम. मेट्रो मैन ई श्रीधरन (Metro Man E Sreedharan) भारतीय जनता पार्टी में शामिल होंगे. केरल में विधानसभा चुनाव के पहले भाजपा के लिए राज्य में यह बड़ी सफलता मानी जा रही है. बताया गया कि पार्टी की राज्य इकाई के अध्यक्ष के सुरेंद्रम की अगुवाई में 21 फरवरी को होने वाली विजय यात्रा में श्रीधरन, भाजपा में शामिल होंगे.

श्रीधरन ने मलयालम मनोरमा अखबार को बताया, 'यह निर्णय अचानक नहीं लिया है. मैं पिछले एक दशक से केरल में हूं और राज्य के लिए कुछ करना चाहता हूं. मैं अकेले कुछ नहीं कर सकता. इसलिए मैं पार्टी में शामिल हुआ.' राज्य में मेट्रो परियोजनाओं पर केरल सरकार को सलाह देने वाले श्रीधरन ने कहा कि वह अब इसे बंद कर देंगे. अखबार के अनुसार श्रीधरन ने कहा, 'मैं भाजपा केंद्रित गतिविधियों पर ध्यान केंद्रित करूंगा.'

साल 2017 में लखनऊ मेट्रो के उद्घाटन के दौरान एक मामूली विवाद हुआ था, जिसमें बाद भाजपा के शीर्ष नेता फ्रेम में 'मेट्रो मैन' रखना भूल गए थे. इवेंट में श्रीधरन को दरकिनार कर दिया गया, जिसकी एक फोटो वायरल हो गई  थी.

सीएम योगी आदित्यनाथ दिखाएंगे यात्रा को हरी झंडी
केरल बीजेपी अध्यक्ष के सुरेंद्रम के मुताबिक श्रीधरन आधिकारिक तौर पर बीजेपी के साथ राज्य में 21 फरवरी से शुरू होने वाली विजय यात्रा के दौरान जुड़ेंगे. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और बीजेपी के फायर ब्रांड नेता योगी आदित्यनाथ राज्य के विधानसभा चुनावों से पहले होने जा रही इस यात्रा को हरी झंडी दिखाएंगे. ये यात्रा कारसगोड से शुरू होगी और कई विधानसभा से होते हुए मार्च के पहले हफ्ते में तिरुवनंतपुरम में खत्म होगी.

बीजेपी ने राज्य में अपना जनाधार बढ़ाने के प्रयास में इस यात्रा को बनाया. इस दौरान राज्य के कई और सीनियर लोगों को भी पार्टी के साथ जोडकर एक बड़ा संदेश देने की कोशिश की जाएगी. मूल रूप से केरल के ही रहने वाले श्रीधरन मेट्रो से रिटायर होने के बाद अपने राज्य में ही रह रहे हैं.

श्रीधरन के क्या संदेश देना चाहती है बीजेपी?



दुनिया भर में मेट्रो के कारण मशहूर हुए केरल के भूमिपुत्र को पार्टी में शामिल कराकर बीजेपी एक बड़ा संदेश देना चाहती है कि विकास के पहिए को रफ्तार बीजेपी ही दे सकती है. श्रीधरन को साल 2001 में पद्म श्री और साल 2008 में पद्म विभूषण सम्मान से सम्मानित किया गया था. अमेरिका की प्रसिद्ध मैग्जीन भी उन्हें एशिया के हीरो के तौर पर बता चुकी है.

हालांकि अभी ये तय नहीं है कि श्रीधरन विधानसभा का चुनाव लड़ेंगे या नहीं. केरल में इसी साल अप्रैल में चुनाव होने हैं. राज्य में कुल 140 सीट हैं, हालांकि पिछली बार हुए चुनाव में बीजेपी सिर्फ एक ही सीट जीत पाई थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज