Home /News /nation /

Kerala Elections: BJP MLA बोले-केरल में 90% साक्षरता पार्टी की तरक्की में रोड़ा, थरूर ने ले लिए मजे

Kerala Elections: BJP MLA बोले-केरल में 90% साक्षरता पार्टी की तरक्की में रोड़ा, थरूर ने ले लिए मजे

शशि थरूर ने राजगोपाल की बात पर लिए मजे. (File pic)

शशि थरूर ने राजगोपाल की बात पर लिए मजे. (File pic)

Kerala Elections 2021: शशि थरूर ने ट्वीट किया, 'एक आधिकारिक बीजेपी सूत्र ने माना कि केरलवासी बीजेपी को वोट नहीं देते क्योंकि वे शिक्षित हैं और सोच सकते हैं.'

    नई दिल्‍ली. केरल विधानसभा चुनाव 2021 (Kerala Assembly Elections 2021) में कुछ ही दिनों का वक्‍त बचा है. ऐसे में राज्‍य में सभी राजनीतिक दल मतदाताओं को लुभाने में जुटे हैं. बीजेपी (BJP), कांग्रेस (Congress) और वामपंथी दल (LDF) राज्‍य में चुनावों को लेकर पूरी ताकत झोंक रहे हैं. इस बीच 2016 में केरल में बीजेपी के लिए इकलौती सीट जीतने वाले ओ राजगोपाल (O Rajagopal) ने राज्‍य में होने वाले इन चुनाव को लेकर बात कही है. बीजेपी विधायक ओ राजगोपाल ने कुछ ऐसे बिंदु गिनाए हैं जो राज्‍य में बीजेपी की सफलता में रोड़ा हैं. उनके इस बयान पर शशि थरूर (Shashi Tharoor) ने प्रतिक्रिया देते हुए अपने अंदाज में मजे लिए हैं.

    इस बार नहीं लड़ रहे चुनाव
    ओ राजगोपाल इस बार चुनाव नहीं लड़ रहे हैं. वह पिछली बार नेमन सीट से चुनाव जीते थे. इंडियन एक्‍सप्रेस को दिए इंटरव्‍यू में उन्‍होंने कहा है, 'मैं अब 93 साल का हूं. मेरा खराब स्‍वास्‍थ्‍य अब मुझे निर्वाचित व्‍यक्ति के रूप में कार्य करने की अनुमति नहीं देता है. इसलिए मैंने चुनाव न लड़ने का फैसला किया. इस बार राजशेखरन चुनाव लड़ रहे हैं. मुझे उम्‍मीद है कि वह जीतेंगे.'

    बीजेपी की जीत में बाधाएं
    राजगोपाल ने इंटरव्‍यू में केरल में बीजेपी के कमजोर रहने पर भी बात की. जब उनसे पूछा गया कि राज्‍य में बीजेपी राजनीतिक स्‍थान क्‍यों नहीं हासिल कर पा रह है तो उन्‍होंने कहा, 'केरल में कई विभिन्‍नताएं हैं. इसके दो से तीन कारक हैं. केरल में 90 फीसदी साक्षरता है. यहां लोग सोचते हैं, वे तार्किक हैं. यह साक्षर व्‍यक्ति की पहचान है. यह पहला कारक है. दूसरा कारक है कि राज्‍य में 55 फीसदी हिंदू हैं और 45 फीसदी अल्‍पसंख्‍यक हैं. गणना में हर पहलू लागू होता है. यही कारण है कि केरल की तुलना किसी राज्‍य से नहीं की जा सकती है. यहां स्थिति अलग है. लेकिन हम धीरे-धीरे बढ़ रहे हैं.'





    कांग्रेस की स्थिति खराब
    ओ राजगोपाल ने कहा, 'यह त्रिकोणीय चुनाव हो सकता है. लेकिन कांग्रेस की राष्‍ट्रीय स्‍तर के साथ ही राज्‍य स्‍तर पर छवि कमजोर है. यह एक तथ्‍य है. मुरलीधरन नेमोन सीट से कांग्रेस के प्रत्‍याशी हैं. इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि उनके पिता करुणाकरण बड़े नेता रहे हैं. मेरी मुरलीधरन से निजी दुश्‍मनी नहीं है. लेकिन तथ्‍य यह है कि पिता पिता ही होता है और बेटा बेटा होता है.'

    तो क्‍या लेफ्ट को बढ़त
    राजगोपाल से पूछा गया कि क्‍या केरल में लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट को बढ़त मिल रही है? इस पर उन्‍होंने कहा, 'यह कहना मुश्किल है. लेकिन ऐसा प्रतीत होता है कि थोड़ी बढ़त है. क्‍योंकि विपक्ष जनता के बीच भरोसा जीतने में विफल रहा है. कांग्रेस नेता रमेश चेन्‍नीथला समझदार हो सकते हैं लेकिन लोग कांग्रेस के साथ जुड़ने से डर रहे हैं. कांग्रेस एक डूबती कश्‍ती है.'

    शशि थरूर ने लिए मजे
    शशि थरूर ने इस इंटरव्‍यू पर बीजेपी के मजे लेते हुए ट्वीट किया, 'एक आधिकारिक बीजेपी सूत्र ने माना कि केरलवासी बीजेपी को वोट नहीं देते क्योंकि वे शिक्षित हैं और सोच सकते हैं!!'

    Tags: Assembly Election 2021, BJP, Kerala, Kerala Elections 2021, SHASHI THAROOR

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर