अपना शहर चुनें

States

केरल: जंगली हाथी के हमले में महिला पर्यटक की मौत, प्रशासन सख्त

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

Kerala News: जिला कलेक्टर अदीला अब्दुल्लाह ने मामले के संबंध में तहसीलदार से रिपोर्ट मांगी है. वहीं, कलेक्टर ने यह साफ किया है कि सुरक्षा व्यवस्थाओं को लेकर जांच की जाएगी. मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया है कि अनाधिकृत टेंट्स को बैन किया जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 24, 2021, 1:34 PM IST
  • Share this:
वायनाड. केरल के वायनाड (Waynad) जिले के मेप्पडी स्थित रिजॉर्ट में एक जंगली हाथी ने एक महिला पर्यटक (Female Tourist Died) को कुचल दिया, जिससे उसकी मौत हो गई. पुलिस ने यह जानकारी दी. पुलिस ने बताया कि यह स्तब्ध करने वाली घटना शनिवार रात आठ बजे वर्षावन स्थित रिजॉर्ट में हुई. पुलिस ने बताया कि महिला पर्यटक का नाम शहाना था और वह कन्नूर की रहने वाली थी. वह कॉलेज में प्रवक्ता पद पर तैनात थी.

उन्होंने बताया कि वह परिवार के दो सदस्यों के साथ रिजॉर्ट आई थी और तंबू में रह रही थी. जानकारी के अनुसार, रिजॉर्ट जंगल के पास है जहां पर अक्सर जंगली हाथी आते हैं. पुलिस ने बताया कि जंगली हाथी की चिंघाड़ने की आवाज सुनकर महिला और दो अन्य लोग तंबू से बाहर आए तभी हाथी ने उनपर हमला कर दिया. उन्होंने बताया कि दो अन्य लोग सुरक्षित भागने में कामयाब रहे लेकिन महिला की मौत हो गई. पुलिस ने बताया कि महिला को अस्पताल ले जाया गया लेकिन उसकी जान नहीं बचाई जा सकी. वायनाड की जिलाधिकारी अदीला अब्दुल्ला ने रिजॉर्ट का दौरा किया और तहसीलदार से रिपोर्ट तलब की है.

जाल में फंसा था 50 किलो का तेंदुआ, पकाकर खा गए 5 लोग, अब गिरफ्तार



इस घटना के बाद से ही प्रशासन सक्रिय हो गया है. कलेक्टर ने यह साफ किया है कि सुरक्षा व्यवस्थाओं को लेकर जांच की जाएगी. वहीं, मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया है कि अनाधिकृत टैंट्स को बैन किया जाएगा और अगर मालिक बगैर इजाजत लिए पर्यटकों को रुकने की अनुमति देते हैं, तो उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. महिला की मौत के बाद रिजॉर्ट में सुरक्षा व्यवस्थाओं पर सवाल उठने लगे हैं.

न्यूज वेबसाइट कौमुदी ऑनलाइन के अनुसार, इस घटना को लेकर वन विभाग ने निजी रिजॉर्ट पर आरोप लगाए हैं. विभाग का कहना है कि रिजॉर्ट में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम नहीं थे. रिपोर्ट्स के मुताबिक, वन विभाग के अधिकारियों ने कहा कि जंगल में तंबू बगैर लाइसेंस के खड़े किए गए थे. वहीं, मालिक ने दावा किया है कि सरकार टेंट्स के लिए लाइसेंस जारी नहीं कर रही है.

(भाषा इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज