केरल में अगले 4 दिन भारी बारिश की आशंका नहीं, बचाव अभियान तेज, रिलीफ कैम्प में 7 लाख लोग

रविवार को केरल के बाढ़ प्रभावित इलाकों से 22,034 लोगों को बचाया गया है, वहीं रविवार को केरल में 13 लोगों की मौत हुई है. पूरे राज्य में 5645 राहत शिविर बनाए गए हैं जहां 7 लाख, 24 हजार 649 लोगों को रखा गया है.

News18Hindi
Updated: August 19, 2018, 11:37 PM IST
केरल में अगले 4 दिन भारी बारिश की आशंका नहीं, बचाव अभियान तेज, रिलीफ कैम्प में 7 लाख लोग
केरल में अगले चार दिनों तक भारी बारिश की संभावना नहीं है.
News18Hindi
Updated: August 19, 2018, 11:37 PM IST
केरल में हो रही मूसलाधार बारिश में रविवार को 13 और लोगों की जान चली गई जिससे पिछले दस दिनों में बारिश से मरने वालों की संख्या 210 हो गई है. मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन ने कहा कि बाढ़ के पानी में फंसे अधिकतर लोगों को बचा लिया गया है और अब उनके पुनर्वास पर ध्यान केंद्रित किया जा रहा है.

करीब दो हफ्ते तक लगातार बारिश के बाद राज्य के अधिकतर हिस्से में रविवार को बारिश से राहत मिली और कई जिलों में रेड अलर्ट वापस ले लिया गया है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने केरल के राज्यपाल पी. सदाशिवम और मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन से बात की और स्थिति की जानकारी ली.  केरल में करीब सौ वर्षों में आई सबसे भीषण बाढ़ के कारण आठ अगस्त से अब तक 210 लोगों की जान जा चुकी है और 29 मई को राज्य में दक्षिण पश्चिम मॉनसून के आने के बाद से अब तब करीब 400 लोगों की जान जा चुकी है. बारिश के कारण 80 से ज्यादा बांधों को खोलना पड़ा जिससे बाढ़ आ गई जबकि बारिश से भूस्खलन भी हुआ. बुरी तरह प्रभावित जिलों में इडुक्की, मलप्पुरम और त्रिशूर शामिल हैं.

मौसम विभाग ने कहा कि केरल में पिछले दो दिनों में बारिश की तीव्रता कम रही और अगले चार दिनों में भारी बारिश का कोई अलर्ट नहीं है. इस बीच केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन ने रेस्क्यू में जुटी टीमों, केंद्र सरकार, राज्यों और सीएम रिलीफ फंड के लिए मदद का हाथ बढ़ाने वाली आम जनता का आभार जताया. विजयन ने कहा कि केंद्र सरकार ने अधिक मदद का आश्वासन दिया है.  (बाढ़ और बचाव कार्य से जुड़े लाइव अपडेट्स के लिए क्लिक करें)

विजयन ने कहा कि प्रदेश में 221 ब्रिज तबाह हो गए हैं और सड़कों को भी भारी नुकसान पहुंचा है. इस वजह से ही सबसे अधिक नुकसान हुआ है. उन्होंने बताया कि अस्थाई सड़कों का निर्माण किया जा रहा है. इसके साथ ही विजयन ने जनता से अफवाहों से बचने की अपील की. उन्होंने कहा कि गलत संदेश रेस्क्यू ऑपरेशन को प्रभावित करते हैं. उन्होंने जानकारी दी राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी फोन पर उनसे बाढ़ के हालातों की जानकारी ली है.

आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, रविवार को केरल के बाढ़ प्रभावित इलाकों से 22,034 लोगों को बचाया गया है, वहीं रविवार को केरल में 13 लोगों की मौत हुई है. पूरे राज्य में 5645 राहत शिविर बनाए गए हैं जहां 7 लाख, 24 हजार 649 लोगों को रखा गया है.

उपभोक्ता मामलों के विभाग ने सौ मीट्रिक टन दाल को हवाई मार्ग से पहुंचाने की व्यवस्था की है और अतिरिक्त दाल रेलगाड़ी से भेजी जाएगी. पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय ने केरल के लिए 9300 किलोलीटर केरोसीन तेल उपलब्ध कराया है. 12 हजार किलोलीटर अतिरिक्त किरासन तेल आवंटित किए जाएगा. कोच्चि में एलपीजी बोटलिंग संयंत्र को खोल दिया गया है. स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय सोमवार को 60 टन आपातकालीन दवाएं भेजेगा. रेलवे चादरें और कंबल मुहैया कराएगा वहीं एयर इंडिया ने राहत सामग्री नि:शुल्क पहुंचाने की पेशकश की है.

जब महिलाओं को बचाने के लिए सीढ़ी बन गया यह मछुआरा
Loading...

वहीं एनडीआरएफ के आधिकारिक बयान के मुताबिक प्रभावित इलाकों से अब तक 15,000 से ज्यादा लोगों को निकाला गया है और बेहद खराब हालात वाले इलाकों में बचाव अभियान तेज कर दिया गया है. एनडीआरएफ ने कहा है कि दक्षिणी राज्य में एक सदी में सबसे भीषण बाढ़ के बीच मुश्किल परिस्थितियों में कुल 58 टीम काम कर रही है और हर टीम में करीब 30-35 कर्मी हैं.

केरल बाढ़ के लिए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने 10 करोड़ की सहायता का ऐलान किया है. वहीं ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने 5 करोड़ की अतिरिक्त सहायता देने का फैसला किया है.  इससे पहले उन्होंने 5 करोड़ की सहायता देने का ऐलान किया था. वहीं तेलंगाना के गृहमंत्री ने रविवार को केरल के सीएम को 25 करोड़ रुपये का चेक दिया. इसके साथ ही तेलंगाना की तरफ से आरओ की 50 मशीनें भी केरल भेजी जाएंगी ताकि बाढ़ प्रभावित लोगों को पीने का साफ पानी मिल सके. इसके साथ ही फिल्म सितारों और कई कंपनियों ने मदद का हाथ बढ़ाया है.  वहीं आंध्र प्रदेश के IAS अधिकारियों ने केरल बाढ़ के लिए अपनी एक दिन की सैलरी दान करने का फैसला किया है.

'हिंदू खाते रहे बीफ, तो हमेशा होगी ऐसी समस्या'

पोप ने की मदद की अपील
पोप फ्रांसिस ने आज अंतरराष्ट्रीय समुदाय का आह्वान किया कि वह बाढ़ से प्रभावित केरल के पीड़ितों की ‘‘ठोस मदद’’ करें. वेटिकन न्यूज के मुताबिक पोप फ्रांसिस ने सेंट पीटर्स स्क्वायर पर बाढ़ पीड़ितों के लिये प्रार्थना की. उन्होंने कहा, ‘‘केरलवासी भारी बारिश से आई बाढ़ की विभीषिका में फंस गए हैं. व्यापक जनहानि हुई है, कई लोग लापता और विस्थापित हैं. फसलों और घरों को भी काफी नुकसान पहुंचा है.’’ उन्होंने उम्मीद जताई कि ‘‘इन भाइयों और बहनों’’ को अंतरराष्ट्रीय समुदाय की एकजुटता और ठोस मदद मिलेगी. उन्होंने केरल के चर्चों का भी जिक्र किया जो लोगों को मदद पहुंचाने के लिये अग्रणी भूमिका निभा रहे हैं.

विदेशों ने बढ़ाया मदद का हाथ
कतर ने रविवार को केरल के लिए 34.89 करोड़ रुपये की सहायता का ऐलान किया है. कतर के आमिर आमिर शेख तमीम बिन हमाद अल-थानी ने बाढ़ से बेघर हुए लोगों के पुनर्वास के लिए 34.89 करोड़ रुपये की सहायता भेजने का ऐलान किया है. वहीं संयुक्त अरब अमीरात में भारतीय मूल के अरबपति उद्योगपतियों ने केरल में बाढ़ पीड़ितों की सहायता के लिए 12.5 करोड़ रुपये देने की घोषणा की है.

(भाषा इनपुट के साथ)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 19, 2018, 8:55 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...