केरल बाढ़- 'वहां हिन्दू खाते रहे बीफ तो आती ही रहेगी ऐसी विपदा'

केरल बाढ़- 'वहां हिन्दू खाते रहे बीफ तो आती ही रहेगी ऐसी विपदा'
फाइल फोटो- PTI

एक ओर जहां सोशल मीडिया पर लोग एक दूसरे को केरल की मदद करने के लिए कह रहे हैं, वहीं कुछ ऐसे लोग भी है जो लिख रहे हैं कि यह आपदा इसलिए आई क्योंकि यहां के लोग बीफ खा रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 19, 2018, 2:17 PM IST
  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
केरल में आई प्राकृतिक आपदा में अब तक 350 से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं. राज्य में सेना, एनडीआरएफ, स्थानीय पुलिस और मछुआरों के समूह लोगों को बचा कर सुरक्षित स्थान पर ले जा रहे हैं. इसके साथ ही राज्य को चारों ओर से मदद मिल रही है, ताकि विपदा की इस घड़ी में वहां के नागरिकों को भोजन या रोजमर्रा की वस्तुओं की कमी ना होने पाए. इन सबके बीच कुछ लोग आरोप लगा रहे हैं कि ऐसा इसलिए क्योंकि लोग बीफ खा रहे हैं.

एक ओर जहां सोशल मीडिया पर लोग एक दूसरे को केरल की मदद करने के लिए कह रहे हैं, वहीं कुछ ऐसे लोग भी हैं, जिन्होंने लिखा कि यह आपदा इसलिए आई क्योंकि यहां के लोग बीफ खा रहे हैं. उनके अनुसार, 'गॉड्स ओन कंट्री' के लोगों ने बीफ खाकर ईश्वर को नाराज़ कर दिया है. कुछ लोग सोशल मीडिया पर यहां तक लिख रहे हैं कि अगर यहां बीफ खाना बैन नहीं हुआ तो केरल ऐसी आपदाओं का हकदार है.

यह भी पढ़ें: केरल बाढ़: यूपी के पुलिसकर्मी देंगे एक दिन का वेतन, डीजीपी ने की अपील



ऐसे समय में जबकि पूरा देश केरल के लिए प्रार्थनाएं कर रहा है, उस वक्त लोग सोशल मीडिया पर यह तक लिख रहे हैं, 'कैसी मदद? अधिकतर केरल के बाहर, खाड़ी आदि में काम करते हैं. ऐसे कॉमरेड्स का लिए इस्लामिक संगठन और चर्च उनकी अच्छा देखभाल करते हैं. आप उन्हें खाना देकर उनकी मदद करना चाहेंगे तो वह बीफ करी मागेंगे.'












यह भी पढ़ें: पढ़ाई के लिए मछली बेचने पर ट्रोल हुई थी ये छात्रा, अब केरल बाढ़ के लिए डोनेट किए डेढ़ लाख

इससे पहले सोशल मीडिया पर कुछ लोगों ने इस बाढ़ को सबरीमाला मंदिर में महिलाओं की एंट्री से भी जोड़ कर पेश किया. रिजर्व बैंक के बोर्ड में पार्ट टाइम नॉन ऑफिशियल डायरेक्‍टर के रूप में नियुक्‍त किए गए एस गुरुमूर्ति ने भी बाढ़ का सबरीमाला कनेक्‍शन जोड़ते हुए ट्वीट किया. उन्‍होंने लिखा, 'सुप्रीम कोर्ट के जज इस बात को देख सकते हैं इस मामले (मंदिर में प्रवेश की मांग) और सबरीमाला में कोई कनेक्‍शन है क्‍या. अगर लाख में से एक बार भी ऐसा हो सकता है तो लोग नहीं चाहेंगे कि केस अयप्‍पन के खिलाफ हो.'

वहीं हरि प्रभाकरण नाम के एक यूजर ने लिखा, 'कोई कानून भगवान से बड़ा नहीं होता है... यदि आप सभी को अनुमति देंगे तो वह सबको मना कर देगा.'

यह भी पढ़ें:केरल बाढ़: Paytm के मालिक ने दान दिए दस हज़ार रुपये, सोशल मीडिया पर किरकिरी
First published: August 19, 2018, 1:31 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading