केरल सोना तस्करी: NIA ने स्वप्ना सुरेश और एक अन्‍य को हिरासत में लिया, कल कोच्चि में होगी पेशी

केरल सोना तस्करी: NIA ने स्वप्ना सुरेश और एक अन्‍य को हिरासत में लिया, कल कोच्चि में होगी पेशी
केरल सोना तस्करी: NIA ने स्वप्ना सुरेश को हिरासत में लिया

Kerala Gold Smuggling Case: आरोपी स्वप्ना सुरेश (Swapna Suresh) उन चार आरोपियों में से एक है जिनके खिलाफ 30 किलोग्राम सोने की तस्करी मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने मामला दर्ज किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 11, 2020, 10:13 PM IST
  • Share this:
बेंगलुरु. केरल सोना तस्करी मामले (Kerala Gold Smuggling Case) में आरोपी स्वप्ना सुरेश (Swapna Suresh) और संदीप नायर को राष्ट्रीय जांच एजेंसी/एनआईए (NIA) ने बेंगलुरु में हिरासत में ले लिया है. स्वप्ना के परिजनों को भी हिरासत में लिया गया है. आरोपियों को रविवार को कोच्चि में एनआईए कार्यालय में पेश किया जाएगा. तिरुवनंतपुरम अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर राजनयिक के सामान के जरिये 30 किलोग्राम सोने की तस्करी के मामले में एनआईए ने स्वप्ना समेत चार आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. तिरुवंतपुरम से स्वप्ना, सारिथ और संदीप नायर और एर्णाकुलम के फाजिल फरीद का नाम तस्करी मामले में आरोपियों के रूप में है. एनआईए समेत केन्द्रीय एजेंसियों और सीमा-शुल्क विभाग ने केरल उच्च न्यायालय में उसकी (स्वप्ना) अग्रिम जमानत याचिका का विरोध किया था.

केरल के मुख्यमंत्री पिनारयी विजयन ने शनिवार को कहा कि सोना तस्करी मामले में मुख्य महिला आरोपी स्वप्ना सुरेश द्वारा एक सरकारी परियोजना में नियुक्ति हासिल करने के लिए दिये गये कथित फर्जी डिग्री प्रमाणपत्र को लेकर मिली शिकायत की जांच कराई जायेगी. विजयन ने यहां पत्रकारों से कहा, 'पुलिस को शिकायत मिली है. इसकी जांच कराई जायेगी.' सनसनीखेज सोने की तस्करी मामले की दूसरी आरोपी इस महिला ने केरल राज्य सूचना प्रौद्योगिकी अवसंरचना लिमिटेड (केएसआईटीआईएल) के तहत यहां स्पेस पार्क में नियुक्ति हासिल करने के लिए बी कॉम का फर्जी प्रमाणपत्र कथित तौर पर सौंपा था.

विजयन ने कहा, 'यह स्वाभाविक है कि एक जांच की जाएगी और पुलिस उसके लिए कदम उठाएगी.' यह महिला उन चार आरोपियों में से एक है जिनके खिलाफ 30 किलोग्राम सोने की तस्करी मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने मामला दर्ज किया है.



ये भी पढ़ें: वंदे भारत ट्रेन बनाने के लिए चीनी ज्वाइंट वेंचर को नहीं दिया जाए मौका: CAIT
ये भी पढ़ें: आखिर क्या है केरल का गोल्ड घोटाला? जिससे हिल गई राज्य सरकार

सोना तस्करी मामला: कांग्रेस, भाजपा के युवा संगठनों का प्रदर्शन जारी
वहीं इस मामले ने राजनीतिक रंग भी ले लिया है. कांग्रेस और भाजपा के युवा संगठनों के कार्यकर्ताओं ने सोना तस्करी मामले में केरल के मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन के इस्तीफे की मांग को लेकर जारी विरोध-प्रदर्शनों के दूसरे दिन शनिवार को राज्यभर में प्रदर्शन किये. ये प्रदर्शन कुछ स्थानों पर हिंसक हो गए. वहीं मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 प्रोटोकॉल का उल्लंघन करते हुए ऐसे प्रदर्शन आयोजित करने की इजाजत नहीं दी जाएगी. उन्होंने कहा कि सरकार किसी के प्रदर्शन करने के अधिकार पर सवाल नहीं उठा रही है.

विपक्षी पार्टियां मुख्यमंत्री पर तब से निशाना साध रही हैं जब यह बात सामने आई कि मामले में मुख्य संदिग्ध एवं संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के वाणिज्य दूतावास की पूर्व कर्मचारी स्वप्ना सुरेश को आईटी विभाग द्वारा संविदा पर नौकरी पर रखा गया था. यह प्रभार विजयन के पास है. महिला को बाद में हटा दिया गया था. राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने इस मामले की जांच अपने हाथ में ले ली है. शुक्रवार को एनआईए ने गैर कानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम के तहत चार लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज