केरल गोल्ड स्मगलिंग मामला: NIA ने 6 और लोगों को किया गिरफ्तार

केरल गोल्ड स्मगलिंग मामला: NIA ने 6 और लोगों को किया गिरफ्तार
केरल सोना तस्करी मामले में NIA ने 6 और लोगों को गिरफ्तार किया है (सांकेतिक फोटो)

सुरेश और नायर को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने 11 जुलाई को बेंगलुरु (Bengaluru) से गिरफ्तार किया था. इस बीच, एनआईए ने सोना तस्करी मामले (Gold Smuggling Case) में आतंकवादियों को धन मुहैया कराये जाने के पहलू की तमिलनाडु में जांच शुरू कर दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 2, 2020, 6:47 PM IST
  • Share this:
तिरुवनंतपुरम. केरल सोना तस्करी मामले (Kerala Gold Smuggling Case) में जांच जारी रखते हुए एनआईए (NIA) ने इस हफ्ते 6 जगहों पर खोजबीन की और 6 नई गिरफ्तारियां (new arrests) कीं. आज रविवार को एनआईए (NIA) ने एर्नाकुलम (Ernakulam) में आरोपी जलाल एएम और रबिन्स हमीद के आवासों और मलप्पुरम (Malappuram) में रमीज केटी, मोहम्मद शफी, सईद अलावी और अब्दू पीटी के ठिकानों की तलाशी ली.

तलाशी (searches) के दौरान आरोपियों के बैंक पासबुक (Bank Passbook), क्रेडिट / डेबिट कार्ड, यात्रा दस्तावेज और आईडी सहित विभिन्न दस्तावेजों के अलावा 2 हार्ड डिस्क, 1 टैबलेट पीसी, 8 मोबाइल फोन (Mobile Phone), 6 सिम कार्ड, 1 डिजिटल वीडियो रिकॉर्डर और 5 डीवीडी जब्त किए गए. मामले में अब तक एनआईए (NIA) ने 10 आरोपियों को गिरफ्तार किया है.

स्वप्ना को हिरासत में अपने बच्चों से मिलने की अनुमति दी गई
इससे पहले शनिवार को केरल के सनसनीखेज सोना तस्करी मामले में दो आरोपियों, स्वप्ना सुरेश और संदीप नायर को एक अदालत ने शनिवार को न्यायिक हिरासत में भेज दिया. आरोपियों को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट (आर्थिक अपराध) के समक्ष पेश किया गया था. आरोपियों की पांच दिनों की सीमा शुल्क (निवारण) आयुक्तालय की हिरासत की अवधि शनिवार को समाप्त हो गई.
अदालत मैं सौंपी गई एक रिमांड रिपोर्ट में विभाग ने कहा कि आरोपियों के मानवाधिकारों के स्थापित सिद्धांतों का अनुपालन करते हुए उनसे पूछताछ की गई. स्वप्ना सुरेश को 29 और 31 जुलाई को हिरासत में रहने के दौरान अपने बच्चों से मिलने की अनुमति दी गई.



11 जुलाई को बेंगलुरु से गिरफ्तार किये गये थे दोनों आरोपी
दोनों आरोपियों को जेल भेजे जाने से पहले उनकी कोविड-19 जांच कराई जाएगी. इन दोनों को विभाग ने 24 जुलाई को गिरफ्तार किया था, जब उनहें यहां विशेष एनआईए अदालत में पेश किया गया था क्योंकि उनकी हिरासत की अवधि समाप्त हो गई थी.

सुरेश और नायर को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने 11 जुलाई को बेंगलुरु से गिरफ्तार किया था. इस बीच, एनआईए ने सोना तस्करी मामले में आतंकवादियों को धन मुहैया कराये जाने के पहलू की तमिलनाडु में जांच शुरू कर दी है.

देश में और खासतौर पर केरल में कई बार भारी मात्रा में सोना लाने का आरोप
पुलिस सूत्रों ने तमिलनाडु में बताया कि पुलिस उप महानिरीक्षक स्तर के एक अधिकारी के नेतृत्व में एनआईए की एक टीम सोना तस्करी मामले में चेन्नई में पूछताछ कर रही है. हालांकि, सूत्रों ने इस बारे में विस्तार से नहीं बताया. एनआईए ने इससे पहले कहा था कि मामले के सिलसिले में गिरफ्तार किये गये आरोपियों ने देश में और खासतौर पर केरल में कई बार विदेशों से विभिन्न हवाईअड्डों और बंदरगाहों के जरिये भारी मात्रा में सोना लाया था.

यह भी पढ़ें: इस साल अब तक 35 फीसदी महंगा हुआ सोना, जानिए क्या है नया रिकॉर्ड स्तर

एजेंसी ने पिछले हफ्ते एनआईए अदालत में सौंपी गई एक रिपोर्ट में कहा था कि शुरूआती जांच से यह संकेत मिला है कि इस मामले में भारत और विदेश में अत्यधिक प्रभावशाली लोग शामिल रहे हैं. जांच में यह भी खुलासा हुआ कि आरेापियों ने तस्करी की गतिवधियों से प्राप्त धन का इस्तेमाल आतंकवाद को धन मुहैया करने में किया गया होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading