केरल गोल्ड स्मगलिंग केस: 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजे गए स्वप्ना सुरेश और संदीप

केरल गोल्ड स्मगलिंग केस: 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजे गए स्वप्ना सुरेश और संदीप
केरल सोना तस्करी: NIA ने स्वप्ना सुरेश और संदीप नायर को 14 दिन की हिरासत में भेज दिया है (स्वप्ना की फाइल फोटो)

बताया गया है कि अब उन्हें क्वारंटाइन सेंटर (Quarantine Center) भेजा जायेगा. कल उनका कोविड-19 टेस्ट (Covid-19) परिणाम आ जायेगा. अगर उन्हें टेस्ट में निगेटिव (Negative) पाया जाता है, तब कोर्ट उनकी हिरासत पर विचार करेगा.

  • Share this:
कोच्चि. केरल में सोना तस्करी मामले (Gold Smuggling Case) में दो प्रमुख आरोपी स्वप्ना सुरेश और संदीप नायर को कोच्चि (Kochi) में एनआईए अदालत (ANI Court) ने 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी है. ऐसा कहा जा रहा है कि अब उन्हें क्वारंटाइन सेंटर (Quarantine Center) भेजा जायेगा. स्वप्ना सुरेश और संदीप नायर की कोरोना टेस्‍ट रिपोर्ट सोमवार को आ जाएगी. अगर उनमें संक्रमण की पुष्टि नहीं होती है तो कोई उनकी हिरासत में विचार करेगा.

इससे पहले तिरुवनंतपुरम (Thiruvananthapuram) में पकड़े गए UAE के महावाणिज्य दूतावास (Consul-General) के पते पर राजनयिक सामान के साथ तस्करी (Smuggle) किए जाने वाले 30 किलो सोने से जुड़े मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने आतंकवाद से जुड़ी धाराओं में चार लोगों के खिलाफ दूसरी FIR दर्ज कराई. शुक्रवार को यह मामला NIA को सौंप दिया गया था. एनआईए ने कहा है कि प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि तस्करी किए गये सोने से होने वाले फायदे का इस्तेमाल भारत में आतंकवादियों (Terrorists) को आर्थिक मदद पहुंचाने में भी किया जा सकता था.

छल से UAE के राजनयिक सामान में शामिल कर दिया गया था सोना
बता दें कि FIR में स्वप्ना सुरेश के साथ चार अन्य आरोपी शामिल हैं. स्वप्ना, केरल सरकार के IT विभाग में काम करती थीं और पहले यूएई वाणिज्य दूतावास की कर्मचारी थीं. फरार होने के छह दिन बाद शनिवार रात उन्हें बेंगलुरु के एक होटल से गिरफ्तार किया गया था.
यह भी पढ़ें: ECI ने बंगाल के मुख्य सचिव से पूछा-मंत्री फरहाद हकीम के पास लाभ के दो पद हैं?



एजेंसी के अनुसार, पिछले रविवार को तिरुवनंतपुरम में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर 14.82 करोड़ रुपये का 24 कैरेट का 30 किलो सोना जब्त किया गया था. इस खेप को UAE के राजनयिक सामान में छल से शामिल कर दिया गया था, जिसे निरीक्षण से छूट मिली होती है. लेकिन विशिष्ट सूचना मिलने पर इस खेप को जब्त कर लिया गया था. सरित, जो खेप को लेने के लिए आया था, उसे गिरफ्तार कर लिया गया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज