तिरुवंनतपुरम एयरपोर्ट निजीकरण के विरोध में माकपा PM मोदी को भेजेगी 2 लाख ईमेल

तिरुवंनतपुरम एयरपोर्ट निजीकरण के विरोध में माकपा PM मोदी को भेजेगी 2 लाख ईमेल
तिरुवंनतपुरम एयरपोर्ट निजीकरण के विरोध में सीपीआई PM मोदी को भेजगी 2 लाख ईमेल (फाइल फोटो)

केरल सरकार (Kerala Government) ने शुक्रवार को केंद्र सरकार से इस तिरुवंनतपुरम एयरपोर्ट (Thiruvananthapuram airport) को राज्य सरकार को सौंपे जाने की मांग की और कहा कि वह अडानी समूह को इसका अधिग्रहण करने की अनुमति नहीं देगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 21, 2020, 10:01 PM IST
  • Share this:
तिरुवनंतपुरम. तिरुवंनतपुरम एयरपोर्ट (Thiruvananthapuram airport) अडानी इंटरप्राइजेज को पट्टे पर देने के केंद्र के फैसले के विरोध में केरल सरकार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) को दो लाख ई-मेल भेजेगी. माकपा के प्रदेश सचिव के. बालाकृष्णन ने कहा, 'इस विषय पर राज्य की भावनाओं से अवगत कराने के लिए पार्टी के कार्यकर्ता और प्रतिनिधि पर पीएम मोदी को ई-मेल भेजेंगे.' मुख्यमंत्री पिनराई विजयन द्वारा गुरुवार को बुलाई गई एक सर्वदलीय बैठक में तिरूवनंतपुरम हवाईअड्डा अडानी समूह को पट्टे पर देने के केंद्रीय मंत्रिमंडल के फैसले को वापस लेने की मांग की गई थी.

लेफ्ट सरकार ने शुक्रवार को केंद्र सरकार से इस हवाईअड्डे को राज्य सरकार को सौंपे जाने की मांग की और कहा कि वह अडानी समूह को इसका अधिग्रहण करने की अनुमति नहीं देगी. बालाकृष्णन ने कहा, ' हम हवाईअड्डे के निजीकरण की अनुमति नहीं देंगे. इसे निजी हाथों में नहीं सौंपा जा सकता.' उन्होंने आरोप लगाया, 'केंद्र का लक्ष्य हवाईअड्डों को निजी कंपनियों को सौंपना है. सभी हवाईअड्डे और बंदरगाह अडानी को सौंपे जा रहे हैं.'

केरल सरकार कर रही है लगातार विरोध



केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने तीन एयरपोर्ट जयपुर, गुवाहाटी और तिरुवनंतपुरम को सार्वजनिक-निजी भागीदारी (पीपीपी) के तहत पट्टे पर देने के प्रस्ताव को बुधवार को मंजूरी दी थी. माकपा नेता ने केंद्र के फैसले में बड़ा भ्रष्टाचार होने का आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्रीय मंत्री वी मुरलीधरन ने 2018 में इसका विरोध किया था. उन्होंने कहा कि केंद्र के फैसले का स्वागत करने वाले कांग्रेस सांसद शशि थरूर को अपना रुख में बदलाव करना चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज