• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • केरल में लग सकती है स्पूतनिक वी की मैन्युफैक्चरिंग यूनिट, सरकार की रूस से चल रही है बात

केरल में लग सकती है स्पूतनिक वी की मैन्युफैक्चरिंग यूनिट, सरकार की रूस से चल रही है बात

मैन्युफैक्चरिंग यूनिट के संबंध में रूस और केरल सरकार के बीच बातचीत तब शुरू हुई जब राज्य को कोविड -19 टीकों की भारी कमी का सामना करना पड़ा.

मैन्युफैक्चरिंग यूनिट के संबंध में रूस और केरल सरकार के बीच बातचीत तब शुरू हुई जब राज्य को कोविड -19 टीकों की भारी कमी का सामना करना पड़ा.

Covid-19 Vaccine: रूसी कोविड-19 वैक्सीन स्पूतनिक V (Sputnik V) का निर्माण पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) में भी किया जाएगा. कहा जा रहा है कि यहां हर साल 30 करोड़ से ज्यादा डोज तैयार की जाएगी

  • Share this:
    कोच्चि. देश के कई राज्यों में इस वक्त कोरोना की वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) को लेकर किल्लत है. ऐसे में केरल सरकार ने कहा है कि उनके यहां आने वाले दिनों में स्पूतनिक वी वैक्सीन (Sputnik V) की मैन्युफैक्चरिंग यूनिट लग सकती है. इसको लेकर राज्य सरकार की रूस के साथ बातचीत चल रही है. बता दें कि स्पूतनिक वी रूस की ही वैक्सीन है और भारत के कुछ राज्यों में ये लोगों को लगाई जा रही है. केरल के उद्योग मंत्री पी राजीव के मुताबिक रूसी प्रत्यक्ष निवेश कोष (RDIF) के साथ बातचीत चल रही है.

    मैन्युफैक्चरिंग यूनिट के संबंध में रूस और केरल सरकार के बीच बातचीत तब शुरू हुई जब राज्य को कोविड -19 टीकों की भारी कमी का सामना करना पड़ा. मंत्री ने कहा, 'मुख्य सचिव और अन्य अधिकारी रूसी अधिकारियों, महावाणिज्य दूत और प्रत्यक्ष निवेश बोर्ड के साथ परामर्श कर रहे हैं. शुरुआती चर्चा चल रही है. मुझे लगता है कि हम कुछ दिनों के भीतर एक आशय पत्र (LOI) पर बातचीत करेंगे.'

    ये भी पढ़ें:- Weather Update: मध्य प्रदेश पर आज मेहरबान हो सकते हैं बादल, विदर्भ में अति भारी बारिश के आसार



    मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने अधिकारियों को टीके बनाने वाली कंपनियों को प्रस्ताव देने का आदेश दिया था. उन्होंने कहा, 'इससे पहले, हमने ये काम केएसडीपी (केरल स्टेट ड्रग्स एंड फार्मास्युटिकल्स लिमिटेड) को सौंपा था. राज्य सरकार द्वारा गठित एक विशेषज्ञ समिति ने फैसला किया कि थोन्नाक्कल में लाइफ साइंस पार्क में भूमि वैक्सीन निर्माण इकाई स्थापित करने के लिए उपयुक्त है.ये कदम केरल के लोगों के लिए फायदेमंद होगा'

    इस बीच, राजीव ने ये भी कहा कि कई नए निवेशकों ने व्यापार के अवसरों के लिए राज्य से संपर्क किया है. दरअसल केरल जिम्मेदार निवेश और जिम्मेदार उद्योग में विश्वास करता है. उन्होंने कहा, 'केरल में आईटी, पर्यटन, बीटी, कृषि आधारित उद्योगों, फार्मास्यूटिकल्स और चिकित्सा उपकरणों को लाने पर ध्यान केंद्रित किया गया है.'

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज