केरल में फिर भारी बारिश का खतरा, 22 बांधों के गेट खोले गए, येलो अलर्ट पर 5 जिले

गुरुवार को भारतीय मौसम विभाग ने एक बुलेटिन में कहा कि निम्न दबाव का क्षेत्र मजबूत होकर तेज चक्रवाती तूफान का रूप ले सकता है और केरल के कई हिस्सों में मूसलाधार से भयंकर तक वर्षा हो सकती है.

News18Hindi
Updated: October 6, 2018, 9:42 AM IST
केरल में फिर भारी बारिश का खतरा, 22 बांधों के गेट खोले गए, येलो अलर्ट पर 5 जिले
File Photo
News18Hindi
Updated: October 6, 2018, 9:42 AM IST
अगस्त में भारी बारिश और भीषण बाढ़ की तबाही के बाद केरल पर एक बार फिर से खतरा मंडरा रहा है. केरल में रविवार को भारी बारिश होने का अनुमान है. भारी बारिश के अनुमान के चलते राज्य के पांच जिलों में येलो अलर्ट जारी किया गया है जबकि राज्य के 22 बांधों के गेट खोले जा चुके हैं. शनिवार 11 बजे इडुक्की बांध खोला जाना है.

केरल के साथ पड़ोसी राज्य कर्नाटक में भी भारी बारिश का अनुमान है. कर्नाटक में पहले ही बारिश हो रही है. राजधानी बेंगलुरू में हल्की-हल्की बारिश हो रही है. बता दें कि दक्षिणपूर्व अरब सागर में निम्न दबाव का क्षेत्र बनने के चलते दक्षिणी राज्यों में भारी बारिश की संभावना है.

गुरुवार को भारतीय मौसम विभाग ने एक बुलेटिन में कहा कि निम्न दबाव का क्षेत्र मजबूत होकर तेज चक्रवाती तूफान का रूप ले सकता है और केरल के कई हिस्सों में मूसलाधार से भयंकर तक वर्षा हो सकती है.

बुलेटिन के अनुसार दक्षिणपूर्व अरब सागर और उसके आसपास लक्षद्वीप एवं मालदीव के क्षेत्र में फैला चक्रवात बृहस्पतिवार सुबह को मध्य क्षोभमंडल स्तर तक पहुंच गया और उसके प्रभाव में छह अक्टूबर तक दक्षिण पूर्व सागर में निम्न दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है.

शनिवार से समुद्र में स्थिति बहुत खराब रहने की संभावना है ऐसे में मछुआरों को गहराई में नहीं जाने की सलाह दी गई है. केरल में अगस्त में दक्षिण पश्चिम मानसून ने कहर बरपाया था. यह 100 सालों में सबसे बुरी स्थिति थी. कई जिलों में वर्षा और बाढ़ से 493 लोगों की जान चली गई थी.

ये भी पढ़ें: केरल बाढ़ में कई लोगों की जान बचाने वाले मछुआरे की सड़क हादसे में मौत
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...