लाइव टीवी

Analysis: केरल का कासरगोड क्यों बन रहा है कोरोना का हॉटस्पाट

Anil Rai | News18Hindi
Updated: March 29, 2020, 3:30 PM IST
Analysis: केरल का कासरगोड क्यों बन रहा है कोरोना का हॉटस्पाट
कोरोना के पांच प्रतिशत मरीज ऐसे होते हैं जिनमें लक्षण 24 से लेकर 30 दिनों के बीच सामने आते हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

केरल (Kerala) के कासरगोड जिले में 165 से ज्यादा कोरोना (Coronavirus) पॉजिटीव केस की पुष्टि हो चुकी है, इस जिले को अब हाई एलर्ट पर रखा गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 29, 2020, 3:30 PM IST
  • Share this:
तिरुवनंतपुरम. केरल (Kerala) का कासरगोड जिला वैसे अपने विदेशों से होने वाली आमदनी और पर्यटन के लिए जाना जाता है लेकिन इन दिनों ये जिला कोरोना (Corona) के कारण चर्चा में बना हुआ है, जिला स्तर पर देखे तो यहां अब तक कोरोना के सबसे ज्यादा मरीज मिल चुके हैं , जिले में 165 से ज्यादा कोरोना पॉजिटीव केस की पुष्टि हो चुकी है, इस जिले को अब हाई एलर्ट पर रखा गया है. ऐसे में सवाल ये है कि आखिर कर्नाटक के मंगौलर से सटे इसी जिले में कोरोना के इतने मामले क्यों सामने आ रहे हैं जबकि आस-पास स्थिति इतनी भयावह नहीं है.

ज्यादातर आबादी रहती है गल्फ देशों में
इसको समझने के लिए कासरगोड की आर्थिक स्थिति को समझना पड़ेगा, 13 लाख से ज्यादा आबादी वाले इस जिले में करीब 40 से 50 फीसदी आबादी मुसलमानों की है लेकिन अगर इसको और करीब से देखेगे तो ये आबादी मुल रूप से कासरगोड कस्बे के आस-पास की ही रहती यानि जिला मुख्यालय से करीब 10 किलोमीटर के आस-पास के क्षेत्रफल को देखे तो इसमें 80 फीसदी मुस्लिम आबादी है, जिनमें करीब हर घर से एक आदमी गल्फ के किसी न केसि देश में काम करता है और यही इस जिले के आर्थिक विकास का कारण है, आकड़ो में देखे तो सिर्फ कासरगोड से करीब 1 लाख से ज्यादा लोग गल्फ के देशों में काम कर रहे हैं.

कासरगोड में कोरोना फैसलना की ये हो सकती है असली वजह



कोरोना के बीच इनमें सबकी वापसी हुई है और इनमें से ज्यादातर मार्च के पहले हफ्ते में वापस आए हैं जब स्क्रिनिंग और कोरेनटाईन पर इतनी सख्ती नहीं थी, ये एक लाख लोग अपन परिवार के साथ रह रहे थे ऐसे में सरकार जब तक सतर्क हुई, संदिग्ध लोगों की संख्या काफी बढ़ गई. बाजार और सामाजिक कार्यक्रमों में जाने के आकड़े को इसमें जोड़ लें तो ये संख्या और ज्यादा हो जाती है. इसीलिए सरकार ने इस जिले को हाई एलर्ट पर रखा है कोशिश ये की जा रही है कि ज्यादा से ज्यादा लोगो की जांच की जा सके.



ये भी पढ़ें : Analysis: मजदूरों को रोकने के लिए ये है सबसे आसान तरीका

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 29, 2020, 3:13 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading