केरल बाढ़: आंखों के सामने बहा पूरा परिवार, खुद भागकर बचाई जान

केरल बाढ़: आंखों के सामने बहा पूरा परिवार, खुद भागकर बचाई जान
भूस्खलन में एक ही परुवार के तीन लोग बह गए

सरथ की मां के साथ, उसकी पत्नी और एक डेढ़ साल का बच्चा, जो घर के अंदर थे, सभी बह गए. ये घटना केरल (Kerala) के मल्लपुरम (Mallapuram) जिले के कोट्टाकुन्नु (Kottakunnu) की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 10, 2019, 3:41 PM IST
  • Share this:
केरल (Kerala) में बारिश का कहर जारी है. केरल से एक दिल दहला देने वाला वीडियो सामने आया है. इस वीडियो में एक शख्स भूस्खलन (Landslide) में किसी तरह जान बचाकर भाग रहा है. ये शख्स खुद तो बच गया लेकिन उसका घर इस भूस्खलन के चपेट में आ गया. घर में उसकी पत्नी और उसका बेटा मौजूद था. उसकी मां साथ ही थी लेकिन वो उम्रदराज होने के कारण तेजी से नहीं भाग सकीं, और भूस्खलन के सैलाब में बह गईं. ये घटना मल्लपुरम के कोट्टाकुन्नु की है. सरथ नाम का ये शख्स में अपने घर के बाहर खड़ा था और अपनी मां से बात कर रहा था, तभी एक बड़ा भूस्खलन हुआ. ये इतना बड़ा था कि उसके घर और आसपास की सभी चीजों को तहस-नहस कर दिया.

 
सीसीटीवी विजुअल्स से पता चला कि सरथ और उसकी मां सरोजिनी ने आखिरी समय में भूस्खलन को देखा और उससे बचने के लिए दौड़ लगाई. लेकिन केवल वही अपने घर के कोने तक पहुंचते में कामयाब हो पाया. घर के बाकी लोग इसके चपेट में आ गए. जैसा कि वीडियो में देखा गया है, वो महिला, सरोजिनी गिरती हुई मिट्टी और पेड़ों के साथ बह गई क्योंकि वो काफी तेजी से नहीं भाग सकती थी. सरथ की मां के साथ, उसकी पत्नी और एक डेढ़ साल का बच्चा, जो घर के अंदर थे, सभी बह गए.ये घटना शुक्रवार दोपहर 2 बजे के आसपास की है. लापता लोगों में से कोई भी बचाव कार्य देर रात तक जारी रहने के बावजूद नहीं मिला है. क्षेत्र के डिप्टी एसपी ने मीडिया को बताया कि तीनों, सरथ की मां सरोजिनी, पत्नी गेथू और एक डेढ़ साल के बच्चे की भूस्खलन के कीचड़ में फंसने गए थे. इस बात की सांभावना अधिक है कि उनकी मौत हो गई हो.केरल में बारिश-बाढ़ का कहर 

केरल में बारिश-बाढ़ में मरने वालों की संख्या बढ़कर 45 हो गई है. केरल में एक लाख से अधिक लोगों को राहत कैंपों में पहुंचाया गया है. मलप्पुरम में अबतक 10 और वायनाड में 9 लोगों की मौत हुई है. केरल के मलप्पुरम जिले के नीलांबुर में गुरुवार को हुए भूस्खलन के बाद 30 परिवार लापता हो गए. मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने मीडियाकर्मियों को बताया कि पिछले तीन दिनों में बारिश से संबंधित घटनाओं में कई लोगों की मौत हो चुकी है.



इसे भी पढ़ें :- CWC की बैठक से पहले सोनिया गांधी से मिलने पहुंचे राहुल गांधी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज