केरल के कोविड सेंटर्स पर अफरा-तफरी, भीड़ को कंट्रोल करने के लिए सरकार का अहम प्‍लान

केरल में काविड के स्‍टॉप रजिस्‍ट्रेशन को बंद कर दिया गया है. 
 (AP Photo/Anupam Nath)

केरल में काविड के स्‍टॉप रजिस्‍ट्रेशन को बंद कर दिया गया है. (AP Photo/Anupam Nath)

Kerala Stops Spot Registration: स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के सूत्रों के अनुसार, केवल टीके की कमी के कारण ही नहीं, बल्कि टीकाकरण केंद्रों पर भीड़ को कम करने के लिए भी स्पॉट रजिस्‍ट्रेशन को रोक दिया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 22, 2021, 6:07 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. देश में बेकाबू कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Epidemic) के बीच कई राज्‍यों से वैक्‍सीन की कमी की शिकायतें भी आ रही हैं. वहीं, दक्षिण के राज्‍य केरल ने भी वैक्‍सीन के घटते स्‍टॉक के बीच कोविड-19 वैक्‍सीनेशन के लिए स्पॉट रजिस्‍ट्रेशन को बंद कर दिया है. जिसके कारण यहां के वैक्‍सीन सेंटर्स पर वैक्‍सीनेशन के लिए तफरा-तफरी का माहौल रहा.

बता दें कि केरल में कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण टीकाकरण की मांग भी तेज हो गई है. हालांकि यहां अभी लगभग एक हफ्ते पहले तक लोग टीकाकरण को लेकर काफी उदासीन थे, लेकिन महामारी की बढ़ती रफ्तार ने टीकाकरण की मांग भी बढ़ा दी है. राज्‍य में वैक्‍सीन की कमी के कारण स्‍पॉट रजिस्‍ट्रेशन को रोक दिया गया है. जिसके कारण यहां के बड़े अस्‍पतालों में भारी संख्‍या में लोगों का हुजूम उमड़ रहा है और लोग अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें: कोरोना संकट के बहाने किसानों से गेहूं खरीद बंद, झूठे आंकड़े पेश कर रही BJP सरकार: अखिलेश

ये भी पढ़ें: कोरोना वैक्सीन की कीमत में अंतर को लेकर ममता बनर्जी ने मोदी सरकार को घेरा
केरल में 3 हफ्ते पहले शुरू हुआ था स्‍पॉट रजिस्‍ट्रेशन

राज्‍य में अभी तीन हफ्ते पहले ही सरकार ने टीकाकरण के लिए स्पॉट रजिस्‍ट्रेशन की शुरुआत की थी. जिसके तहत कोविन पोर्टल पर पूर्व पंजीकरण अनिवार्य नहीं था. इसका मतलब 60 या 45 वर्ष की आयु से ऊपर का कोई भी व्यक्ति आधार कार्ड के माध्‍यम से वैक्‍सीनेशन सेंटर पर ही रजिस्‍ट्रेशन करा सकता था. हालांकि स्पॉट रजिस्‍ट्रेशन की शुरुआत के साथ ही कोविड सेंटरों पर लोगों की भारी भीड़ जमा होने लगी. टीकाकरण केंद्रों पर भीड़ अनियंत्रित भी होने लगी थी, जिसके कारण कुछ अनियमितता भी देखने को मिली.





इंडियन एक्‍सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के सूत्रों के अनुसार, केवल टीके की कमी के कारण ही नहीं, बल्कि टीकाकरण केंद्रों पर भीड़ को कम करने के लिए भी स्पॉट रजिस्‍ट्रेशन को रोक दिया गया है. केवल उन लोगों के लिए ही गुरुवार से टोकन जारी किए जाएंगे जिन्‍होंने को-विन पोर्टल पर रजिस्‍ट्रेशन कराया होगा. सूत्रों के अनुसार, गुरुवार से सभी जिलों में मेगा टीकाकरण शिविरों को रोक दिया गया है. मुख्य रूप से अस्पतालों के बाहर, जो टीकाकरण को बढ़ावा देने के लिए पहले शुरू किए गए थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज