Assembly Banner 2021

केरल के अधिकारियों ने रिश्‍वत लेने के लिए ‘छद्म’ कंपनियां बनाई, सुप्रीम कोर्ट में सीबीआई का खुलासा

सीबीआई ने कहा कि दोनों ही कंपनियों ने एक विदेशी स्रोत से और लाइफ मिशन की ओर से चंदा प्राप्त किया. (File Pic)

सीबीआई ने कहा कि दोनों ही कंपनियों ने एक विदेशी स्रोत से और लाइफ मिशन की ओर से चंदा प्राप्त किया. (File Pic)

केरल सरकार की लाइफ मिशन परियोजना के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) द्वारा दायर एक याचिका के जवाब में सीबीआई ने यह दलील दी.

  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (CBI) ने उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) से कहा है कि केरल सरकार की लाइफ मिशन परियोजना के अधिकारियों ने दो ‘छद्म’ कंपनियों के मार्फत विदेशी चंदा प्राप्त करने के लिए संयुक्त अरब अमीरात (UAE) महावाणिज्य दूतावास के अधिकारियों के साथ सांठ गांठ की थी. केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो ने शीर्ष न्यायालय से कहा कि साक्ष्य से यह खुलासा होता है कि मेसर्स यूनीटेक और साने वेंचर्स लाइफ मिशन की दो ‘छद्म’ फर्म हैं, जिनका इस्तेमाल यूएई से विदेशी चंदा प्राप्त करने के लिए किया गया. ऐसा करने के पीछे यह उद्देश्य था कि नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (कैग) की ऑडिट, सरकारी औपचारिकताओं और विदेशी चंदा नियमन अधिनियम (एफसीआरए) से बचा जाए, ताकि रिश्वत प्राप्त हो सके.

सीबीआई ने कहा कि दोनों ही कंपनियों ने एक विदेशी स्रोत से और लाइफ मिशन की ओर से चंदा प्राप्त किया और इस रकम का इस्तेमाल रिश्वत अदा करने में और सरकारी अधिकारियों और लाइफ मिशन के कर्मचारियों को महंगे तोहफे देने में किया गया. केरल सरकार की लाइफ मिशन परियोजना के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) द्वारा दायर एक याचिका के जवाब में सीबीआई ने यह दलील दी. याचिका के जरिए केरल उच्च न्यायालय (Kerala High Court) के 12 जनवरी के उस आदेश को चुनौती दी गई है, जिसके तहत राज्य में बाढ़ पीड़ितों के लिए भवनों और एक स्वास्थ्य केंद्र के निर्माण में भ्रष्टाचार के आरोपों की केंद्रीय एजेंसी से जांच की अनुमति दी गई थी.

राज्य के विपक्षी दलों ने आरोप लगाया है कि सोना तस्करी मामले में मुख्य आरोपियों में शामिल स्वप्ना सुरेश (Swapna Suresh) ने एनआईए की अदालत में यह स्वीकार किया है कि उसने परियोजना से कमीशन के तौर पर एक करोड़ रुपये प्राप्त किये थे.

सीबीआई ने कांग्रेस विधायक अनिल अक्कारा की एक शिकायत पर इस सिलसिले में एक प्राथमिकी दर्ज की थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज