• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • केरल : 11वीं की परीक्षा, स्कूलों में कराने के निर्णय के खिलाफ याचिका खारिज

केरल : 11वीं की परीक्षा, स्कूलों में कराने के निर्णय के खिलाफ याचिका खारिज

सुप्रीम कोर्ट (फाइल फोटो)

सुप्रीम कोर्ट (फाइल फोटो)

उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) ने कक्षा 11वीं की परीक्षाएं स्कूलों में कराने के केरल सरकार (Kerala Government) के फैसले को चुनौती देने वाली याचिका शुक्रवार को खारिज कर दी. न्यायमूर्ति एएम खानविलकर और न्यायमूर्ति सीटी रविकुमार की पीठ ने कहा कि विस्तृत हलफनामा दाखिल किया जा चुका है और वे कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus Infection) संबंधी सभी प्रोटोकॉल (Covid Protocol) का पालन कर रहे हैं.

  • Share this:

    नई दिल्ली. उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) ने कक्षा 11वीं की परीक्षाएं स्कूलों में कराने के केरल सरकार (Kerala Government) के फैसले को चुनौती देने वाली याचिका शुक्रवार को खारिज कर दी. न्यायमूर्ति एएम खानविलकर और न्यायमूर्ति सीटी रविकुमार की पीठ ने कहा कि विस्तृत हलफनामा दाखिल किया जा चुका है और वे कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus Infection) संबंधी सभी प्रोटोकॉल (Covid Protocol) का पालन कर रहे हैं. न्यायालय ने कहा कि इस मामले में समग्र रुख अपनाया जाना चाहिए और प्राधिकारी अपने कर्तव्यों के प्रति सचेत हैं.

    पीठ ने कहा, ‘‘राज्य ने जो विवरण दिए हैं हम उनसे संतुष्ट हैं और हम विश्वास करते हैं कि प्राधिकारी सभी एहतियाती और जरूरी कदम उठाएंगे ताकि छात्रों को किसी अप्रिय स्थिति का सामना नहीं करना पड़े, जो कम उम्र हैं और प्रस्तावित परीक्षा देने जा रहे हैं. याचिका खारिज की जाती है.’’ न्यायालय ने कहा कि उसने पहले हस्तक्षेप किया था क्योंकि सितंबर तक कोरोना की तीसरी लहर आने की आशंका थी.

    ये भी पढ़ें : डेंगू बुखार से ज्‍यादा खतरनाक डेंगू संबंधित ये दो बीमारियां, महज एक दिन में हो रही मरीज की मौत

    ये भी पढ़ें : VVIP की सुरक्षा में पहली बार तैनात होंगी महिला CRPF कर्मी, जल्‍द शुरू होगी ट्रेनिंग

    केरल सरकार ने एक हलफनामा दाखिल करके शीर्ष अदालत को बताया कि जिन छात्रों के पास लैपटॉप और मोबाइल फोन नहीं हैं उनके लिए ऑनलाइन परीक्षा देना मुश्किल होगा. राज्य सरकार ने शीर्ष अदालत से कहा, ‘‘ऑनलाइन माध्यम से परीक्षा आयोजित करना उन छात्रों के लिए पक्षपाती होगा जिनके पास लैपटॉप, डेस्कटॉप और मोबाइल नहीं हैं. समाज के निचले तबके से ताल्लुक रखने वाले छात्र ऑनलाइन कक्षाओं के लिए मोबाइल फोन अथवा टैबलेट का सहारा लेते हैं.’’

    सरकार ने कहा, ‘‘ कई इलाकों में इंटरनेट कनेक्शन अथवा मोबाइल डाटा जैसी सुविधा मौजूद नहीं है. ये छात्र कभी ऑनलाइन माध्यम से परीक्षा नहीं दे पाएंगे.’’

    गौरतलब है कि शीर्ष अदालत ने केरल में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बढ़ने के बीच कक्षा 11 की परीक्षा स्कूलों में कराने के राज्य सरकार के फैसले पर तीन सितंबर को एक सप्ताह तक के लिए रोक लगा दी थी और कहा था, ‘‘राज्य में हालात चिंताजनक हैं.’’ परीक्षाएं छह सितंबर को होनी थी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज