होम /न्यूज /राष्ट्र /NEET UG: नीट परीक्षा के दौरान छात्राओं के इनरवियर उतरवाने के मामले में केरल पुलिस दर्ज किया केस

NEET UG: नीट परीक्षा के दौरान छात्राओं के इनरवियर उतरवाने के मामले में केरल पुलिस दर्ज किया केस


महिला उम्मीदवार ने कोल्लम के पुलिस सुपरिटेंडेंट समक्ष केस दर्ज करवाई     
फाइल फोटो

महिला उम्मीदवार ने कोल्लम के पुलिस सुपरिटेंडेंट समक्ष केस दर्ज करवाई फाइल फोटो

कोल्लम में नीट परीक्षा के दौरान छात्राओं के अंतःवस्त्र उतरवाने का मामला सामने आया. केंद्र अधीक्षक ने ऐसे किसी घटना से इ ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

पुलिस ने मामले में केस दर्ज कर लिया है
केंद्र परीक्षक का ऐसी किसी घटना से इंकार

कोल्लम. केरल पुलिस मंगलवार को कथित घटना के सम्बन्ध में केस दर्ज कर लिया है. घटना 17 जुलाई केरल के कोल्लम जिला में  राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा (NEET) की है जब एक छात्रा को परीक्षा में शामिल होने से पहले इनरवियर उतारने को बोला गया. कोल्लम ग्रामीण पोलिस जिला में भारतीय दंड सहिंता के धारा 354 और 509 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है. रविवार को कोल्लम के अयूर में एक निजी शिक्षण संस्थान में आयोजित नीट परीक्षा में बैठने के दौरान अपमानजनक अनुभव का सामना करने वाली एक लड़की की शिकायत पर यह मामला दर्ज किया गया है. घटना प्रकश में तब आया जब छात्रा ने सोमवार, 18 जुलाई को कोल्लम के पुलिस सुपेरिडेंडेट के समक्ष पुरे मामले को रख शिकायत दर्ज कराई. शिकायत में छात्रा ने बताया, “परीक्षा हॉल में प्रवेश करने से पहले उसे अपने अंडरगारमेंट को बोला गया.”  

छात्रा के पिता का आरोप 

छात्रा के पिता ने मीडिया को बताया कि रविवार को उनकी 17 वर्षीय बेटी NEET  का एग्जाम देने आयी थी. परीक्षा पर्वेक्षक पर आरोप लगते हुए उन्होंने बताया कि वहां छात्राओं को परीक्षा कक्ष में प्रवेश करने से पहले उनके अंतःवस्त्र जबरदस्ती उतरवाए जा रहे थे. परीक्षा कक्ष महिला पर्वेक्षक के साथ साथ पुरुष पर्वेक्षक भी थे, जिससे लड़कियां मानसिक रूप से असहज हो गयीं. एएनआई से बात उन्होंने बताया, “उनकी बेटी आठवीं कक्षा से ही नीट की तैयारी कर रही है. इस घटना से वो असहज हो गयी, इस कारण वह परीक्षा अच्छे से लिख नहीं पायी. हमे पूरा विश्वास था कि वो अच्छा रैंक लाएगी पर इस घटना ने सब कुछ छीन लिया.”  उन्होंने आगे एएनआई(ANI) को बताया कि वे लोग NTA द्वारा नीट (NEET) परीक्षा सम्बन्धी जारी सभी गाइडलाइन्स का पालना किया था. गाइडलाइन्स में “ब्रा और हुक” का जिक्र कहीं नहीं था. पर परीक्षा केंद्र पर लड़कियों को उनके अन्तःवस्त्र उतरे बिना प्रवेश नहीं दिया जा रहा था. 

NTA का घटना पर बयान

एनटीए जो कि एक स्वतंत्र और स्वायत्त परीक्षा संगठन है, ने कहा कि केंद्र अधीक्षक और स्वतंत्र पर्यवेक्षक के साथ-साथ कोल्लम जिले के शहर समन्वयक ने कहा है कि उन्हें नीट परीक्षा केंद्र (मार थोमा सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, कोल्लम) में ऐसी कोई घटना की सूचना नहीं मिली है. आगे NTA ने एक और बयान में बताया कि ” परीक्षा के तुरंत बाद कोई केस दर्ज होने की जानकरी नहीं है. जहाँ तक एनटीए के ड्रेस कोड का सवाल है, उम्मीद्वार के माता-पिता द्वारा कथित किसी भी गतिविधि की अनुमति नहीं देता है”

केरल के उच्च शिक्षा मंत्री आर बिंदु ने केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान को पत्र लिख कर नाराजगी जताई है और एजेंसी के खिलाफ कड़ी करवाई की मांग की है. उन्होंने लड़कियों के अन्तःवस्त्र उतरवाने को उनके सम्मान के खिलाफ बताया है. उधर राज्य महिला आयोग ने भी मामले को संज्ञान में लेकर मामला दर्ज किया है.

Tags: Kerala, NEET, NTA

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें