लाइव टीवी

केरल पुलिस ने महिलाओं की मदद के लिए शुरू की हेल्पलाइन नंबर

भाषा
Updated: December 4, 2019, 4:09 AM IST
केरल पुलिस ने महिलाओं की मदद के लिए शुरू की हेल्पलाइन नंबर
केरल पुलिस ने रात में सड़क पर किसी कारण से फंसी महिलाओं और बुजुर्गों की मदद के लिए निजहाल नामक अभियान शुरू किया है.

पुलिस विभाग (Police Department) ने एक बयान जारी कर कहा, ‘ऐसी महिलाएं और बुजुर्ग जो बेवक्त किसी भी कारण से मसलन वाहन खराब होने अथवा टायर पंचर होने से सड़क में फंस जाते हैं, वे राज्य में कहीं से और किसी भी वक्त 112 नंबर पर कॉल कर सकते हैं. ’

  • Share this:
तिरुवनंतपुरम. केरल पुलिस (Kerala Police) ने महिलाओं और बुजुर्गों की सुरक्षा के लिए मंगलवार को हेल्पलाइन (helpline number) नंबर जारी किया है. केरल पुलिस ने रात में सड़क पर किसी कारण से फंसी महिलाओं और बुजुर्गों की मदद के लिए निजहाल नामक अभियान शुरू किया है. जिसके तहत मुसीबत में फंसे लोग पुलिस सहायता के लिए 112 नंबर डायल कर सकते हैं.

पुलिस विभाग ने एक बयान जारी कर कहा, ‘ऐसी महिलाएं और बुजुर्ग जो बेवक्त किसी भी कारण से मसलन वाहन खराब होने अथवा टायर पंचर होने से सड़क में फंस जाते हैं, वे राज्य में कहीं से और किसी भी वक्त 112 नंबर पर कॉल कर सकते हैं. ’बयान में यह भी कहा गया कि इससे रात में यात्रा करने वाली महिलाओं को भी मदद मिल सकेगी.

गौरतलब है कि बीते कुछ महीने पहले केरल में एक महिला पुलिस अधिकारी पर पेट्रोल डालकर जिंदा जला दिया गया था. जिसके चलते 34 वर्षीय महिला पुलिस अधिकारी की मौत हो गई थी. दरअसल पुलिस अधिकारी सौम्‍या पुष्‍पाकरन मावेलिक्कारा के वल्लीकुन्नम पुलिस थाने में तैनात थी. ड्यूटी के बाद घर लौट के दौरान उस पर कथित रूप से पेट्रोल छिड़ककर आग के हवाले कर दिया गया था.

पुलिस ने एक प्रत्यक्षदर्शी के हवाले से कहा था कि सौम्या पुष्पाकरन उस दिन काम के बाद घर जा रही थी, तब अजस ने एक कार से उसका पीछा किया. उसने उसके टू-व्हीलर को टक्कर मारकर गिरा दिया और धारदार हथियार से उसे जख्मी कर दिया. सौम्या ने पास के घर में छिपने की कोशिश की लेकिन अजस ने उसका पीछा किया, उसे बाहर खींचा, पेट्रोल छिड़का और आग लगा दी. पुलिस ने बताया कि महिला ने अजस के शादी के प्रस्ताव को ठुकरा दिया था.

ये भी पढ़ें: 

50 हजार में शुरू करें ये खास बिजनेस, पैसा जुटाने में सरकार करेगी आपकी मदद

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 4, 2019, 4:09 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर