केरल: यौन शोषण केस में घिरे CPM विधायक, महिला आयोग की अध्यक्ष बोलीं- गलतियां हो जाती हैं

राज्य महिला आयोग ने यह साफ कर दिया कि वह इस मामले में दखल नहीं दे सकता. क्योंकि पीड़िता ने महिला आयोग में शिकायत दर्ज नहीं कराई है और उन्हें मामला दर्ज करने के लिए बेसिक डिटेल्स की जरूरत होती है.

News18Hindi
Updated: September 8, 2018, 1:09 PM IST
केरल: यौन शोषण केस में घिरे CPM विधायक, महिला आयोग की अध्यक्ष बोलीं- गलतियां हो जाती हैं
केरल महिला आयोग की अध्यक्ष एमसी जोसेफिन (File photo)
News18Hindi
Updated: September 8, 2018, 1:09 PM IST
डेमोक्रेटिक यूथ फेडरेशन ऑफ इंडिया (डीवाईएफआई) की एक महिला नेता ने माकपा विधायक पीके शशि पर यौन शोषण की कोशिश करने का आरोप लगाया था, जिसके बाद केरल महिला आयोग की अध्यक्ष एमसी जोसेफिन विधायक का बचाव करती नजर आईं.

एमसी जोसेफिन ने कहा, 'इसमें नया कुछ भी नहीं है, हम सब इंसान और ऐसी गलतियां हो जाती हैं. पार्टी में मौजूद लोग भी ऐसी गलतियां कर देते हैं.'

डेमोक्रेटिक यूथ फेडरेशन ऑफ इंडिया (डीवाईएफआई) के नेता ने पीके सासी पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है, जिसके बाद पार्टी ने आरोपों पर जांच शुरू कर दी है.

राज्य महिला आयोग ने यह साफ कर दिया कि वह इस मामले में दखल नहीं दे सकता, क्योंकि पीड़िता ने महिला आयोग में शिकायत दर्ज नहीं कराई है और उन्हें मामला दर्ज करने के लिए बेसिक डिटेल्स की जरूरत होती है. एमसी जोसेफिन ने कहा, 'इस मामले की कोई जानकारी हमारे पास नहीं है. फिर हम कैसे मामला दर्ज कर सकते हैं.'

पुलिस जांच पर एमसी जोसेफिन ने कहा कि यह पार्टी पर निर्भर करता है. मार्क्सवादी पार्टी के पास इन शिकायतों से निपटने का अपना सिस्टम होगा, यह कोई नई बात नहीं है. पार्टी अपने शुरुआती दिनों से ही ऐसे मामलों को संभालती आई है. लेकिन राज्य महिला आयोग को अब तक महिला की तरफ से कोई शिकायत नहीं मिली है.

केरल भाजपा के सांसद वी मुरलीधरन ने कहा कि मामले पर महिला आयोग 'मूक दर्शक' बन गया है.
महिला ने 14 अगस्त को सीपीआई (एम) पोलित ब्यूरो के सदस्य ब्रिंदा करात को शिकायत भेजी थी और पार्टी की महासचिव सीताराम येचुरी को इसकी एक कॉपी मेल की थी.

मामले पर विधायक पीके शशी का कहना है कि यह उनकी राजनीतिक छवि खराब करने की साजिश है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर