अपना शहर चुनें

States

परफेक्ट हॉलिडे डेस्टिनेशन बना केवड़िया, स्टेच्यू ऑफ लिबर्टी से ज्यादा लोग 'स्टेच्यू ऑफ यूनिटी' को कर रहे हैं पसंद

375 एकड़ में फैले पहाड़ी व वन क्षेत्र में जंगल सफारी है, जिसमें सैकड़ों पशु-पक्षियों का बसेरा है.
375 एकड़ में फैले पहाड़ी व वन क्षेत्र में जंगल सफारी है, जिसमें सैकड़ों पशु-पक्षियों का बसेरा है.

Kevadia Family holiday spot:स्टेच्यू ऑफ यूनिटी दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा है. यहां पर सरदार पटेल की इस प्रतिमा के अलावा 375 एकड़ में फैला पहाड़ी व वन क्षेत्र में जंगल सफारी है, जिसमें सैकड़ों पशु-पक्षियों का बसेरा है. यहां ऑस्ट्रेलिया के कंगारू से लेकर दक्षिण अमेरिका के लामा जैसे पशुओं को भी संरक्षित किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 29, 2020, 10:28 PM IST
  • Share this:
अहमदाबाद. भारत (Gujarat) में गुजरात एक मात्र ऐसा राज्य है जो पर्यटन को लेकर सबसे ज्यादा विविधता वाला प्रदेश माना जाता है. वैसे तो गुजरात में कई जगहें घूमने लायक है, लेकिन केवडिया में 597 फिट ऊंचा विशालकाय स्टेच्यू ऑफ यूनिटी (Statue of Unity) ने लोगों के मन में एक खास जगह बनाई है. स्टेच्यू ऑफ यूनिटी को, अमेरिका में स्थित स्टेच्यू ऑफ लिबर्टी (Statue of Liberty) से ज्यादा पर्यटकों को आकर्षित कर रहा है. बच्चों के पोषण पार्क, आरोग्य वैन, कैम्पिंग और रिवर राफ्टिंग जैसे प्वाइंट्स फैमिली हॉलीडे प्वाइंट्स के तौर पर उभरे हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 'मस्ट-विजिट' जगह के रूप में वर्गित किए जाने वाले इस स्थान के आसपास नर्मदा नदी के किनारे, सतपुड़ा और विंध्याचल पर्वतमाला समेत कई ऐसी जगहें हैं जो पर्यटकों को लुभाती हैं. गुजरात में इस प्रोटेक्ट से शुरुआत से जुड़े हुए राज्य के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव गुप्ता ने कहा कि इस जगह को पूरे परिवार के लिए एक मॉडल पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करना प्रधानमंत्री का दृष्टिकोण था.

गुप्ता ने पीटीआई से कहा, "प्रधानमंत्री मोदी के मार्गदर्शन में, शहर को अपनी पारिस्थितिकी और स्थानीय विरासत को संरक्षित करते हुए पूरे परिवार के लिए एक पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया गया है." उन्होंने कहा कि शहर का मुख्य आकर्षण स्टेच्यू ऑफ यूनिटी जिसे प्रधानमंत्री मोदी ने खास तौर पर बनवाया है वो संयुक्त राज्य अमेरिका में स्टैचू ऑफ़ लिबर्टी से अधिक पर्यटकों को आकर्षित करता है.



रोजाना 13 हजार लोग आ रहे थे देखने
उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस के प्रकोप और लॉकडाउन से पहले स्टेच्यू ऑफ यूनिटी को देखने के लिए रोजाना 13,000 पर्यटक आ रहे थे. प्रशासन द्वारा थोड़ी सी ढिलाई देने के बाद पिछले महीने लगभग 10 हजार लोग इस खास प्रतिमा को देखने के लिए आए हैं. वहीं, केवडिया में विभिन्न पर्यटन आकर्षणों के बारे में गुजरात की पर्यटन सचिव ममता वर्मा ने कहा कि केवडिया में एक परिवार के प्रत्येक सदस्य के लिए कुछ खास है, जो उन्हें ज्यादा आकर्षित करता है. वर्मा ने कहा, केवड़िया में बुजुर्ग और बड़ों के लिए आरोग्य वैन है, बच्चों के लिए बच्चों का पोषण पार्क है. वहीं, युवाओं के पास कैम्पिंग और रिवर राफ्टिंग के ऑप्शन हैं.

3 हजार आदिवासी लड़कों और लड़कियों को रोजगार
राजीव गुप्ता ने यह भी बताया कि कस्बे में हुए इस विकास कार्य से लगभग 3,000 आदिवासी लड़कों और लड़कियों को प्रत्यक्ष तौर पर रोजगार दिया है. इसके अलावा 10,000 लोगों को अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिला है. उन्होंने यह भी बताया कि इससे महिलाओं के लिए सूक्ष्म उद्यमिता के नए रास्ते भी खुले हैं.

सैकड़ों पशु-पक्षियों का बसेरा
स्टेच्यू ऑफ यूनिटी के नीचे नर्मदा नदी में सुख सुविधाओं से लैस क्रूज का संचालन होता है. 375 एकड़ में फैले पहाड़ी व वन क्षेत्र में जंगल सफारी है, जिसमें सैकड़ों पशु-पक्षियों का बसेरा है. इसी तरह अफ्रीका के तमाम पशुओं को रखा गया है. चिल्ड्रेन न्यूट्रिशन पार्क अत्याधुनिक संसाधनों और बच्चों के मनोविज्ञान की सोच से परिपूर्ण है. यहां 600 मीटर लंबाई की पटरियों पर दौड़ती न्यूट्री ट्रेन पांच थीम आधारित स्टेशनों पर रुकती है. फाइव डी वर्चुअल रियलिटी थिएटर बच्चों को खान पान से संबंधित जानकारी देकर बांधे रखता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज