अपना शहर चुनें

States

गणतंत्र दिवस पर किसानों की ट्रैक्‍टर रैली को निशाना बना सकते हैं ISI और खालिस्‍तानी: सूत्र

ट्रैक्‍टर रैली के लिए दिल्‍ली पहुंच रहे हैं किसान. (Pic- ANI)
ट्रैक्‍टर रैली के लिए दिल्‍ली पहुंच रहे हैं किसान. (Pic- ANI)

Farmers Tractor Rally: दिल्‍ली पुलिस ने इस खतरे के संबंध में रविवार को कहा था कि ट्विटर पर 300 से अधिक अकाउंट की पहचान की गई है. इनका ताल्‍लुक पाकिस्‍तान (Pakistan) से है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 25, 2021, 1:28 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. केंद्र सरकार की ओर से लाए गए 3 कृषि कानूनों (Farm Laws) का विरोध कर रहे किसानों ने गणतंत्र दिवस (Republic day 2021) पर ट्रैक्‍टर रैली (Farmers Tractor Rally) करने की घोषणा की हुई है. इसके लिए बड़ी संख्‍या में पंजाब-हरियाणा और दूसरे राज्‍यों से किसान दिल्‍ली की ओर कूच कर रहे हैं. इन सबके बीच पाकिस्‍तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई (ISI) और खालिस्‍तान (Khalistan) समर्थक प्रतिबंधित अलगाववादी समूह सिख फॉर जस्टिस किसानों की गणतंत्र दिवस पर होने वाली इस ट्रैक्‍टर रैली को हाइजैक करके उसको निशाना बनाने की फिराक में हैं.

एनडीटीवी की रिपोर्ट के अनुसार दिल्‍ली पुलिस के एक सूत्र ने कहा है कि इसकी बड़ी साजिश रची गई है. ऐसे में किसान संगठनों से गणतंत्र दिवस पर इन खतरों को देखते हुए सतर्क रहने की अपील की गई है. दिल्‍ली पुलिस ने इस खतरे के संबंध में रविवार को कहा था कि ट्विटर पर 300 से अधिक अकाउंट की पहचान की गई है. इनका ताल्‍लुक पाकिस्‍तान से है. इन्‍हें किसानों की ट्रैक्‍टर रैली को नुकसान पहुंचाने की साजिश के लिए बनाया गया है.

पूरे दिल्‍ली शहर के बिजलीघरों की भी सुरक्षा व्‍यवस्‍था बढ़ा दी गई है. सूत्रों का कहना है कि इन बिजलीघरों को निशाना बनाए जाने की आशंका है. सूत्रों ने इस संबंध में प्रतिबंधित अलगाववादी समूह सिख फॉर जस्टिस के एक वीडियो का हवाला भी दिया. दिल्ली पुलिस और अन्य सुरक्षा एजेंसियां ​​भी हाई अलर्ट पर हैं. पिछले साल केंद्र ने आतंकवाद विरोधी कानून - यूएपीए या गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) एक्‍ट के तहत संगठन पर प्रतिबंध को बरकरार रखा था. किसानों की ट्रैक्‍टर रैली के दौरान कट्टरपंथी अलगाववादी जरनैल सिंह भिंडरावाले के पोस्टर भी लहराये जाने की आशंकाएं हैं.

रविवार को इस संबंध में दिल्ली पुलिस की ओर से चेतावनी भी दी गई थी. विशेष पुलिस आयुक्त (खुफिया) दीपेंद्र पाठक ने कहा था, '13 से 18 जनवरी के दौरान पाकिस्तान से 300 से अधिक ट्विटर हैंडल बनाए गए हैं. जो लोगों को किसानों की ट्रैक्‍टर रैली के लिए भ्रमित करने का काम करते हैं. विभिन्न एजेंसियों से भी इस बारे में इनपुट मिला है. यह हमारे लिए एक चुनौतीपूर्ण कार्य होगा, लेकिन ट्रैक्‍टर रैली को गणतंत्र दिवस परेड खत्म होने के बाद कड़ी सुरक्षा के बीच आयोजित किया जाएगा.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज