अपना शहर चुनें

States

Farmers Protest: कैप्टन पर केजरीवाल का पलटवार, कहा- बेटे का ED केस बंद कराने के एवज में बेच दिया किसान आंदोलन

पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदरसिंह और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के बीच जुबानी जंग जारी है (PTI)
पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदरसिंह और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के बीच जुबानी जंग जारी है (PTI)

Farmers Protest: कैप्टन अमरिंदर सिंह (Amrindar Singh) ने केजरीवाल (Arvind Kejriwal) के उपवास को नौटंकी करार दिया था. सोमवार को केजरीवाल ने ट्विटर के जरिए पंजाब के सीएम को जवाब देते हुए उन पर अपने बेटे के प्रवर्तन निदेशालय का केस माफ करवाने के लिए केंद्र सरकार से सेटिंग करने का आरोप लगाया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 14, 2020, 12:59 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली/चंडीगढ़. केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों (New Agriculture Laws 2020) के खिलाफ किसानों के आंदोलन (Farmers Protest) का आज 19वां दिन है. दिल्ली के सभी एंट्री पॉइंट पर किसान नेता आज 9 घंटे की भूख हड़ताल पर बैठे हैं. आम आदमी पार्टी (AAP) ने भी किसानों के समर्थन में आज उपवास रखा है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal), उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, सत्येंद्र जैन, गोपाल राय और अन्य नेता दिल्ली पार्टी मुख्यालय में मंच पर उपवास पर बैठे हैं. इस बीच अरविंद केजरीवाल ने पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह (Amrindar Singh) के बयान का जवाब दिया है.

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने केजरीवाल के उपवास को नौटंकी करार दिया था. सोमवार को केजरीवाल ने ट्विटर के जरिए पंजाब के सीएम को जवाब देते हुए उनपर अपने बेटे के प्रवर्तन निदेशालय का केस माफ करवाने के लिए केंद्र सरकार से सेटिंग करने का आरोप लगाया है. केजरीवाल ने लिखा- 'कैप्टन जी, मैं शुरू से किसानों के साथ खड़ा हूं. दिल्ली के स्टेडियमों को जेल नहीं बनने दिया, केंद्र से लड़ा. मैं किसानों का सेवादार बनकर उनकी सेवा कर रहा हूं. आपने तो अपने बेटे के ED केस माफ़ करवाने के लिए केंद्र से सेटिंग कर ली, किसानों का आंदोलन बेच दिया? क्यों?'

kejriwal tweet
केजरीवाल के ट्वीट का स्क्रीनशॉट




बता दें कि अरविंद केजरीवाल शाम 4:00 बजे आईटीओ स्थित पार्टी ऑफिस पहुंचेंगे और फिर कार्यकर्ताओं के साथ उपवास खोलेंगे. उसके बाद कार्यकर्ताओं को संबोधित भी करेंगे.
10 सबसे बड़े जन-आंदोलन, जिन्होंने बदल डाली देश की तस्वीर

कैप्टन अमरिंदर ने क्या कहा था?
दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने रविवार को किसानों के समर्थन में एक दिन के उपवास की घोषणा की. केजरीवाल ने देश के नागरिकों से भी उपवास की अपील की है. वहीं, पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इसे लेकर केजरीवाल पर हमला बोला. कैप्टन ने केजरीवाल के उपवास को नाटक बताया है. उन्होंने केजरीवाल को चुनौती दी है कि वो अपनी सरकार का कोई एक कार्य बताएं जो किसानों के हित में उनकी सरकार ने किया हो. कैप्टन ने आरोप लगाया कि पिछले 17 दिन से दिल्ली शहर के बाहर बैठे प्रदर्शनकारी किसानों की मदद के लिए कुछ भी रचनात्मक करने की बजाय केजरीवाल और उनकी पार्टी राजनीति करने में व्यस्त हैं.

कैप्टन ने कहा- केजरीवाल को आता है मौके का फायदा उठाना
पंजाब के मुख्यमंत्री इतने पर ही नहीं रुके. उन्होंने सवालिया लहजे में केजरीवाल पर हमला बोलते हुए कहा कि किसान आपके शहर के बाहर सड़कों पर ठंड का सामना करते हुए अपने अधिकार के लिए लड़ रहे हैं और आप सोच रहे हैं कि मौके का कैसे फायदा उठाया जाए. क्या आपको कोई शर्म नहीं है? उन्होंने कहा कि केजरीवाल अपनी पार्टी के चुनावी एजेंडे को आगे बढ़ाने के लिए झूठे प्रचार का सहारा ले रहे हैं.

केजरीवाल किसानों के हमदर्द नहीं
कैप्टन अमरिंदर ने साफ कहा, 'केजरीवाल ने बार-बार यह साबित किया है कि वो किसानों के हमदर्द नहीं हैं. जब किसान कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए दिल्ली कूच करने की तैयारी कर रहे थे, तब 23 नवंबर को केजरीवाल सरकार बेशर्मी से इन काले कानूनों को अधिसूचित कर रही थी.' कैप्टन ने कहा कि कॉरपोरेट घरानों के टुकड़ों पर पनप रही केजरीवाल सरकार के उलट पंजाब सरकार ने न तो अडानी पावर के साथ कोई समझौता किया है और न ही राज्य में बिजली खरीद के लिए किसी के साथ बोली लगाई है.

किसान आंदोलन: BKU एकता उग्रहान के नेता आज नहीं करेंगे अनशन

ईडी ने अमरिंदर सिंह के बेटे को भेजा समन
बता दें कि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के बेटे रणिंदर सिंह को प्रवर्तन निदेशालय ने कथित अवैध विदेशी फंड मामले में समन भेजकर पेश होने को कहा है. रणिंदर सिंह को कथित तौर पर साल 2016 में भी विदेशी विनियमन प्रबंधन कानून (फेमा) के कथित उल्लंघन को लेकर बुलाया गया था. रणिंदर सिंह से उस समय फंड के स्विट्जरलैंड में फंड के मूवमेंट और ट्रस्ट बनाने से जुड़ी चीजों के बारे में पूछताछ की गई थी.

कथित उल्लंघन के बारे में इससे पहले आयकर विभाग की तरफ से जांच की गई थी और पंजाब में एक कोर्ट में केस दर्ज किया गया था. रविंदर सिंह ने इससे पहले कहा था कि उनके पास छिपाने के लिए कुछ भी नहीं है और वह जांच के लिए सहयोग करने को तैयार हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज